कानूनगो की रोकी गई वेतनवृद्धि, पटवारी कार्यालय में किया ऋण पुस्तिका का वितरण, संभागायुक्त श्री कावरे ने डोंगरगांव तहसील के कार्यालय में दी दबिश, लंबित आवेदनो के कार्यवाही में तेजी लाने के दिए निर्देश

 दुर्ग,डोंगरगढ़ ।

असल बात न्यूज़।।

दुर्ग संभाग के आयुक्त महादेव कावरे लगातार विभिन्न कार्यालय में अचानक पहुंचकर कार्यालयीन गतिविधियों की वास्तविक स्थिति की जानकारी ले रहे हैं। इसी कड़ी में वे राजनांदगांव जिले के डोंगरगांव तहसील के अनुविभागीय अधिकारी कार्यालय डोंगरगांव, तहसील कार्यालय डोंगरगांव एवं पटवारी कार्यालय में आ जाना पहुंचे तथा वहां के कामकाज का औचक निरीक्षण किया।उन्होंने डोंगरगांव तहसील कार्यालय में कानूनगो शाखा में पंजियो के अवस्थित पाए जाने पर संबंधित कर्मचारी का वेतन वृद्धि रोकने का निर्देश दिया है।वहीं सभी शाखाओ में संबंधित कर्मचारी के नेम प्लेट टेबल पर नही पाए गए जिसपर उन्होंने, श्री नायक अनुविभागीय अधिकारी एवं श्री ध्रव तहसीलदार को सभी का नेम प्लेट 3 दिनों के भीतर रखने की व्यवस्था करने का निर्देश दिया है।

पंजीयोें के अद्यतन नही होन पर कर्मचारी की रोकी वेतनवृद्धि:-

निरीक्षण के दौरान सर्वप्रथम डोंगरगांव तहसील कार्यालय में निरीक्षण के दौरान श्री कावरे ने वहॉं उपस्थित ग्रामीणो एवं पक्षकारो से चर्चा की जिस दौरान वहा उपस्थित ग्राम बगदई के ग्रामीण श्री राजेन्दर सिंह ने बताया गया कि उनके द्वारा फर्द बंटवारा का आवेदन प्रस्तुत किया गया है, जिस पर श्री कावरे ने वहां उपस्थित तहसीलदार श्री कोमल धुव को तत्काल कार्यवाही किए जाने हेतु निर्देशित किया। कार्यालय में शाखाओं के निरीक्षण के दौरान श्री कावरे ने डब्ल्यू.बी.एन शाखा मे संधारित होने वाली पंजीयो ंबी-4, बी-7, पी-2, वर्गीकरण पंजी का अवलोकन किया, जिसमें विविध राजस्व की वसूली होना शेष पाया गया एवं पजियो का अद्यतन नही होना पाया गया जिस पर श्री कावरे द्वारा नाराजगी व्यक्त की गई एवं संबंधित कर्मचारी श्रीमती बिलकीस खान को 15 दिवस के भीतर इसे पूर्ण करने के निर्देशित किया गया। इसी प्रकार कानूनगो शाखा में संधारित किए जा रहे पंजियो का निरीक्षण किया जिसमें पटेली पंजी, सर्किल नोटबुक के लंबे समय से अद्यतन नही पाए जाने साथ ही अभिलेखो के अव्यवस्थित रख-रखाव पर संभागायुक्त द्वारा संबंधित कर्मचारी श्री शरद जोशी के वेतन वृद्धि रोके जाने के निर्देश दिए।  

लोक सेवा गारंटी अंतर्गत लंबित आवेदनो का त्वरित करे निराकरण:-

श्री कावरे ने तहसील डोंगरगांव में लोक सेवा गारंटी अंतर्गत 2798 लंबित आवेदन होने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त की एवं वहां उपस्थित संबंधित अधिकारी श्री कोमल ध्रुव तहसीलदार डोंगरगांव को एवं श्री अशोक सिंह राजपूत नायब तहसीलदार को फटकार लगाते हुए इस पर तत्काल कार्यवाही करने के निर्देश दिए। इसी प्रकार न्यायालय तहसीलदार में 260 प्रकरण एवं न्यायालय नायब तहसीलदार तुमड़ीबोड में 127 प्रकरण लबित पाया गया जिस पर संभागायुक्त ने पुराने प्रकरणो को प्राथमिकता के आधार पर त्वरित निराकरण हेतु निर्देशित किया एवं प्रकरणों में सुनवाई पूर्ण हो चुके आवेदनो में आदेश पत्र जारी करने के निर्देश दिए। 

लोक सेवा केन्द्र डोंगरगांव का किया निरीक्षण:- 

संभागायुक्त ने लोक सेवा केन्द्र डोंगरगांव में दर्ज आवेदनो के अवलोकन के दौरान ड्रायविंग लायसेंस के लंबित आवेदन पर तत्काल कार्यवाही करने के निर्देश दिए साथ ही उपस्थित अधिकारियो को निर्देशित किया कि सभी आवेदनो का निराकरण किसी भी परिस्थिति में समय सीमा के भीतर ही कर लिया जावे। 

पटवारी कार्यालय में किया ऋण पुस्तिका का वितरण:-

संभागायुक्त श्री कावरे ने डोंगरगांव तहसील के पटवारी हल्का नं 23 एवं 24 का भी निरीक्षण किया जिस दौरान वहां उपस्थित ग्राम सेवताटोला के ग्रामीण श्री कमल द्वारा अवगत कराया गया कि उनके द्वारा ऋण पुस्तिका में रिकार्ड अद्यतीकरण का आवेदन प्रस्तुत किया गया है जिस पर तत्काल अद्यतीकरण उपरांत संभागायुक्त द्वारा आवेदक को ऋण पुस्तिका प्रदान की गई। 

अधिवक्ताओं से की चर्चा:- 

संभागायुक्त द्वारा डोंगरगांव तहसील के अधिवक्ताओं भेंट कर न्यायालयीन प्रक्रियाओं के निराकरण के संबंध में चर्चा की, इस पर उपस्थित अधिवक्ता सतीश कुमार पाण्डेय, श्री प्रवीण चन्द्रवंशी, श्री ओम प्रकाश पाठक एवं महेन्द्र सिंह ठाकुर व शफीर अहमद खान ने न्यायालय के कार्यप्रणाली पर संतुष्टता व्यक्त की एवं परिसर में बैठक व्यवस्था एवं पेयजल की मांग रखी जिस पर श्री कावरे ने लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अधिकारी एवं मुख्य नगर पालिका अधिकारी को इस संबंध में तत्काल कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया।