पिकअप पलटने से 14 ग्रामीण घायल

 


अंबिकापुर। सरगुजा जिले के उदयपुर विकासखण्ड अंतर्गत ग्राम पंडरीपानी में पिकअप हादसा हुआ है। पिकअप के पलटने से एक दर्जन से अधिक लोग घायल हुए हैं। इनमें से 11 लोगों को प्राथमिक उपचार के बाद उदयपुर अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।तीन लोगों को अस्पताल में भर्ती किया गया है। सोमवार देर रात हुए हादसे की सूचना मिलते ही क्षेत्रीय विधायक व स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव की पहल पर चिकित्सक और स्वास्थ्य कर्मियों की सजगता से सभी मरीजों को त्वरित चिकित्सा सुविधा उपलब्ध हो सकी। जिन घायलों को सामान्य चोटें थी, उन्हें स्वास्थ्य विभाग के वाहन से ही घर तक सुरक्षित छोड़ा गया। गीले खेत में पिकअप पलटी थी जिस कारण ज्यादातर घायलों को गंभीर चोट नहीं आई अन्यथा जनहानि भी हो सकती थी। 
जानकारी के अनुसार सभी लोग शोक कार्यक्रम से ग्राम पंडरीडांड से वापस अपने गांव खोंधला लौट रहे थे। इसी दौरान पिकअप चालक का सामने से आ रही कार को बचाने के चक्कर में वाहन पर से नियंत्रण हट गया और पंडरीपानी बस्ती में सूरजपुर रोड में अनियंत्रित होकर खेत मे पलट गई। पिकअपवाहन में 30 से अधिक लोग सवार थे। पिकअप वाहन के पलटते ही वहां चीख-पुकार मच गई। पीछे से दूसरे वाहन में आ रहे लोगों ने घटना की सूचना डायल 112 एवं संजीवनी 108 की टीम को दी। इधर गांव के उपसरपंच जगदीश जयसवाल ने सीधे स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव को मोबाइल से घटना की जानकारी दी।हादसे की सूचना मिलते ही स्वास्थ्य मंत्री सिंह देव ने उदयपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सकों कर्मचारियों को घायलों के समुचित उपचार के लिए सारी व्यवस्थाएं सुनिश्चित कर रखने का निर्देश जारी किया।संजीवनी 108 के टीएमटी शक्ति प्रताप एवं पायलट कृष्णा के नेतृत्व में तत्काल घटनास्थल पहुंचकर दो बार में 12 घायलों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र उदयपुर पहुंचाया वहीं 112 की टीम ने दो घायलों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया।
घायलों का उपचार डा प्रेमा कुजूर के नेतृत्व में किया गया। समय पर अस्पताल पहुंचने एवं त्वरित उपचार मिलने से घायलों को काफी राहत मिली।घटना की सूचना पर ग्राम खोंधला के उप सरपंच जगदीश जायसवाल मौके पर पहुंचे तथा लोगों की मदद की। घायलों में पिकअप चालक गुलाब भी शामिल है, इसके पैर में चोटें आई हैं वही मानमती का हाथ टूटा हुआ है इसके अतिरिक्त सुमारी, हिरमेन, सोनकेल, बीफइया, अनिता, सुखमनिया, पालापति रमुनिया इंद्रकुंवर, धनेश्वरी, सहोदरी को भी हाथ पैर व कमर में चोट आई है। यह सभी ग्राम खोंधला के रहने वाले है।वाहन के कीचड़ युक्त खेत में पलटने से जनहानि नहीं हुई है । 
मालवाहक पिकअप में भेड़ बकरियों की तरह लोगों को भरकर ढोने का सिलसिला उदयपुर थाना क्षेत्र में काफी लंबे समय से चल रहा है इस ओर शासन प्रशासन को ध्यान दिए जाने की आवश्यकता है। बताया जा रहा है कि स्वास्थ्य मंत्री के निर्देश पर मामूली रूप से घायलों को घर तक छोड़ने के लिए भी स्वास्थ्य विभाग द्वारा वाहन की व्यवस्था उपलब्ध कराई गई। देर रात उदयपुर एसडीएम अनिकेत साहू भी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे। दुर्घटना के कारणों की जानकारी ली घायलों के उपचार व्यवस्था का जायजा लिया ।