हाईवा का हाइड्रोलिक सिस्टम अचानक चालू हो गया और ऐसी बड़ी दुर्घटना हो गई

 

बड़ा हादसा, जेके लक्ष्मी सीमेंट का प्रोडक्शन प्रभावित होने की आशंका

अहिवारा, दुर्ग ।

असल बात न्यूज़।।  

          00 मौके से रिपोर्ट

अत्याधुनिक मशीनों का सिस्टम गड़बड़ा जाने से कैसी दुर्घटना हो सकती है ? आज यह यहां देखने को मिला। रोड पर चल रही  हाईवा का हाइड्रोलिक सिस्टम अचानक चालू हो गया और उसका पीछे का डाला काफी ऊपर उठ गया, जिससे  अहिवारा विधानसभा क्षेत्र में आज बड़ी दुर्घटना हो गई। इस हाईवा के डाले की चपेट में आ जाने से जेके लक्ष्मी सीमेंट कंपनी की विद्युत लाइन पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई। 

इस दुर्घटना में कोई जनशक्ति तो नहीं हुई है लेकिन माल का बड़ा नुकसान हुआ है। दुर्घटना मामूली तरीके से हुई। बताया जाता है कि हाईवा का हाइड्रोलिक सिस्टम जैक अचानक काम करने लगा और उसका पीछे का डाला, ऊपर उठ गया, जिससे वह सड़क के ऊपर से पार होने वाले विद्युत तार के चपेट में आ गया। इससे वहां जेके लक्ष्मी सीमेंट कंपनी के प्लांट से माइंस की ओर जाने वाली विद्युत लाइन पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई है। बताया जाता है कि गाड़ी की चपेट में विद्युत तार और केबल्स आ गया है इसका हाईवा के ड्राइवर को पता ही नहीं चला और वह काफी दूर तक उन केबल्स को खींचता चला गया। केबल्स के काफी दूर तक खिंचे चले जाने से बिजली के कई खंभे उखड़ गए हैं। इससे इस क्षेत्र तथा आसपास के गांव में बिजली व्यवस्था पूरी तरह से ठप पड़ गई है। जेके लक्ष्मी सीमेंट को भी बड़ा नुकसान होने का पता चला है और इससे बताया जा रहा है कि उसकी पावर सप्लाई ठप पड़ गई है। घटना के बाद से जेके लक्ष्मी सीमेंट प्रबंधन में हड़कंप मच गया है तथा व्यवस्था को कैसे सुचारु रुप से चालू किया जाए इसके लिए प्रयास किए जा रहे हैं। 

यह घटना अहिवारा से पेंड्रीटराई, बेरला जाने वाले मार्ग पर हुई है। इसी मार्ग के किनारे पर जेके लक्ष्मी सीमेंट का संयंत्र भी स्थित है। उल्लेखनीय है कि यह अत्यंत व्यस्ततम मार्ग है। इस क्षेत्र में बड़ी संख्या में गिट्टी खदान भी हैं। जिसकी वजह से इस मार्ग पर गिट्टी लेकर चलने वाले डंपर, हाइवा, ट्रक बड़ी संख्या में  हर मिनट चलते हैं। सीमेंट लोड गाड़ियां भी बड़ी संख्या में चलती हैं। आज क्षेत्र में कुछ देर तक हल्की बूंदाबांदी हुई है उसके बाद  धूप निकल आई है। मौसम सामान्य बना हुआ है। मौसम सामान्य होने से से यह उम्मीद की जा रही है कि पूरी व्यवस्था को सुचारू बनाने के काम शीघ्र पूरे कर लिए जाएंगे। इस तरह की दुर्घटना से जेके लक्ष्मी सीमेंट कंपनी प्रबंधन भौचक्क है। 

घटना के बाद उक्त हाईवा कुछ दूर जाने के बाद रुक गया। बताया जाता है कि जेके लक्ष्मी सीमेंट के इस हादसे की चपेट में आने वाले केबल अत्यंत मोटे  हैं जो कि इतनी दूर खिसकने के बाद  तथा भारी दबाव के बावजूद भी टूटे नहीं और हाईवा जैसी भारी गाड़ी भी उसे अधिक आगे खींच नहीं सकी। प्रत्यक्षदर्शियों का यह भी कहना है कि यह केबल वही मोटे पेड़ में भी फंस गए, जिससे और अधिक नुकसान नहीं हुआ। वरना और कई सारे बिजली खंभे उखड़ सकते थे। अभी तक 7 से अधिक बिजली खंभों के ऊखड़े जाने की जानकारी मिली है।