चिमटापानी जंगल में पुलिस की दबिश 9 जुआरी पकड़ाए

 

 


रायगढ़ । घरघोड़ा थाना प्रभारी प्रवीण कुमार मिंज के नेतृत्व में स्टाफ द्वारा चिमटापानी-फुटहामुड़ा जंगल में जुआ खेलने की सूचना पर जुआ रेड कार्रवाई की गई। जहां 9 जुआरियों को मौके पर जुआ खेलते पकड़ा गया ।

थाना प्रभारी घरघोड़ा को सूचना मिली थी कि झरियापाली निवासी शकरुद्दीन खान व उसके साथी जंगल में जुआ खेलने जाते हैं जिस पर कार्रवाई के लिए पिछले 7 दिनों से थाना प्रभारी घरघोड़ा स्टाफ व मुखबीर लगाकर रखे थे । मुखबिर द्वारा जुआरियों के जंगल अंदर जुआ फड में बैठे होने की सूचना दी गई। तत्काल थाना प्रभारी घरघोड़ा वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कर उनके मार्गदर्शन पर जुआ रेड कार्यवाही किया गया । जहां 9 जुआरियों को रंगे हाथ पकड़ा गया जिनके पास एवं जुआ फड से 2 लाख 60 हजार नकद, 11 मोबाइल तथा जुआ फड के सामने खड़ी 4 बाइक तथा ताश जब्ती कर थाना लाया गया । थाना घरघोड़ा में जुआरियों पर 13 जुआ एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है। मौके पर पकड़े गए जुआरी शकरुद्दीन खान निवासी झरियापाली घरघोड़ा, हरिशंकर जायसवाल निवासी लोधिया थाना खरसिया, सत्यनारायण राठिया नहरपाली खरसिया, ललित चौहान निवासी कुलीकुंडा लैलूंगा, तैयब खान पत्थलगांव जशपुर, अशफाक अहमद आमाटोली सीतापुर जिला सरगुजा, रामदास निवासी सूर थाना सीतापुर जिला सरगुजा, कुमार कमलेश साव निवासी पुरानी बस्ती पत्थलगांव जिला जशपुर, ज्ञानेश मुरीनिवासी वार्ड क्रमांक 1 लैलूंगा रायगढ़ शामिल है। 
30 लीटर शराब के साथ युवक गिरफ्तार

रायगढ़। उड़नदस्ता प्रभारी रंजीत गुप्ता की टीम ने पुसौर थाना क्षेत्र में दबिश देकर ग्रामीण के घर से 30 लीटर महुआ शराब रखने के जुर्म में जेल दाखिल किया । जिस पर कानूनी कार्रवाई के उपरांत आबकारी अधिनियम के तहत जेल भेजा गया है।

कलेक्टर रानू साहू के मार्गदर्शन में और सहायक आयुक्त आबकारी प्रकाश पाल के निर्देशन में अवैध महुआ शराब विक्रेताओं पर लगातार कार्रवाई आबकारी उड़नदस्ता टीम कर रही है।। जिसके कारण महुआ शराब विक्रेताओं में हड़कंप मचा हुआ है। वही पुसौर थाना क्षेत्र में गश्त के दौरान सहायक जिला आबकारी अधिकारी रंजीत गुप्ता को मुखबिर से सूचना प्राप्त हुई कि नवापारा निवासी नान्हु झरिया अपने घर से बड़ी मात्रा में अवैध महुआ शराब की बिक्री कर रहा है, मुखबीर की सूचना की विश्वसनीयता पर नान्हु झरिया के घर छापा में 30 लीटर महुआ शराब जब्त कर आबकारी अधिनियम की धारा 34(1)क 34(2)59(क)के तहत गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया जहां से न्यायालय ने जेल दाखिल का आदेश दिया।