मास्टरमाइंड पर योगी सरकार का एक्शन, हयात जफर के करीबी के घर चला बुलडोजर

  


 कानपुर में जुमे की नमाज के बाद भड़की हिंसा के मुख्य आरोपी हयात जफर के खिलाफ शनिवार को प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई की. नगर निगम की टीम ने हयात के करीबी की अवैध इमारत पर बुलडोजर चलाकर उसे ध्वस्त कर दिया है. नगर निगम का कहना है कि नक्शे से ज्यादा निर्माण होने के कारण ये कार्रवाई की गई है.

कानपुर हिंसा के मुख्य आरोपी हयात जफर हाशमी के करीबी मोहम्मद इश्तियाक की अवैध बिलडिंग पर बुलडोजर से ध्वस्तीकरण की कार्रवाई की गई है. इस दौरान नगर निगम की टीम के साथ बड़ी संख्या में पुलिस बल के अधिकारी और आरएएफ के जवान भी मौके पर मौजूद रहे. मिली जानकारी के अनुसार, इस अवैध बिल्डिंग पर कार्रवाई के आदेश पहले ही दिए जा चुके थे, ऐसे में अब हिंसा के बाद इस कार्रवाई को अंजाम दिया गया है.

इधर, कानपुर उपद्रव के बाद 10 जून को एक बार फिर जुमे की नमाज के बाद यूपी में हिंसक प्रदर्शन हुए. इस दौरान प्रयागराज, सहारनपुर, मुरादाबाद और हाथरस समेत कई इलाकों में पत्थरबाजी और आगजनी देखने को मिली. इस दौरान शांति-व्यवस्था कायम रखने के लिए तैनात पुलिसकर्मियों को भी काफी चोटें आई हैं. ऐसे में अब सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वाले प्रदर्शनकारियों के खिलाफ बड़े एक्शन की तैयारी है. ADG, लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार के अनुसार, उपद्रवियों को चिन्हिंत कर गैंगस्टर एक्ट लगाने की तैयारी है.

प्रदेश में हिंसक घटनाओं को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी असामाजिक तत्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं. इन घटनाओं में पुलिस ने अबतक सहारनपुर से 45, प्रयागराज से 68, हाथरस से 20, अंबेडकरनगर से 23, मुरादाबाद से सात और फिरोजाबाद से चार असामाजिक तत्वों को गिरफ्तार किया है. पूरे प्रदेश की बात करें तो यूपी में अब तक कुल 227 लोगों की गिरफ्तारी हुई है.