मध्य क्षेत्र में 80% कम बारिश, छत्तीसगढ़ राज्य में आज भी ज्यादातर स्थानों पर दिनभर धूप निकले रहने की संभावना

 रायपुर, दुर्ग, बिलासपुर।

असल बात न्यूज़।। 

            00  मौसम रिपोर्ट 


इस साल अब तक मानसून की कहीं अच्छी बारिश नहीं हुई है। आषाढ़ के दिन बीत रहे हैं लेकिन जमीन सूखी पड़ी है, नदी तालाब सूखे से पड़े हैं। बीच में थोड़ी सी बारिश हुई है इससे वातावरण में नमी आई है, ठंडक पैदा हुई है जिससे लोगों को गर्मी से कुछ राहत मिली है। खेती किसानी की दृष्टि से देखा जाए तो अभी तक जो बारिश हुई है, उतना पानी कतई पर्याप्त नहीं है। जिन किसानों ने खेतों में बोर करा लिया है उन्हें परेशानी नहीं है लेकिन 80% से अधिक ऐसे किसान हैं ,जिनके खेतों में बोर नहीं है और उनकी खेती  मानसून की वर्षा पर ही निर्भर है, मौसम के ताजा हालात से उनकी चिंता बढ़ती जा रही है। राज्य में आज भी दिन भर धूप निकले रहने का अनुमान व्यक्त किया गया है। ऐसे में कहीं-कहीं छिटपुट बारिश होने के सिवा कहीं भारी बारिश होने की संभावना नहीं है। 

देश में समय ज्यादातर स्थानों में मानसून की अच्छी बारिश शुरू हो जाती है। मध्य क्षेत्र में तो इस दौरान 17% से अधिक बारिश हो जाती है और बिछड़ के क्षेत्रों में यह 32 सेंटीमीटर से अधिक  हो जाती है। लेकिन इस साल अभी तक मानसून का जैसा रुख बना हुआ है देश के मध्य क्षेत्रों में 80% से कम बारिश हुई है। इससे समझा जा सकता है कि मानसून के वर्षा की कितनी कमजोर स्थिति है। वैसे इस सब चीज के लिए हम लोग ही सबसे अधिक जिम्मेदार हैं क्योंकि हम लोगों ने ही अपने स्वार्थ के लिए, अपने लालच के लिए सभी जगह पेड़ पौधों को सफाचट कर दिया है। जंगलों पर कब्जा कर लिया है। वन क्षेत्रों में घर बनाते जा रहे हैं, आबादी बढ़ाते जा रहे हैं। हम लोगों ने एक जगह अपने स्वार्थ की पूर्ति कर ली है तो प्रकृति, हमारा कितना साथ देगी। प्रकृति भी विवश नजर आ रही है और बारिश कम हो रही है। 

देश के दक्षिण के इलाकों में आषाढ़ के महीने में जून महीने तक 50% से अधिक बारिश हो जाती है। लेकिन इस साल यहां, ऐसे हालात है कि यहां 30% तक भी बारिश नहीं हुई है। ईस्ट नॉर्थ वेस्ट क्षेत्रों में 70% तक बारिश हो जाती है। यह बात क्षेत्र है जहां मानसून की कुछ अच्छी बारिश हुई है। इन इलाकों में 60% तक बारिश हो गई है। नार्थ वेस्ट के क्षेत्रों में तो 2% तक भी बारिश नहीं हुई है जबकि इस समय तक 15% तक बारिश हो जाती है। मध्य क्षेत्र में भी इस समय तक 25% तक बारिश हो जाती है लेकिन इन क्षेत्रों में भी 3% से भी अधिक बारिश नहीं हुई है। इस रसद देश के हर इलाके में इस साल मानसून की अपेक्षाकृत काफी कम बारिश हुई है। सामान्य बारिश की तुलना में काफी कमजोर बारिश है। इससे खेती किसानी के बिछड़ने का डर बन गया है। आने वाले दिनों में भी बारिश के लिए अच्छे संकेत नहीं मिल रहे हैं।

छत्तीसगढ़ राज्य में भी आज भी ज्यादातर स्थानों पर दिनभर धूप निकलने की संभावना है। सुबह से जिस तरह से धूप निकल रही है हालांकि वातावरण में ठंडक बनी हुई है लेकिन लोगों का सिर घूम जा रहा है। प्री मानसून बारिश भी कुछ इलाकों को छोड़कर कहीं जोरदार नहीं हुई है।


असल बात न्यूज़

सबसे तेज, सबसे विश्वसनीय 

 पल-पल की खबरों के साथ अपने आसपास की खबरों के लिए हम से जुड़े रहे , यहां एक क्लिक से हमसे जुड़ सकते हैं आप

https://chat.whatsapp.com/KeDmh31JN8oExuONg4QT8E

...............

................................

...............................

असल बात न्यूज़

खबरों की तह तक, सबसे सटीक , सबसे विश्वसनीय

सबसे तेज खबर, सबसे पहले आप तक

मानवीय मूल्यों के लिए समर्पित पत्रकारिता