अक्ती तिहार पूरे छत्तीसगढ़ में धूमधाम से मनाया जा रहा है, जगह-जगह आगे ध रहे हैं तरह-तरह के त्यौहार , लोगों ने ली भुइयां माता के रक्षा की शपथ

 

* माटी पूजन अभियान की शुरुआत 

रायपुर, दुर्ग, बिलासपुर।

असल बात न्यूज़।।

 अक्ती तिहार अक्षय तृतीया का पर्व संपूर्ण छत्तीसगढ़ प्रदेश में धूमधाम से मनाया जा रहा है। अक्ती तिहार के साथ ही राज्य में माटी पूजन अभियान की शुरूआत हुई है।   इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के अंतर्गत संचालित प्रदेश के विभिन्न जिलों में स्थित सभी कृषि महाविद्यालयों एवं कृषि विज्ञान केंद्रों में अक्ती तिहार और माटी पूजन का कार्यक्रम आयोजित हो रहा है। इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय में मुख्य अतिथि के रुप में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस पर्व के शुभ अवसर पर मुख्यमंत्री  विश्वविद्यालय के खेत में ठाकुरदेवता की पूजा अर्चना कर खेती-किसानी के नये कामों की शुरुआत की और प्रदेशवासियों की सुख समृद्धि की कामना की। प्रदेश भर में लोगों ने माटी पूजन करने के साथ ही भुईयां माता की रक्षा की शपथ ली है।

 इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय द्वारा छत्तीसगढ़ शासन के कृषि एवं जैव प्रौद्योगिकी विभाग, बीज निगम अन्य विभागों एवं संस्थाओं के सहयोग से राज्य में  अक्षय तृतीया अक्ती तिहार व्यापक रूप से मनाया जा रहा है। इस दिन विश्वविद्यालय के अंतर्गत संचालित समस्त महाविद्यालयों, अनुसंधान केन्द्रों एवं कृषि विज्ञान केन्द्रों सहित लगभग 60 स्थानों पर अक्ती तिहार कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं। इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कार्यक्रम में माटी पूजन के दौरान सबसे पहले कोठी से अन्न लेकर ठाकुर देव को अर्पित किया. यहाँ परम्परागत तौर पर उन्होंने अन्न के दोने को बैगा को सौंपा. इस अन्न को ठाकुर देव के सामने रखकर अन्न पूजा की क्रिया को सम्पन्न किया गया. इस अन्न दोने से बीजहा लेकर खेत में बीजारोपण किया जाएगा। उन्होंने वही   खेत में हल और ट्रेक्टर चलाकर बीजों का रोपण भी किया। इस अवसर पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि अक्षय तृतीया का दिन बहुत शुभ माना गया है। इस दिन जिस काम की शुरूआत होती है, उसकी पूर्णता निश्चित मानी जाती है।धरती और प्रकृति की रक्षा करने के संकल्प के साथ मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज छत्तीसगढ़ में माटी पूजन महाभियान की शुरुआत की। इसके अंतर्गत राज्य में जैविक खेती को बढ़ावा दिया जाएगा।

 छत्तीसगढ़ शासन की सुराजी गांव योजना के अंतर्गत स्थापित उस जिले के प्रमुख गौठान में भी कार्यक्रम आयोजित किए गए। इसमें गौठान समितियाँ, स्व-सहायता समूहों की सहभागिता थी। इस अवसर पर कृषकों, गौठान समितियों एवं स्व-सहायता समूहों के सदस्यों को विभिन्न खाद्यान - दलहन, तिलहन, सब्जी, चारा आदि फसलों के बीज एवं पौध सामग्री विश्वविद्यालय द्वारा विकसित एवं प्रचलित लघु कृषि यंत्रों तथा औजारों का वितरण भी किया गया। कार्यक्रम के दौरान कृषक प्रशिक्षण एवं कृषक संगोष्ठियों का आयोजन भी किया गया जिसमें कृषकों की तकनीकी समस्याओं का निराकरण करने का प्रयास किया गया है। 

कृषि महाविद्यालय में आयोजित अक्ती तिहार और सम्मान समारोह में. कृषि मंत्री श्री रविंद्र चौबे, मुख्यमंत्री के कृषि सलाहकार श्री प्रदीप शर्मा, छत्तीसगढ़ राज्य कृषक कल्याण परिषद के अध्यक्ष श्री सुरेन्द्र शर्मा, छत्तीसगढ़ बीज निगम के अध्यक्ष श्री अग्नि चंद्राकर, शाकम्भरी बोर्ड के अध्यक्ष श्री रामकुमार पटेल, विधायक श्रीमती  अनीता योगेंद्र शर्मा, जिला पंचायत रायपुर की अध्यक्ष ,श्रीमती डोमेश्वरी वर्मा, इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति श्री गिरीश चंदेल, आयुक्त  उत्पादन कृषि विभाग श्री कमलप्रीत सिंह सहित बड़ी संख्या में  कृषकगण शामिल हुए।


छत्तीसगढ़ राज्य में अक्ती तिहार (अक्षय तृतीया पर्व) कृषि का एक महत्वपूर्ण त्यौहार है। इस दिन से किसान आगामी फसलों हेतु कार्ययोजना बनाते हैं। वे अपने खेतों में जाकर आगामी फसल के लिए संग्रहित बीजों की पूजा अर्चना करते हैं और कुछ मात्रा में इन्हें उगाकर बीजों की अंकुरण क्षमता का परीक्षण भी करते हैं। अक्ती तिहार के अवसर पर किसान आगामी फसल अच्छी होने के लिए ईश्वर से प्रार्थना भी की जाती है।  

दुर्ग जिले में ग्राम पुरई में माटी तिहार आयोजित किया गया। यहां राज्य के गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने उपस्थित जनों को भुइयां माता की रक्षा की शपथ दिलाई तथा मुख्यमंत्री जी के संदेश का वाचन किया। इस अवसर पर संभागायुक्त श्री महादेव कहां मरे भी उपस्थित थे।









असल बात न्यूज़

सबसे तेज, सबसे विश्वसनीय 

अपने आसपास की खबरों के लिए हम से जुड़े रहे , यहां एक क्लिक से हमसे जुड़ सकते हैं आप

https://chat.whatsapp.com/KeDmh31JN8oExuONg4QT8E

...............

................................

...............................

असल बात न्यूज़

खबरों की तह तक, सबसे सटीक , सबसे विश्वसनीय

सबसे तेज खबर, सबसे पहले आप तक

मानवीय मूल्यों के लिए समर्पित पत्रकारिता