महाराष्ट्र में फ्लोर टेस्ट होगा या नहीं, सुप्रीम कार्ट शाम 5 बजे करेगा सुनवाई

 


 महाराष्ट्र का सियासी घमासान तेज हो गया है। अब तक का सबसे बड़ा घटनाक्रम यह है कि विधानसभा का विशेष सत्र बुलाकर फ्लोर टेस्ट कराने का राज्यपाल के आदेश सही है या नहीं, इस पर सुप्रीम कोर्ट आज शाम 5 बजे सुनवाई करेगा। इसके बाद ही फ्लोर टेस्ट को लेकर स्थिति स्पष्ट होगी। इससे पहले राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने उद्धव सरकार को बहुमत साबित करे के लिए कह दिया। राजभवन की ओर से लिखी गई चिट्ठी के मुताबिक, 30 जून को विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया जाए। यह सत्र 11 बजे से शुरू होगा और शाम 5 बजे तक इसे खत्म करने होगा। राजभवन ने विधानभवन की सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त करने के आदेश दिए गए हैं। पूरी कार्रवाई का लाइव प्रसारण किया जाएगा। हालांकि महाविकास आघाड़ी सरकार ने इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाने का फैसला किया।

शाम तक गोवा आ जाएंगे बागी विधायक

गुवाहाटी में बैठे एकनाथ शिंदे समर्थक विधायकों को गोवा लाया जा रहा है। स्पेशल फ्लाइट से ये गोवा आएंगे और होटल ताज में ठहरेंगे। इसके बाद मुंबई लाया जाएगा। इनकी सुरक्षा का विशेष बंदोबस्त किया जा रहा है। वहीं भाजपा ने भी अपने सभी विधायकों को आज शाम तक मुंबई की होटल ताज में जुटने के लिए कहा है।

उद्धव के 2 विधायक जेल में, 2 को हुआ कोरोना

उद्धव समर्थक 4 मंत्री विधानसभा सत्र में हिस्सा नहीं ले पाएंगे। ये हैं अनिल परब, नवाब मलिक, छगन भुजबल और अजित पवार। अनिल परब और नवाब मलिक अलग- अलग मामलों में जेल में हैं। छगन भुजबल और अजित पवार को कोरोना हुआ है।

राज्यपाल से मिले थे देवेंद्र फडणवीस

इससे पहले बीती रात दिल्ली से लौटकर भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस सीधे राजभवन पहुंचे और राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिले। फडणवीस के साथ अन्य भाजपा नेता भी थे। सभी ने मांग की कि उद्धव सरकार अल्पमत में है इसके लिए 30 जून को महाराष्ट्र विधानसभा का विशेष सत्र बुलाकर फ्लोर टेस्ट (Floor Test) करवाया जाए। अब राज्यपाल ने इस मांग को मान लिया है। खबर यह भी है कि भाजपा के इस कदम के बाद अब गुवाहाटी में बैठे बागी विधायक मुंबई लौट सकते हैं। उनकी सुरक्षा चुनौती होगी। दूसरी ओर महाविकास अघाड़ी सरकार के पास विकल्प है कि फ्लोर टेस्ट के आदेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाए।

शिंदे ने 50 विधायकों के समर्थन का किया दावा

गुवाहाटी में जमे विद्रोही गुट के नेता एकनाथ शिंदे ने 50 विधायकों के समर्थन का दावा किया है। शिंदे ने कहा कि वे लोग जल्द ही मुंबई लौटेंगे और बालासाहब ठाकरे की विरासत को आगे ले जाएंगे। उन्होंने कहा कि विधायकों में कोई मतभेद नहीं है। सभी अपनी मर्जी से उनके साथ आए हैं, और खुश हैं।

शिंदे के समर्थन पर ठाणे के दो नेता पार्टी से निकाले गए

एकनाथ शिंदे का समर्थन करने पर ठाणे में शिवसेना के दो नेताओं को पार्टी से निकाल दिया गया है। इनमें ठाणे की पूर्व मेयर व शिवसेना की जिला समन्वयक मीनाक्षी शिंदे और एक अन्य पूर्व मेयर नरेश महास्के शामिल हैं। शिवेसना की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि पार्टी अध्यक्ष उद्धव ठाकरे के निर्देश पर यह कार्रवाई की गई है।