मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का भेंट मुलाकात अभियान शीघ्र ही बालोद, दुर्ग, राजनांदगांव व कवर्धा जिले में, संभागआयुक्त दुर्ग महादेव कावरे ने की तैयारी की समीक्षा


बालोद ।

असल बात न्यूज़।। 

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का भेंट मुलाकात अभियान शीघ्र ही दुख संभाग में शुरू होने जा रहा है। इस दौरान वे बालोद जिले में भी पहुंचेंगे। संभाग आयुक्त दुर्ग महादेव कावरे ने आज बालोद जिले में पहुंचकर वहां मुख्यमंत्री के कार्यक्रमो की तैयारियों का जायजा लिया।

संभागायुक्त श्री महादेव कावरे ने  संयुक्त जिला कार्यालय के सभाकक्ष में जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक लेकर मुख्यमंत्री भेंट-मुलाकात कार्यक्रम के तैयारियों की विस्तृत समीक्षा की। उन्होंने सभी जिला स्तरीय अधिकारियों को जिले में प्रस्तावित मुख्यमंत्री भेंट-मुलाकात कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु सभी तैयारियाॅ सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। 

संभागायुक्त श्री कावरे ने वर्षा ऋतु में मुख्यमंत्री भेंट-मुलाकात कार्यक्रम के आयोजन को देखते हुए इसके अनुरूप तैयारी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने बारी-बारी से सभी विभागों के तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने सभी विभाग प्रमुखों को अपने अधिनस्थ कार्यालयों को व्यवस्थित कराने के निर्देश भी दिए। श्री कावरे ने स्कूलों में कार्यरत् रसोईयों के मानदेय भुगतान, विद्युत विभाग की समस्याओं के निराकरण, किसानों को समुचित मात्रा में खाद-बीज की उपलब्धता सुनिश्चित कराने तथा गोधन न्याय योजना आदि के कार्यों की विस्तृत समीक्षा की। इसके अलावा उन्होंने गौठानों को मल्टीएक्टिविटी सेंटर बनाने हेतु किए जा रहे कार्य, नरवा योजना, मुख्यमंत्री हाट-बाजार क्लीनिक योजना आदि सभी विभागों के कार्यों की समीक्षा करते हुए सभी तैयारियाॅ सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

बैठक में कलेक्टर डाॅ. गौरव कुमार सिंह, पुलिस अधीक्षक श्री जितेन्द्र कुमार यादव, जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी डाॅ. रेणुका श्रीवास्तव सहित जिले के सभी राजस्व अनुविभागीय अधिकारी एवं जिला स्तरीय अधिकारीगण उपस्थित थे।

बैठक में कलेक्टर डाॅ. गौरव कुमार सिंह ने जिले में गौठानों के सफल क्रियान्वयन हेतु प्रत्येक जिला स्तरीय अधिकारियों को 05-05 गौठानों की देखरेख की जिम्मेदारी सौंपने के निर्देश भी दिए। उन्होंने खुले बोर के कारण घटित होने वाले अप्रिय स्थिति को रोकने के लिए जिले के सभी राजस्व अनुविभागीय अधिकारियों एवं लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अधिकारियों को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि जिले के किसी भी स्थान में खुला बोर नहीं होना चाहिए। उन्होंने एक भी स्थान पर खुला बोर पाए जाने पर संबंधित अधिकारियों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की चेतावनी भी दी।

संभागायुक्त श्री  कावरे ने  अपने बालोद प्रवास के दौरान संयुक्त जिला कार्यालय भवन के जनदर्शन कक्ष का अवलोकन कर व्यवस्थाओं का जायजा भी लिया। श्री कावरे ने कलेक्टर डाॅ. गौरव कुमार सिंह के निर्देशानुसार आमजनता की मांगों एवम समस्याओं के त्वरित निराकरण हेतु सप्ताह के सभी पाॅचों कार्यदिवसों में जनदर्शन के आयोजन करने तथा जिला प्रशासन द्वारा नये स्वरूप में प्रारंभ किए गए इस जनदर्शन कार्यक्रम की भूरी-भूरी प्रशंसा की। 

संभागायुक्त श्री  कावरे ने वहीं  बालोद विकासखण्ड के ग्राम हीरापुर में पैराआर्ट का प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले प्रशिक्षणार्थियों से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने प्रशिक्षणार्थियों द्वारा तैयार किए गए पैराआर्ट का अवलोकन कर उनका उत्साहवर्धन किया। उन्होंने कहा कि पैराआर्ट से अब जीवन में उन्हें आय का एक माध्यम मिल गया है। पैराआर्ट से उन्हें अब नई पहचान मिलेगी। कलेक्टर डाॅ. गौरव कुमार सिंह ने कहा कि जिले में विशेषकर ग्रामीण महिलाओं का कौशल विकास कर विभिन्न स्वरोजगारमूलक गतिविधियों में संलग्न करने हेतु जिला प्रशासन द्वारा सतत् प्रशिक्षण कार्यक्रम आदि का संचालन किया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि जिला प्रशासन द्वारा हस्तशिल्प कला को प्रोत्साहित करने हेतु ग्राम हीरापुर में 20 प्रशिक्षणार्थियों को पैरा आर्ट का 15 दिवस का प्रशिक्षण प्रदान किया गया। प्रशिक्षण में उन्हें विभिन्न महापुरूषांे आदि की जीवंत प्रतिमाओं का निर्माण अद्भूत हूनर से करना सिखाया गया है। प्रशिक्षण पश्चात् प्रशिक्षणार्थियों द्वारा विभिन्न प्रकार के आर्ट तैयार किया गया।