Big Breaking, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किया डीएफओ, पूर्व डीएफओ और रेंजर को किया निलंबित, गौठान निर्माण में उदासीनता पर कार्रवाई

 

सूरजपुर ,रायपुर।

असल बात न्यूज़।। 

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की भेंट मुलाकात यात्रा जैसे-जैसे आगे बढ़ती जा रही है कार्य में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों कर्मचारियों पर तत्काल कार्रवाई की गति भी बढ़ती दिख रही है। मुख्यमंत्री ने कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में आज एक डी एफ ओ, पूर्व डीएफओ  और एक रेंजर को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।इन पर आवर्ती चराई एवं गौठान निर्माण में उदासीनता के चलते कार्रवाई की गई है।

 जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री की तत्काल कार्रवाई करने से कार्य और जिम्मेदारियों के प्रति उदासीन अधिकारियों कर्मचारियों में हड़कंप मचा हुआ है। मुख्यमंत्री श्री बघेल आज सूरजपुर जिले में भेंट मुलाकात यात्रा पर पहुंचे हुए हैं। बताया था कि इसी दौरान उन्हें आर्मी विभाग के अफसरों के खिलाफ कार्य में लापरवाही की शिकायतें मिली। जिसके बारे में पूछताछ करने पर इसकी पुष्टि हुई है। तब उन्होंने तत्काल संबंधित अधिकारियों के निलंबन का आदेश जारी कर दिया है।

मामले में मुख्यमंत्री ने डीएफओ समेत तीन को किया तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया है।

इसमें डीएफओ मनीष कश्यप ,पूर्व प्रभारी डीएफओ बी एस भगत और  लापरवाही पर रेंजर को भी सस्पेंड किया गया है। बताया जाता है कि इस मामले में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से गोविंदपुर के ग्रामीणों ने गंभीर शिकायत की थी ।

राज्य शासन की फ़्लैगशिप परियोजना में लापरवाही पर यह बड़ी कार्यवाही की गई है।