हिंदुओं के पवित्र स्थल देवघर और दिल्ली के बीच सीधी उड़ान सेवा शुरू

 नई दिल्ली। 

असल बात न्यूज़।। 

हिंदुओं के पवित्र तीर्थ स्थल देवघर के लिए हवाई सेवाओं का लगातार विस्तार किया जा रहा है। अभी दिल्ली से देवघर के लिए सीधी उड़ान सेवा शुरू की गई है। इस नई उड़ान सेवा के शुरू हो जाने के साथ देवघर से आने जाने के लिए 11 हवाई सेवाये  हो जाएंगी। देवघर में विशाल हवाई अड्डे का निर्माण किया गया है जो कि झारखंड राज्य में रांची के बाद दूसरा बड़ा हवाई अड्डा है। नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य एम सिंधिया और नागरिक उड्डयन राज्यमंत्री डॉ वीके सिंह ने इस हवाई सेवा का उद्घाटन किया। यहां इस मार्ग पर इंडिगो अपनी हवाई सेवा प्रदान कर रही है।


एयरलाइन अपने ए320 नियो, 180-सीटर ट्विन टर्बोफैन इंजन यात्री विमान से से यहां अपनी हवाई सेवा प्रदान करेगी। ऐसे विमान का  मुख्य रूप से घरेलू मार्गों पर उपयोग किया जाता है। 

उद्घाटन समारोह में बोलते हुए, श्री ज्योतिरादित्य एम. सिंधिया ने कहा, “ देवघर में बाबा बैद्य नाथ धाम एक अंतरराष्ट्रीय धार्मिक विरासत है, और मुझे यह बताते हुए बहुत खुशी हो रही है कि  अयोध्या अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे, कुशीनगर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे और अब देवघर हवाई अड्डे जैसी जगहों पर प्रमुख विमानन बुनियादी ढांचे का निर्माण किया गया है।  वह दिन दूर नहीं जब नागरिक उड्डयन भारत में यात्रा का प्राथमिक स्रोत बन जाएगा। 12 तारीख कोजुलाई,  प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने घोषणा की कि देवघर दिल्ली से जुड़ जाएगा और आज यह सच हो रहा है। फ्लाइट की कप्तानी श्री राजीव प्रताप रूडी कर रहे हैं।”

हम झारखंड में 3 और हवाई अड्डों - बोकारो, जमशेदपुर और दुमका पर भी काम कर रहे हैं, जिससे झारखंड में कुल हवाई अड्डों की संख्या 5 हो गई है। हमने झारखंड को जोड़ने वाले 14 नए मार्गों की घोषणा की है, जिनमें से 2 मार्ग - देवघर-कोलकाता और दिल्ली-देवघर हैं। शुरू हुआ और आने वाले दिनों में हम देवघर को रांची और पटना से जोड़ देंगे। इसके साथ ही हम दुमका को रांची और कोलकाता से जोड़ेंगे। बोकारो हवाईअड्डा बनने के बाद पटना और कोलकाता से जुड़ जाएगा।

मंत्री ने आगे कहा, “ उड़ान योजना के तहत 425 मार्ग और 68 हवाई अड्डे, हेलीपोर्ट, वाटर ड्रम का संचालन किया गया है और 1 करोड़ से अधिक लोग, जिनमें ज्यादातर पहली बार यात्रा करने वाले लोग हैं, ने इसका लाभ उठाया है। इस योजना के तहत 1 लाख 90 हजार से अधिक उड़ानें भरी हैं। नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने पिछले 8 वर्षों में 66 हवाई अड्डों का निर्माण किया है जो वर्ष 2014 में 74 हवाई अड्डों पर था। हम 220 नए हवाई अड्डों के निर्माण की योजना बना रहे हैं जिसमें अगले 5 वर्षों में वाटर ड्रम और हेलीपोर्ट शामिल हैं।

नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री (जनरल) डॉ वीके सिंह (सेवानिवृत्त) ने कहा , " देवघर कोलकाता से ही जुड़ा था लेकिन अब यह सीधे दिल्ली से जुड़ जाएगा। इससे बाबा बैद्य नाथ धाम में आने वाले तीर्थयात्रियों की निर्बाध आवाजाही में मदद मिलेगी जिससे झारखंड में पर्यटन बढ़ेगा । 





एस.एन.

प्रस्थान

पहुचना

आवृत्ति

प्रस्थान (घंटे)

आगमन (घंटे)

1

दिल्ली

देवघर

रोज

13:00

14:45

2

देवघर

दिल्ली

रोज

15:15

17:15