छत्‍तीसगढ़ में भारी वर्षा से नदी नाले उफान पर: सुकमा में एनएच-30 जलमग्‍न,

 


जगदलपुर. पिछले करीब एक सप्ताह से बस्तर अंचल में हो रही वर्षा का सिलसिला जारी है। लगातार हो रही बारिश से बस्‍तर सहित राज्‍य के नदी-नाले उफान पर हैं। इधर, सुकमा में एनएच-30 कोंटा व चट्टी के बीच वीरापुरम के पास सड़क पूरी तरह से डूब गई। इससे छत्‍तीसगढ़ और आंध्रप्रदेश व तेलंगाना का संपर्क टूट गया है और आवगमन पूरी तरह से ठप है। इसकी वजह से ट्रक और बसों का लंबी कतार लग गई है।

मौसम विभाग ने रेड अलर्ट जारी किया है। आज भी बस्‍तर संभाग के कुल जिलाें में भारी वर्षा की संभावना है। भारी वर्षा से चिंतलनार के पास मुकरम नाले के उपर से पानी बहने लगा है। जिसके कारण आवागमन ठप हो गया लेकिन ग्रामीण जान जोखिम मे डालकर नाला पार करने लगे हैं। वहीं जिला प्रशासन भी अर्लट जारी कर दिया और सावधानी बरतने के निर्देश दिया है।

मंगलवार सुबह से ही वर्षा हो रही है। हालांकि मौसम विभाग ने रेड अर्लट जारी करते हुए भारी वर्षा के चेतावनी दी है। लगातार हो रही वर्षा के कारण नदी-नाले उफान पर है। गोदावरी नदी का जलस्तर बढ़ने के कारण शबरी नदी की गति धीमी हो गई है। और अगर इसी तरह वर्षा हुई तो नदी में बाढ़ की स्थिति निर्मित हो सकती है।

वहीं इसके अलावा जिले के और भी नदी उफान पर हैं। दोरनापाल-जगरगुड़ा के बीच चिंतलनार के पास स्थित मुकरम नाले पर भी सुबह से पानी पुल के उपर से बह रहा है। जिसके कारण आवागमन पूरी तरह ठप हो गया। हालांकि ग्रामीण जान जोखिम में डालकर नदी पार कर रहे हैं।

प्रशासन ने जारी किया अलर्ट

कलेक्टर हरिस एस ने नईदुनिया से चर्चा करते हुए बताया कि लगातार हो रही वर्षा के चलते नदी व नालों के किनारे स्थित गांवों में स्थानीय प्रशासन को अर्लट कर दिया गया। और चेतावनी दी गई अगर नदी-नालो में पानी ज्यादा है तो उसे पार ना करे। और बाढ़ से निपटने के लिए आवश्यक तैयारी कर ली गई।