जिला अस्पताल से दुष्कर्म का विचाराधीन बंदी फरार

 


जांजगीर चांपा । जिला जेल खोखरा जांजगीर में दुष्कर्म के आरोपित की तबीयत बिगड़ी तो उसे उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। यहां के सामान्य वार्ड से वह फरार हो गया। जेल प्रबंधन ने सुरक्षा में तैनात प्रहरी को निलंबित कर दिया है।
मुलमुला थाना क्षेत्र के एक मामले में धारा 363 ,366, 376 और पाक्सो एक्ट के तहत दर्ज अपराध में तोरवा बिलासपुर निवासी दुर्गा प्रसाद साहू जिला जेल में बंद था। मंगलवार को उसे सीने में दर्द हुआ तो उपचार के लिए जिला अस्पताल लाया गया। अस्पताल के सामान्य वार्ड में उसका उपचार चल रहा था। रात लगभग 12बजे वह पानी पीने के बहाने वार्ड से बाहर निकला और फरार हो गया। सुरक्षा में तैनात प्रहरी ने आसपास पतासाजी की इसके बाद जब वह नहीं मिला तो इसकी सूचना जेलर को दी गई। प्रहरी की लापरवाही से यह घटना हुई है। जेलर ने सुबह एक टीम गठित कर उसके घर सहित अन्य ठिकानों में उसकी तलाश कराई मगर कोई पता नहीं चल सका है। उल्लेखनीय है कि पूर्व में भी एक बार बंदी जिला अस्पताल से उपचार करा कर वापस जेल चला गया था। दूसरी बार जब वह अस्पताल में भर्ती हुआ तो प्रहरी को चकमा देकर फरार हो गया ।इस संबंध में जेलर डीडी टोंनडर का कहना है कि बंदी की तलाश की जा रही है। उसकी सुरक्षा में तैनात प्रहरी सोनू राम साहू को निलंबित कर दिया गया है, पुलिस को भी इसकी सूचना दी गई है।
 
अस्पताल में नहीं बंदी वार्ड

जिला अस्पताल में अब तक कैदियों के उपचार के लिए बंदी वार्ड नहीं बनाया गया है इसके चलते कैदी या तो सामान्य वार्ड में भर्ती किए जाते हैं या उन्हें पेइंग वार्ड में भर्ती किया जाता है। अन्य मरीजों के लिए भी यह खतरा हो सकता है जिला अस्पताल में पर्याप्त जगह होने के बाद भी बंदी वार्ड नहीं बनाया जाना प्रशासन की लापरवाही है।