आश्वासन के चार माह बाद भी दूर नहीं हुईं समस्याएं, भड़के ग्रामीण

 


मैनपुर। उदंती सीतानदी टाइगर रिजर्व बफर जोन परिक्षेत्र तौरेंगा के ग्राम कोकड़ी में गुरुवार को राजापड़ाव क्षेत्र के सैकड़ों ग्रामीणों की आवश्यक बैठक हुई। जिसमें क्षेत्र भर के सैकड़ों लोगों की उपस्थिति में विभिन्ना बिंदुओं पर सर्वसम्मति से चर्चा करते हुए प्रस्ताव पारित किया गया।

पूर्व में राजापड़ाव क्षेत्र वासियों द्वारा अपने मूलभूत समस्याओं को लेकर सैद्घांतिक तरीके से आंदोलन करते हुए रायपुर देवभोग पक्की सड़क मार्ग राजापड़ाव के समीप सड़क जाम किए जाने का निर्णय को जिले के जिलाधीश व प्रशासनिक अधिकारियों की समझाइश के बाद आपसी रजामंदी से क्षेत्रवासी अपने अपने घर वापस लौट गए थे। मगर महीनों बीतने के बाद भी अभी तक मूलभूत समस्याओं पर निराकरण की दिशा में कोई ठोस पहल प्रशासन द्वारा नहीं किया जा रहा है जिसके कारण क्षेत्रवासियों में भारी आक्रोश देखा जा रहा है। इस दौरान ग्रामीणों ने चर्चा में बताया कि शिक्षा, शुद्घ पेयजल, सिंचाई, बिजली, पुल पुलिया सहित लंबित वनाधिकार दावा फार्म पर कोई काम नहीं हो पा रहा है उल्टा वन विभाग के द्वारा निर्माण कार्यों पर रोक लगा दिया जाता है। जंगल के संरक्षण, संवर्धन के साथ ही लंबित वन अधिकार दावा फार्म पर सकारात्मक पहल के लिए क्षेत्रवासी गंभीर हैं। बरसात के दिनों में कब्जाधारी किसान वन भूमि पर खेती के लिए ट्रैक्टर, हल चलाए कि नहीं असमंजस की स्थिति बनी हुई है। क्षेत्र के मूलभूत समस्याओं को लेकर एक बार फिर क्षेत्रवासी संघर्ष करने का मन बना रहे हैं। जिसके लिए विशेष करके वन विभाग तौरेंगा परिक्षेत्र के अधिकारी व कर्मचारियों को 11 जून को पुनः ग्राम कोकड़ी में विशाल बैठक किसान संघर्ष समिति के तत्वावधान में आयोजित होगी वहां पर आपसी परिचर्चा के साथ ही सकारात्मक बातचीत के लिए न्योता दिए जाने की बात कही गई है।

किसान संघर्ष समिति राजापड़ाव क्षेत्र का पुनर्गठन : बैठक के दौरान सैकड़ों क्षेत्रवासियों द्वारा किसान संघर्ष समिति के अध्यक्ष के रूप में दैनिक राम मंडावी कोकड़ी, उपाध्यक्ष विक्रम सिंह नेताम शुक्लाभांठा, सचिव गोपाल राम मरकाम कोकड़ी, कोषाध्यक्ष निरंजन नेताम गेदराबेड़ा, सह सचिव नथेला राम मरकाम मौहानाला, सदस्य श्रीराम मरकाम शुक्लाभांटा, धनराज मरकाम छिन्दभर्री, शंकरलाल नेताम डोंगरीपारा, हरिचंद मंडावी गौरगांव, कैलाश राम सोरी कुसुम मुड़ा, सुखदेव नेताम जरहीडीह, श्यामा कुमार मरकाम कोकड़ी, रायधर यादव भीमाटीकरा, भारत नेताम शोभा, हीरालाल नेताम भाँटापानी, सुकडू राम ओटी ईचरादी, साधु राम नेताम लाटा पारा, तिलक 

राम मरकाम कोदो माली, दशरथ मरकाम मोतीपानी, लक्ष्मण नेताम बोरईडीह, पुनीत मरकाम खरताबेड़ा, शांतू राम नेताम नयापारा, रामलाल सोरी गरहाडीह, शिवप्रसाद मरकाम तेंदूछापर, महेशराम डोंगरे जरहीडीह, रतिराम कुंजाम झोलाराव, राज कुमार मरकाम धोबनडीह, दुर्गेश नेताम मोंगराडीह को सर्वसम्मति से मनोनीत किया गया है। जिनके नेतृत्व में अब किसान संघर्ष समिति राजापड़ाव क्षेत्र की बैठक, प्रशासनिक पत्राचार सहित क्षेत्र के लिए विकास मूलक कार्यों पर कार्य संपादित होंगे।