राजधानी में दो करोड़ 12 लाख की धोखाधड़ी, अकाउंटेंट ने पत्नी और रिश्तेदार के खाते में डाले पैसे

 


रायपुर। राजधानी रायपुर में एक फार्म के अकाउंटेंड ने अपने मालिक को करोड़ों का चुना लगा दिया। उसने बड़े ही शातिर तरीके से तीन साल में दो करोड़ 12 लाख 69,342 रुपये की चपत लगाई। तेलीबांधा थाना पुलिस ने आरोपित विकाश सिंह के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। आरोपित को फरार है।

तेलीबांधा थाना पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार पीडि़त सुनील कुमार अग्रवाल ने थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाई। पीडि़त की जाेरा िस्थत एलएलपी फर्म नाम से कार्यालय है। जो कंस्ट्रक्शन का देखती है। आरोपित विकाश सिंह कई वर्षों से फर्म में अकांटेंट का काम कर रहा था। एक जनवरी 2019 से 15 मई 2022 तक आरोपित ने अपने खाते में, पत्नी और रिश्तेदारों के खाते पैसे ट्रांसफर किए। 

हिसाब में गड़बड़ी पर मामला आया सामने :

मिली जानकारी के अनुसार पीडि़त सुनील कुमार अग्रवाल को पता चला कि फर्म में जमा हुए पैसे के हिसाब में गड़बड़ी हुई है। उनके द्वारा पता लगवाया तो जानकारी सामने आई कि अकाउंटेंड विकाश सिंह ने फर्म के पैसे अपने व्यक्तिगत उपयोग के लिए अलग-अलग खाते में डालवा दिए।