आकाशीय बिजली की चपेट में आने से मुंगेली और जीपीएम में तीन की मौत

 


मुंगेली. मुंगेली और जीपीएम(गौरेला-पेंड्रा-मरवाही) जिले में रविवार की सुबह गाज गिरने से तीन लोगों की मौत हो गई है। मुुंगेली के ठकुरीकापा युवक और गौरेला-पेंड्रा-मरवाही के बिजरवार में दो महिला की मौत हुई। मुंगेली के ठकुरीकापा निवासी सुखदेव खांडे रविवार की सुबह पांच बजे अपने खेत मे निंदाई करने गए थे।

कुछ देर बाद बारिश शुरू हो गई। सुखदेव भीगते हुए ही खेत में काम कर रहे थे। करीब छह बजे अचानक आकाशीय बिजली उसके ऊपर गिर गई। इससे सुखदेव की मौके पर ही मौत हो गई। आसपास काम कर रहे ग्रामीणों ने घटना की जानकारी मृतक के परिवार वालों और सरपंच लिकेश्वर सोनकर को दी। सरपंच ने घटना की सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव का पंचनामा किया। पीएम के बाद शव वजन को सौंप दिया गया है।

वहीं दूसरी घटना गौरेला-पेंड्रा-मरवाही के गौरेला थाना के बिजरवार गांव की है। गांव की सोमवती और ललिता मार्को महुआ फल बिनने के लिए जंगल गई हुई थीं। लौटते समय बारिश शुरू हुई। दोनों गांव के पास पहुंची थीं कि तभी गाज उनके ऊपर गिर गई। दोनों की मौके पर ही मौत हो गई। इसकी सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस ने पंचनामा के बाद शव पीएम के भेजा। पीएम कराने के बाद शव स्वजन को सौंप दिया गया है।

आंधी तूफान से 20 घरों में छाया अंधेरा

गुड़ी । सीपत क्षेत्र के हिंडाडीह में आंधी के कारण ट्रांसफार्मर में आग लगने से खराबी आ गई है। इससे 20 घरों में अंधेरा छा गया है। हादसे से कई लोग बाल-बाल बचे थे। बिजली गुल होने के चार दिन बीत जाने के बाद ट्रांसफार्मर बदला नहीं जा सका है। लोगों ने बताया कि विद्युत वितरण कंपनी अपनी व्यवस्थाओं को दुरुस्त नहीं कर पा रही है। इससे लोग परेशाान रहते हैं। कभी बिजली की शार्ट सर्किट, कभी आकाशीय बिजली तो कभी जर्जर तार से विद्युत आपूर्ति खराब रहने की खामियाजा उपभोक्ताओं को भुगतना पड़ता है। इस संबंध में ग्राम पंचायत हिंडाडीह के सरपंच जितेंद्र लास्कर ने बताया कि ट्रांसफार्मर खराब होने की शिकायत सीपत विद्युत केंद्र में दर्ज कराई गई है। बिजली गुल होने के कारण सभी लोगों को भारी समस्या हो रही है। इसके बाद उनकी समस्याएं दूर नहीं हो रही है। इसके कारण लोगों में आक्रोश व्याप्त है।