स्वामी श्री स्वरूपानद सरस्वती महाविद्यालय के छात्रों को 15 दिवसीय क्लीनिकल पैथोलॉजी ट्रेनिंग

 

भिलाई ।

असल बात न्यूज़।।

स्वरूपानंद महाविद्यालय के बॉयोटेक्नोलॉजी एवं माइक्रोबॉयोलॉजी विभाग के एम.एस.सी. द्वितीय सेमेस्टर की छात्राओं ने श्री शंकराचार्य इंस्टीट्यूट मेंडिकल साइंस जुनवानी में 15 दिवसीय ट्रेनिंग कोर्स सफलता पूर्वक सम्पन्न किया। ट्रेनिंग में उन्होंने सैम्पल कलेक्शन, कलचर टेस्ट, युरिन, पस, ब्लड, स्इल, स्पूटम टेस्ट सीखा। सेरीवोस्पाइनल फ्लूइड टेस्ट  की विस्तार पूर्वक विधि सीखी। सीरोलॉजी और वायरोलॉजी की तकनीकों में विद्यार्थी पारंगत हुये। 

डॉ. शिवानी विभागाध्यक्ष बॉयोटेक्नोलॉजी ने बनाया कि बायोटेक्नोलॉजी  विद्यार्थियों ने क्लीनिकल पैथौलॉजी में सिक्लीग टेस्ट, लीवर फंक्शन टेस्ट, ऐलाईजा, विडालटेस्ट एवं नीडल एक्सीपिरेशन,  साइटोलॉजी तकनीक के बारे में जानकारी प्राप्त की। इस टेªनिंग प्रोग्राम से विद्यार्थी  क्लीनिकल फिजिकल, फॉरेसीक  एवं ऐनाटामिक के क्षेत्र में अपना कैरियर बना सकते हैे। 

प्रीति वर्मा, हिर्ती वर्मा, नीधि चौरसिया, दर्शना गजभियें, मोनिका मेडिया ने बताया की लैंब में वे यूरिन, ब्लड, विडाल, एलाइजा आदि टेस्ट करने के तरीको के बारे में सिखाया गया जिससे भविष्य में इस तकनीक को सिख कर रिसर्च फील्ड में भी अपना कैरियर बना सकते है। 

डॉ.शमा ए. बैग  विभागाध्यक्ष माइक्रोबॉयोलॉजी विभाग ने बताया कि इस क्षेत्र में कैरियर के लिए विद्यार्थी को माइक्रोबॉयोलॉजी के बेसिक व एप्लाइड पहलुओं और लैबोरेट्री टेक्निक्स में विशेष कुशलताओं से स्किल्ड होना चाहिए।  माइक्रा्रेबियल पैथोलॉजी एंड वायरोलॉजी में छात्रों के भविष्य को ध्यान में रखते हुये इस ट्रेनिग प्रोग्राम हेतु प्रोत्साहित किया गया ।  इससे छात्राओं में आत्मविश्वास बढ़ा और आगे इस फील्ड में अनेक स्कोप के लिये मार्ग दर्शिका मिली। 

सपना सरकार, सृष्टिी सोनी, रानू यादव, सुमन नायक, रूपाली साहू, प्रगति साहू ने बताया कि उन्होंने पैथोलॉजी एवं वायरालॉजी लैब में सीरोजलॉजिकल विधियॉं का विस्तार पूर्वक अध्ययन एवं प्रशिक्षण प्राप्त किया । जिससे उन्हें भविष्य में लाभ होगा। 

महाविद्यालय के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. दीपक शर्मा एवं प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने कहा कि इस तरह ट्रेनिंग प्रोग्राम से विद्यार्थियों को विषय का व्यावहारिक ज्ञान होता है उन्होने विधार्थियों को सफलतापूर्वक ट्रेनिग प्रोग्राम पूरा करने पर बधाई दी।