सीसीएम में ओपीडी शुरू कर रही सरकार, पूर्व कर्मियों पर ध्यान नहीं

 


जामुल। चंदुलाल चंद्राकर मेमोरियल मेडिकल कालेज कचान्दुर (सीसीएम) के सामने रविवार को पूर्व कर्मचारियों ने बैठक की। इनका कहना था कि उन्हें नियुक्ति देने के मुद्दे पर संरकार गंभीर नहीं है।

ऐसे में 101 पूर्व कर्मचारियों एवं उनके स्वजनों के सामने दो जून की रोटी की समस्या बन गई है। सरकार के इस रवैये को देखते हुए अब उग्र कदम उठाने के अलावा कोई विकल्प नहीं है।

सीसीएम के पूर्व कर्मचारियों ने कहा कि एक झटके में उन्हें काम पर से हटा दिया गया।

मुख्यमंत्री से मिलने बीते नौ माह में सैकड़ों बार प्रयास किया गया लेकिन तुलाकात नहीं हो सकी। अब आठ दिनों का पड़ाव यात्रा निकालने का निर्णय लिया गया है। इसके तहत 25 जून को कुरुद में पड़ाव रहेगा, 26 जून को जामुल में, 27 जून को छावनी, इस तरह 30 जून को रात्रि में पावर हाउस पहुंचेंगे।

इस दौरान सरकार स्वास्थ कर्मचारियों से सार्थक बातचीत करे व तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी में सीधी भर्ती हो। जिसमें सभी 101 पूर्व कर्मचारियों को नौकरी मिल सके। 30 जून तक सार्थक पहल नहीं होने पर उग्र आंदोलन होगा। पड़ाव यात्रा में कर्मचारियो के पूरा स्वजन भी शामिल होंगे। बैठक में मुख्य रुप से अनीता, सुनीता, राजकुमारी, गायत्री, हुबलाल, विनोद, विकास, धनुष सुमित, देवराज, रूचि, के देवी, दिव्या, भारती, लोमेश, किरण, महेंद्र, कलादास डेहरीया सहित अन्य मौजूद रहे।