93 साल की उम्र में बिजनेस टाइकून पलोनजी मिस्त्री का निधन

 

 शापूरजी पलोनजी समूह के अध्यक्ष और अरबपति उद्योगपति पलोनजी मिस्त्री (पल्लोनजी मिस्त्री या Pallonji Mistry) का मुंबई में निधन हो गया। वह 93 वर्ष के थे। Pallonji Mistry को भारत के सबसे पुराने अरबपति के नाम से जाना जाता है। आज इंजीनियरिंग एंड कंस्ट्रक्शन, इंफ्रास्ट्रक्चर, रियल एस्टेट, वाटर, एनर्जी और फाइनेंशियल सर्विसेज में शापूरजी पल्लोनजी ग्रुप की मौजूदगी है। कंपनी 50 देशों में एंड-टू-एंड समाधान प्रदान करता है। 50,000 से अधिक कर्मचारी समूह से जुड़े हैं। इस साल की शुरुआत में शापूरजी पल्लोनजी ग्रुप ने यूरेका फोर्ब्स लेबल के तहत अपने कंज्यूमर ड्यूरेबल्स बिजनेस को अमेरिकी प्राइवेट इक्विटी फंड एडवेंट इंटरनेशनल को बेच दिया था। यूरेका फोर्ब्स एक्वागार्ड और फोर्ब्स जैसे ब्रांडों के साथ काम करती है।

पालोनजी मिस्त्री (Pallonji Mistry) के बारे में कहा जाता है कि वे दुनिया के सबसे गुमनाम अरबपति हैं। उनके पास करीब 10 अरब डॉलर (55,000 करोड़ रुपए) की संपदा है, लेकिन उन्हें शायद ही कभी किसी सार्वजनिक जगह पर देखा या सुना गया। भारत के सबसे सफल और ताकतवर बिजनेसैमन में से एक Pallonji Mistry के नियंत्रण में ऐसा कंस्ट्रक्शन साम्राज्‍य है जो भारत, पश्चिम एशिया और अफ्रीका तक फैला है।

अपने बेटों के साथ मिलकर Pallonji Mistry की टाटा संस में भी 18.5 फीसदी हिस्सेदारी थी। टाटा संस 100 अरब डॉलर (5,50,000 करोड़ रु.) के टाटा समूह की होल्डिंग कंपनी है। Pallonji Mistry को टाटा समूह के मुंबई स्थित मुख्यालय बॉम्बे हाउस में फैंटम के नाम से जाना जाता है।

Pallonji Mistry ने आयरिश महिला से शादी रचाई थी और इसके बाद आयरलैंड की नागरिकता भी हासिल कर ली थी, लेकिन उनका ज्‍यादातर समय मुंबई के वाकव्श्वर स्थित बंगले में ही बीता। साल 2012 में फोर्ब्स ने उनके पास 9.7 अरब डॉलर (53,350 करोड़ रु.) की संपदा होने का अनुमान लगाया था।