ज्वेलर्स को ही ठगी का शिकार बनाने वाले पकड़े गए, दुर्ग शहर में ठगी करने के पहले रायपुर और बिलासपुर में भी ज्वेलर्स को ठगी का शिकार बनाया

 

दुर्ग, भिलाई।

असल बात न्यूज़।। 

          00  क्राइम रिपोर्टर

 नकली सोना देकर,असली सोना की ठगी करने वाले अर्न्तराज्यीय गिरोह के लोगों को पुलिस ने पकड़ने में सफलता हासिल की है। आरोपियों ने आम लोगों को नहीं, ज्वेलर्स को  ठगी का शिकार बनाया। ज्वेलर्स की पारखी नजरे भी जब नकली सोना की पहचान नहीं कर सके, तो समझा जा सकता है कि यह आरोप 21 साल से साथ रहना तरीके से इन वारदातों को अंजाम दे रहे थे। आरोपियों ने दर्ग शहर में ही एक नहीं दो दो ज्वेलर्स को अपनी ठगी का शिकार बनाया। यह आरोपी दुर्ग शहर में एक लॉज में ठहरे हुए थे। इस कृत्य में महिलाएं भी शामिल थी जिन्हें भी पकड़ लिया गया है। आरोपियों के पास से लाखों रुपए के सोने के जेवरात तथा कागजात जब्त किए गए हैं। सोना, चांदी, हीरे, जवाहरात को पहचानने के काम में ज्वेलर्स की नजरों को पारखी माना जाता है लेकिन उक्त आरोपियों ने ऐसा जादू चलाया, ऐसी ठगी की कि ज्वेलर्स की नजरें भी धोखा खा गई और वे, देखते रहकर ठगी का शिकार बन गए। उनके सामने से असली सोना ले लिया गया और उन्हें नकली सोना थमा दिया गया।

 यह तो अक्सर सुना जाता है कि ज्वेलर्स के द्वारा 24 कैरेट के पुराने सोने अथवा सोने के जेवरात को 23 कैरेट का बताकर वापस लिया गया तथा ग्राहक को कम पैसा दिया गया, अथवा जेवरात, मिलावटी बनाकर बेचा जा रहा है। उस ज्वेलर्स की तुलना में अमुक ज्वेलर्स की चीजें की क्वालिटी ज्यादा अच्छी होती है, ऐसे भी चर्चाएं बाजार में चलती रहती है  लेकिन कोई, ज्वेलर्स को ही चुना लगा जाए, ऐसा कम होते सुना गया है।  पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार पकड़े गए आरोपियों की यह जोड़ी बण्टी , बबली के जैसे काम कर रही थी। आरोपी दो दिन पहले 17 जून को सहेली  ज्वेलर्स दुकान पर पहुंची तथा उनमें से एक महिला सुनिता देवी ने  सोने का टाप्स दिखाने को कहा ।  महिला को जो सोने का टाप्स दिखाया गया वह उसे पसंद आ गया । सहेली ज्वेलर्स के मोहित जैन ने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई है कि महिला ने पुराने सोने के जेवर देकर सोने का नया जेवर बदली कर लिया । महिला जेवर एवं बिल लेकर चली गयी ।  महिला व्दारा दिये गये पुराने जेवर को सुनार से चेक कराया तो वह सोना नकली निकला ।

 इसी तरह दिनांक 16.6.2022 को महावीर ज्वेलर्स में भी किसी महिला ने पुराने जेवर की दुकान में बदली कर नया जेवर ले जाया गया था , महिला व्दारा दिये गये पुराने सोने के जेवर नकली पाये गये । स्थानीय पुलिस के द्वारा इस मामले में धारा 420 , 34 भादवि कायम कर विवेचना में की जा रहे थी । विवेचना के दौरान सीसीटीवी फूटेज एवं दुर्ग के लगभग सभी लॉजों को चेक किया गया । आरोपियों की पतासाजी के दौरान स्टेशन रोड , दुर्ग में स्थित लाखे लाज में सुनिता नामक संदिग्ध महिला मिली , जिसे थाना लाया जाकर पूछताछ किया गया ।

पूछताछ में महिला ने पुलिस को बताया कि उसका पति संजय कुमार एवं पति का दोस्त पिण्टू तथा पिण्टू की पत्नी रेशमी सभी लोग मिलकर एक स्थान में घटना घटित करते हैं ।वे सब दो दिन से ज्यादा वहीं नहीं रुकते थे और अलग - अलग चले जाते थे । महिला के स्वीकार करने पर संजय कुमार , पिण्टू तथा रेशमी को लाखे लॉज से ही पकड़ा गया एवं आरोपियों के कब्जे से ठगी की गयी सोने का लाकेट एवं टाप्स कीमती 50000 / - रूपये मूल्य का जप्त किया गया ।  आरोपियों ने पूछताछ में  रायपुर में 2 ज्वेलर्स पर एवं बिलासपुर में 4 ज्वेलरी दुकानों को भी  इसी प्रकार ठगी का शिकार करना बताए गए हैं तथा उनसे नकली सोने का जेवर जेवर प्राप्त कर ठगी किया गया है । 

 उक्त कार्यवाही में उनि सरोज चौवरे , सउनि आर.एल. वर्मा , सउनि के.एस. या दव , आरक्षक अनूप साहू , गौर सिंह राजपूत,  राजकुमार यादव एवं मिथलेश साहू की भूमिका रही। 

 आरोपियों के नाम जप्त मशरूका 711/22 सोने के धारा 420 , 1- सुनिता देवी पति संजय कुमार 34 वर्मा 30 वर्ष , गौतम बुद्ध नगर , नोएडा , उ.प्र . जेवर कीमती लगभग 2.50 लाख एवं दस्तावेज , मोबाईल । भादवि 2- रेशमी उर्फ दशमी खैरवार पति पिण्टू 23 वर्ष , नई बस्ती कांजीपुरा , बलिया , उ.प्र . 3 संजय कुमार पिता स्व . हनुमान प्रसाद , 32 वर्ष , गौतम बुद्ध नगर , नोएडा , उ.प्र . 4- पिण्टू खैरवार पिता स्व . समदत्त 26 वर्ष , नई बस्ती कांजीपुरा , बलिया , उ.प्र . बताए गए हैं।



असल बात न्यूज़

सबसे तेज, सबसे विश्वसनीय 

 पल-पल की खबरों के साथ अपने आसपास की खबरों के लिए हम से जुड़े रहे , यहां एक क्लिक से हमसे जुड़ सकते हैं आप

https://chat.whatsapp.com/KeDmh31JN8oExuONg4QT8E

...............

................................

...............................

असल बात न्यूज़

खबरों की तह तक, सबसे सटीक , सबसे विश्वसनीय

सबसे तेज खबर, सबसे पहले आप तक

मानवीय मूल्यों के लिए समर्पित पत्रकारिता