प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के प्रीमियम की दर बढ़ी, देश भर में करोड़ों हितग्राही उठा रहे हैं लाभ

 

एक जून 2022 से लागू होगी प्रीमियम की नई दर

की प्रीमियम दरों में पहली बार संशोधन,  पहले 2015 में दोनों योजनाओं की शुरुआत के 
7 साल के  बाद से प्रीमियम दरों में पहला संशोधन

नई दिल्ली, छत्तीसगढ़।
असल बात न्यूज़।। 
00  विशेष रिपोर्ट

 प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (पीएमजेजेबीवाई) और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना (पीएमएसबीवाई) के प्रीमियम की दरों में सरकार द्वारा अब परिवर्तन कर दिया गया है।पीएमजेजेबीवाई के प्रीमियम की राशि अब 330 से रु. बढ़ाकर 436 रुपए कर दी गई है तो वही पीएमएसबीवाई का प्रीमियम 12 से रु . 20 रुपए कर दिया गया है।इस तरह से दोनों योजनाओं के प्रीमियम की राशि अब प्रतिदिन 1.25 हो गई है। प्रीमियम की यह संशोधित दर आज 1 जून  से लागू हो जाएगी।

 विभाग के द्वारा कहा गया है कि लंबे समय से चले आ रहे प्रतिकूल दावों के अनुभव को देखते हुए, और उन्हें आर्थिक रूप से व्यवहार्य बनाने के लिए, योजनाओं के प्रीमियम की नई दरें निर्धारित की गई हैं। .पीएमजेजेबीवाई और पीएमएसबीवाई के तहत नामांकित सक्रिय ग्राहकों की संख्या पिछले वित्त वर्ष के दौरान तक क्रमशः 6.4 करोड़ और 22 करोड़ तक पहुंच गई  है।  पीएमएसबीवाई के तहत पिछले मार्च महीने तक 2,513 करोड़ का भुगतान किया जा चुका है। इसके अलावा,कार्यान्वयन बीमाकर्ताओं द्वारा प्रीमियम और रुपये के दावों के लिए 9,737 करोड़ रुपये एकत्र की गई  हैं।31.03.2022 तक पीएमजेजेबीवाई के तहत 14,144 करोड़ का भुगतान किया जा चुका है। दोनों योजनाओं के तहत दावा डीबीटी के माध्यम से लाभार्थियों के बैंक खाते में जमा करा दिया गया है।

COVID के दौरान इन योजनाओं के माध्यम से हितग्राहियों को लाभ दिलाने के लिए  प्रक्रियाओं को सरल बनाने और दावों में तेजी लाने के लिए कई उपाय किए गए, जिसमें बैंकों से आउटरीच कार्यक्रम और दावा प्रपत्र और मृत्यु के प्रमाण और भी बहुत कुछ के संदेश शामिल हैं, जो COVID के दौरान मरने वाले लोगों के लाभार्थियों तक पहुंचने के लिए सरल हैं। ।

योजनाओं की शुरुआत के बाद से पिछले सात वर्षों में प्रीमियम दरों में कोई संशोधन नहीं किया गया था।वर्ष 2015 में योजनाओं के शुभारंभ के समय से ही  प्रीमियम राशि की  (प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के लिए 12/- रुपये और प्रधानमंत्री जीवन ज्योति के लिए 330/- रुपये) की राशि निर्धारित की गई थी जिसमें पहली बार फेरबदल किया गया है।

 अगले पांच वर्षों में पीएमजेजेबीवाई के तहत कवरेज को 6.4 करोड़ से बढ़ाकर 15 करोड़ और पीएमएसबीवाई के तहत 22 करोड़ से 37 करोड़ करने का लक्ष्य रखा गया है। सामाजिक सुरक्षा के लिए इन दो प्रमुख योजनाओं के माध्यम से पात्र आबादी को कवर करने के प्रयास किए जा रहे हैं।