इन हरकतों से परेशान होकर मां और छोटे बेटे ने की, बड़े बेटे की हत्या

 


भिलाई। रात को घर से खाना खाकर टहलने निकले युवक की अगली सुबह झाड़ियों में मिली लाश की मिस्ट्री भिलाई-3 पुलिस ने सुलझा ली है। मृतक की मां और छोटे भाई को इस मामले में गिरफ्तार कर लिया है। हत्या के समय से ही पुलिस को उन पर संदेह था। पूछताछ में उन्होंने अपना अपराध स्वीकार कर लिया है।

पुलिस ने बताया कि 23 मई की सुबह औंधी गांव में निरंजन यादव (24) का शव उसके घर से थोड़ी दूर पर झाड़ियों में पाया गया था। घरवालों ने पुलिस को बताया कि वह घर से बिना बताए रात में चला गया था, सुबह उसकी लाश मिली है। पुलिस की पूछताछ में पता चला कि निरंजन आदतन शराबी था और आए दिन घर में लड़ाई झगड़ा करता था। उसके रोज-रोज के झगड़े घरवाले तंग आ गए थे। निरंजन का पिता बचपन में ही उसे छोड़कर कहीं चला गया था। तब से निरंजन अपनी मां और बड़े भाई के साथ नाना के घर औंधी में रह रहा था। संदेह के आधार पर पुलिस ने निरंजन की मां और उसके छोटे भाई ज्ञानेश्वर यादव को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की।

उन्होंने निरंजन की हत्या करके शव को फेंकना स्वीकार किया है। आरोपियों ने बताया कि निरंजन शराब पीकर आए दिन झगड़ा लड़ाई करता था। घटना की रात वह नशे में आकर रुपए की पेटी तोड़कर रुपए निकाल रहा था। इसको लेकर मां और बड़े भाई से उसका काफी विवाद हुआ। गुस्से में आकर उन्होंने पास पड़े मेटाडोर के पट्टा उसके सिर में मार दिया। इससे वह बेसुध होकर वहीं गिर गया। इसके बाद घर वालों ने निरंजन को मार दिया और शव को घर से 30 मीटर दूर झाड़ियों में फेंक दिया। इसके बाद उन्होंने निरंजन के मोबाइल फोन को घर में छिपाकर रख दिया था। पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही पर मोबाइल और खून से सनी शर्ट को जब्त कर ली है।