झाड़ियों में ट्रांसफार्मर, कठिनाई से सुधारते हैं कर्मी

 

भिलाई. भिलाई इस्पात संयंत्र की टाउनशिप में बिजली सप्लाई का काम नगर सेवाएं विभाग के जिम्मे है। टाउनशिप के 35,000 से अधिक आवासों में निर्बाध रूप से बिजली सप्लाई के लिए बीएसपी द्वारा प्रत्येक सेक्टर में जगह-जगह स्टेप डाउन ट्रांसफार्मर लगाए गए हैं।

यह ट्रांसफार्मर जहां बिजली को घरेलू उपयोग के लिए उपयुक्त वोल्टेज में बदलने का काम करते है। नगर सेवाएं विभाग की अनदेखी के कारण ट्रांसफार्मर के चारों तरफ झाड़ियां और घास उग आई है तथा कर्मचारियों को इनके बीच से ही मरम्मत के कार्य के लिए जाना होता है।

ऐसे में जहरीले सांप सहित अन्य जीव जंतु का खतरा बना रहता है। वहीं कर्मचारी भी अंधेरे में काम करने से हिचकिचाते है। जिसके चलते कई बार टाउनशिप वासियों को पूरी रात बिना बिजली के काटनी पड़ती है।

आसपास गंदगी की भरमारःबिजली सप्लाई के लिए बने ट्रांसफार्मर के आसपास मकानों के रहवासी बचे हुए खाना और गंदगी को भी फेंक रहे हैं। जिससे ट्रांसफार्मर के आसपास आवारा कुत्ते और जानवरों का जमावड़ा बना रहता है। कई बार तो यह ट्रांसफार्मर क्षेत्र के भीतर तक पहुंच जाते हैं। वहीं गाय और आवारा पशुओं की आपस की लड़ाई भी रहवासियों और कर्मियों के लिए मुश्किल पैदा करते हैं।

अतिक्रमण भी खतरनाकः बिजली सुरक्षित कार्यप्रणाली के तहत ट्रांसफार्मर के आसपास की जगह खुली और साफ-सुथरी होनी चाहिए इसके विपरीत सेक्टर-10, सिविक सेंटर, सेक्टर- 6 और अन्य स्थानों में ट्रांसफार्मर से चिपका कर दुकानों का निर्माण किया गया है।

जिससे ट्रांसफार्मर में खराबी के चलते होने वाले विस्फोट से बड़ी आगजनी की घटना घटित हो सकती है।

तेज हवा पानी और बिजली गुलः भिलाई इस्पात संयंत्र की टाउनशिप के घरों में सप्लाई होने वाली बिजली व्यवस्था इस कदर खराब हो चुकी है कि जरा सी तेज हवा और पानी में सबसे पहले बिजली गुल हो जाती है।