किसानों को जबरन वर्मी कम्पोस्ट बेचने के विरोध में भाजपा का प्रदर्शन

  

दुर्ग ।

असल बात न्यूज़।

भाजपा किसान मोर्चा ने वर्मी कम्पोस्ट की जबरन बिक्री के आरोप में सोसयटियों पर जमकर हल्ला बोला और प्रदर्शन किया। मोर्चा ने आरोप लगाया है कि किसानों को खराब स्तर का गोबर खाद  मनमाने दाम पर खरीदने के लिये मजबूर किया जा है। प्रदेश सरकार के ऐसे तुगलकी फरमान  से भ्रष्टाचार  और किसानों की जेब में डाका डालने की प्रवृत्ति को बढ़ावा मिल रहा  है।

  मोर्चा के जिलाध्यक्ष निश्चय वाजपेयी ने कहा कि किसान पहले ही रासायनिक खाद की कालाबाजारी के चलते लगभग 4000 हजार प्रति एकड़ की दर से चोट खा रहा है। धान बेचने के लिये उसे 40 किलो वाली बोरी 35-40 रुपया में खरीदनी पड़ रही है। इसका प्रति कुंटल असर लगभग सौ रुपया और प्रति एकड़ का 15 कुंटल का 1500 रुपया होता है। इसके अलावा देरी से धान खरीदी के कारण 5 से 7% फसल सूख जाती है। इसका प्रति एकड़ असर लगभग 100 किलो आता है जिसका मूल्य 2500 रुपयों से अधिक आता है। इन सबको जोड़ दिया जाए तो लगभग 9000 रुपया  किसानों की जेब से निकाल लिया जा रहा है।  किसान खुद ही वर्मी कम्पोस्ट बना रहे हैं  वो सरकार से घदिया किस्म का मिट्टी मिला वर्मी कम्पोस्ट क्यों लेंगे? ऐसे में वर्मी कम्पोस्ट की जबरन बिक्री को तत्काल रोका जाना चाहिए।

भिलाई जिला किसान मोर्चा ने यह धरना प्रदर्शन कुछ अन्य प्रमुख मांगों के साथ कुम्हारी, भिलाई-3 और कोहका सोसायटी में  दिया। कुम्हारी सोसायटी के धरने में प्रमुख रूप से निश्चय वाजपेयी, गीतेश्वर साहू, छबी यादव, पन्नालाल साहू, फिंगेश्वर साहू, अश्वनी देशलहरे, रोहित यादव, रेशम बंजारे, विकास सोनकर, भुवनेश्वर साहू, मुरली साहू, गणेश सोनी, कैलाश बंजारे, शिवप्रसाद यादव सुखराम कुर्रे सहित अन्य किसान उपस्थित थे। भिलाई -3 सोसायटी में पूर्व विधायक सांवलाराम डाहरे, पूर्व महापौर चंद्रकांता मांडले, श्याम सुन्दर जायसवाल, व्यास नारायण बंछोर, कमलेश गोयल, हरीश साहू, उदय देवांगन सहित कई किसान शामिल हुए। कोहका सोसायटी के धरने मे अयोध्या देशलहरा, कमल चंद्राकर, रंजीत सिंह, अखिलेश वर्मा, दीपक यादव, राजेंद्र यादव, चंद्र किशोर साहू, आशीष पांडेय, अनिल देशमुख, प्रमोद मिश्रा सहित बड़ी संख्या में किसान उपस्थित थे।