सोमवार तक पहुंचेगा मॉनसून, होगी झमाझम बारिश

 


देश के कई राज्यों में जहां प्री-मॉनसून की वजह से बारिश हो रही है. वहीं कई राज्यों में गर्मी का दौर जारी है और यहां के लोग मॉनसून का वेट कर रहे हैं. इस बीच दक्षिण पश्चिम मॉनसून को लेकर अच्‍छी खबर आ रही है. भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने मॉनसून के अगले दो से तीन दिनों के दौरान केरल पहुंचने का अनुमान व्‍यक्‍त किया है. इससे पहले, आईएमडी ने एक पखवाड़े पहले बंगाल की खाड़ी में आए चक्रवाती तूफान ‘आसनी' के प्रभाव के कारण शुक्रवार (27 मई) को केरल में मॉनसून की शुरुआत का अनुमान जताया था. पूर्वानुमान में चार दिनों की ‘मॉडल' त्रुटि थी.

मॉनसून की शुरुआत के लिए परिस्थितियां अनुकूल

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा है कि मौसम संबंधी नये संकेतों के अनुसार, दक्षिण अरब सागर के निचले स्तरों में पछुआ हवाएं चलनी तेज हो गई हैं. सैटेलाइट तस्वीरों के अनुसार केरल तट और उससे सटे दक्षिण पूर्व अरब सागर में बादल छाए हुए हैं. इसलिए, अगले दो से तीन दिनों के दौरान केरल में मॉनसून की शुरुआत के लिए परिस्थितियां अनुकूल होती जा रही हैं. मॉनसून वक्त से काफी पहले 16 मई को अंडमान एवं निकोबार द्वीपसमूह पहुंच गया था और च्रकवात के शेष प्रभाव के चलते इसके आगे बढ़ने के आसार थे.

केरल और लक्षद्वीप में हल्की / मध्यम बारिश होने का अनुमान

ब्रिटेन स्थित ‘यूनिवर्सिटी ऑफ रीडिंग' में शोधकर्ता अक्षय देवरस ने ट्विटर पर कहा कि मॉनसून अब केरल के अक्षांश पर पहुंच गया है. हालांकि, राज्य में बारिश का होना मॉनसून की शुरुआत की घोषणा करने के लिए अभी उचित नहीं है. विभाग ने केरल और लक्षद्वीप में हल्की / मध्यम बारिश होने का अनुमान जताया है और अगले पांच दिनों के दौरान आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक और तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल में हल्की बारिश का अनुमान जताया है. मौसम कार्यालय ने अगले चार दिनों के दौरान जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में हल्की / मध्यम बारिश का अनुमान जताया है. इसने कहा कि अगले दो से तीन दिनों के दौरान उत्तराखंड, उत्तरी पंजाब, उत्तरी हरियाणा, उत्तर प्रदेश और पूर्वी राजस्थान में दूरदराज के क्षेत्रों में बारिश होने का अनुमान है.

कब किस राज्य में पहुंचेगा मॉनसून

-झारखंड में 10 से 15 जून के बीच मॉनसून आ सकता है. मौसम विभाग ने पूर्वानुमान किया है कि मॉनसून की बारिश सामान्य होगी.

-वरिष्ठ मौसम विज्ञानी पीके साहा ने कहा कि मध्य प्रदेश में मानसून के जून के मध्य तक दस्तक देने का अनुमान है.

-वहीं 15 जून के आसपास मॉनसून छत्तीसगढ़ में प्रवेश कर सकता है.

-10 से 15 जून के बीच बिहार में मॉनसून पहुंचने की संभावना है.

-05 जून आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, असम

-10 जून पश्चिम बंगाल, तेलंगाना, महाराष्ट्र

-15 जून को छत्तीसगढ़

-20 जून गुजरात, मध्य प्रदेश, यूपी, उत्तराखंड

-25 जून राजस्थान, हिमाचल

-30 जून हरियाणा, पंजाब

नोट: यह मॉनसून के आने की संभावनाओं पर तारीख दी गयी है. इसमें कुछ देर भी हो सकती है. क्‍योंकि पहले मॉनसून के केरल तट में पहुंचने की संभावना 27 मई को थी. अब दो से चार दिन में मॉनसून केरल के तट पर पहुंचेगा और शेष भारत में इसका प्रसार होगा.

भाषा इनपुट के साथ