श्रीमती द्रौपदी मुर्मू भारत की 16 वीं राष्ट्रपति निर्वाचित, पूरे देश भर से दी जा रही हैं बधाईयां एवं शुभकामनाएं

 नई दिल्ली।

असल बात न्यूज़।।

श्रीमती द्रौपदी मुर्मू देश की सोलहवीं राष्ट्रपति चुन ली गई हैं। उनको इस पद पर निर्वाचित होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित देश भर के तमाम राजनेताओं, जनप्रतिनिधियों और आम नागरिकों ने बधाई और शुभकामनाएं दी हैं।  संसद भवन में राष्ट्रपति चुनाव के लिए वोटों की गिनती सुबह 11 बजे से शुरू हो गई थी। जिसमें पहले राउंड की गिनती से ही द्रौपदी मुर्मू काफी आगे चल रही थी। इस राउंड में द्रौपदी मुर्म को 540 वोट मिले हैं, वहीं उनके प्रतिद्वंद्वी यशवंत सिन्हा को सिर्फ 208 मत प्राप्त हुए थे।  द्रोपदी मुर्मू के निवास पर उत्सव के जैसा नजारा दिख रहा है।


पहले विधायकों, फिर सांसदों के मतों की  गिनती

 राष्ट्रपति चुनाव के लिए 18 जुलाई को मत डाले गए थे। आज सुबह संसद भवन में  वोटों की गिनती शुरू पर सबसे पहले विधायकों के मतों की गिनती शुरू हुई, इसके बाद सांसदों के वोटों की गिनती की गई।  रिटर्निंग ऑफिसर राज्यसभा के महासचिव पीसी मोदी वोटों की जांच की गई। नियम के मुताबिक सांसदों के मतपत्र में हरे रंग के पेन से और विधायकों के मतपत्र में गुलाबी रंग के पेन से प्राथमिकता लिखे जाने का काम किया गया। मतगणना रूम में मुर्मू और सिन्हा के नाम से एक-एक ट्रे रखी थी, जिसमे उनकी प्राथमिकता वाला बैलेट पेपर उनकी ट्रे में रखा जाएगा।

16 सांसदों ने नहीं किया था वोट

चुनाव आयोग ने बताया है कि 18 जुलाई को मतदान में 99 फीसदी से ज्यादा मतदाताओं ने वोट डाला था। भाजपा सांसद सनी देओल और संजय धोत्रे समेत 8 सांसदों ने वोट नहीं डाला था। सनी देओल इलाज के लिए विदेश गए हैं, जबकि संजय धोत्रे ICU में भर्ती थे। भाजपा और शिवसेना के दो-दो सांसद और बसपा, कांग्रेस, सपा और एआईएमआईएम के 1-1 सांसद भी मतदान से चूक गए।

चुनाव आयोग ने जानकारी दी है कि छत्तीसगढ़, गोवा, गुजरात, हिमाचल प्रदेश, केरल, कर्नाटक, एमपी, मणिपुर, सिक्किम, तमिलनाडु और पुडुचेरी में राष्ट्रपति चुनाव में शत-प्रतिशत मतदान हुआ। 

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने श्रीमती  द्रौपदी मुर्मू भारत के राष्ट्रपति चुने जाने पर को बधाई दी है।

ट्वीट्स की एक श्रृंखला में, प्रधान मंत्री ने कहा;

"भारत इतिहास लिखता है। ऐसे समय में जब 1.3 अरब भारतीय आजादी का अमृत महोत्सव मना रहे हैं, पूर्वी भारत के एक दूरस्थ हिस्से में पैदा हुए आदिवासी समुदाय से आने वाली भारत की बेटी को हमारा राष्ट्रपति चुना गया है! 

श्रीमती जी को बधाई इस उपलब्धि पर द्रौपदी मुर्मू जी।"

"श्रीमती द्रौपदी मुर्मू जी का जीवन, उनके शुरुआती संघर्ष, उनकी समृद्ध सेवा और उनकी अनुकरणीय सफलता प्रत्येक भारतीय को प्रेरित करती है। वह हमारे नागरिकों, विशेष रूप से गरीब, हाशिए पर और दलितों के लिए आशा की किरण के रूप में उभरी हैं।"

"श्रीमती द्रौपदी मुर्मू जी एक उत्कृष्ट विधायक और मंत्री रही हैं। झारखंड के राज्यपाल के रूप में उनका उत्कृष्ट कार्यकाल रहा है। मुझे यकीन है कि वह एक उत्कृष्ट राष्ट्रपति होंगी जो सामने से नेतृत्व करेंगी और भारत की विकास यात्रा को मजबूत करेंगी।"

"मैं उन सभी सांसदों और विधायकों को धन्यवाद देना चाहता हूं जिन्होंने श्रीमती द्रौपदी मुर्मू जी की उम्मीदवारी का समर्थन किया है। उनकी रिकॉर्ड जीत हमारे लोकतंत्र के लिए अच्छी है।" 


केंद्रीय गृह और सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह ने श्रीमती को बधाई दी। द्रौपदी मुर्मू ने राष्ट्रपति चुनाव में अपनी ऐतिहासिक जीत पर और देश के सर्वोच्च पद के लिए उनके चुनाव के ऐतिहासिक अवसर पर आज नई दिल्ली में उनसे मुलाकात की।

 

 

अपने ट्वीट में, श्री अमित शाह ने कहा कि राष्ट्र, विशेष रूप से आदिवासी समाज बहुत खुश है और राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए उम्मीदवार, श्रीमती द्रौपदी मुर्मू की भारी जीत का उत्साहपूर्वक जश्न मनाया जा रहा है। एक आम आदिवासी परिवार से ताल्लुक रखने वाली द्रौपदी मुर्मू का राष्ट्रपति निर्वाचित होना, देश के लिए गर्व का क्षण है। मेरी ओर से उसे ढेर सारी शुभकामनाएं। यह जीत अंत्योदय के संकल्प को साकार करने और आदिवासी समाज के सशक्तिकरण की दिशा में मील का पत्थर है।