महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों का सामने आया खेल

 


संदीप तिवारी। रायपुर। राज्य के महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों की ओर से किया गया एक नए तरह का खेल सामने आया है। अधिकारियों ने करीब 400 करोड़ रुपये की सरकारी राशि सरकारी बैंक से निकालकर निजी बैंकों में जमा कर दी है। इसके एवज में बैंकों से पांच गाड़ियों समेत कुछ अन्य सुविधाओं का सौदा हुआ है। दो डिजायर गाड़ियां विभाग को मिल भी गई हैं। अब जब यह चर्चा गर्म हो गई है तो अधिकारी लीपापोती करते हुए दान में मिलीं गाड़ियों को लौटाने की बात कह रहे हैं।

जानकारी के अनुसार समेकित बाल विकास योजना (आइसीडीएस) के तहत बच्चों के उचित मानसिक, शारीरिक और सामाजिक विकास के लिए केंद्र सरकार राशि भेजती है। यह राशि आंगनबाड़ी भवनों, बच्चों के टीकाकरण, स्वास्थ्य जांच, पूरक पोषण आहार, बच्चों की अनौपचारिक शिक्षा आदि पर खर्च की जाती है। विभागीय अधिकारियों ने केंद्र प्रवर्तित योजनाओं की इस राशि को निजी बैंकों में जमा कर दिया है।