राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस का छत्तीसगढ़ में बड़ा दांव

 

*राज्यसभा द्विवार्षिक निर्वाचन-2022

*छत्तीसगढ़ से दो राज्यसभा सदस्यों का होगा निर्वाचन

*अभ्यर्थियों द्वारा नाम निर्देशन दाखिल करने की अंतिम तिथि 31 मई

*10 जून को सबेरे 9 बजे से शाम साढ़े 4 बजे तक होगा मतदान


नई दिल्ली, छत्तीसगढ़।

असल बात न्यूज़।। 

  00 स्पेशल पॉलीटिकल रिपोर्टर 

हमने इसकी संभावना बहुत पहले ही जताई थी कि कांग्रेस, छत्तीसगढ़ की दोनों सीटों पर देश के  किसी दूसरे हिस्से से भी किसी को राज्यसभा में भेज सकती है। अब जब कांग्रेस की राज्यसभा सदस्यों के लिस्ट घोषित हो गई है तो यह संभावना पूरी तरह से सच साबित हुई है। छत्तीसगढ़ से यहां के ही किसी को राज्यसभा में क्यों नहीं भेजा गया ? इस पर सवाल उठ रहा है, लेकिन यह सच्चाई है कि उच्च सदन में किसे भेजा जाना है इसका पूरा फैसला पार्टी हाईकमान कहे हाथों में सुरक्षित है, और अभी जो वातावरण है ऐसा नहीं लगता है कि इसके बारे में प्रादेशिक संगठन से कोई पूछताछ करने अथवा विश्वास में लेने की जरूरत समझी  जाएगी। असल में कई राज्यों में कांग्रेस के विधायकों की संख्या काफी कम हो गई है और वहां से कांग्रेस किसी को भी राज्यसभा में भेजने की स्थिति में नहीं है। उच्च सदन में देश भर के वरिष्ठ नेताओं को एडजस्ट करने की जरूरत समझी जाती  है। इस वजह से पार्टी हाईकमान ने छत्तीसगढ़ के दोनों सीटों पर उत्तर प्रदेश और बिहार से अपने उम्मीदवारों को चुनाव मैदान में उतारा है जिनकी संख्या के आंकड़ों के चलते जीत सुनिश्चित है। 

राज्यसभा द्विवार्षिक निर्वाचन-2022 के तहत छत्तीसगढ़ में रिक्त होने वाली दो राज्यसभा सदस्यों के निर्वाचन के लिए 10 जून को मतदान होगा। उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ राज्य के लिए राज्यसभा के कुल 5 सीटों में से दो राज्यसभा सदस्य श्री रामविचार नेताम एवं श्रीमती छाया वर्मा का कार्यकाल 29 जून 2022 को समाप्त होने जा रहा है।  

भारत निर्वाचन आयोग नई दिल्ली द्वारा जारी राज्यसभा द्विवार्षिक कार्यक्रम के अनुसार अभ्यर्थियों द्वारा नाम निर्देशन दाखिल किए जाने की अंतिम तिथि 31 मई (मंगलवार) को निर्धारित की गई है। नाम निर्देशन पत्रों की संवीक्षा 01 जून बुधवार को होगी। अथ्यर्थियों द्वारा नाम वापिस किए जाने की अंतिम तिथि 03 जून शुक्रवार को तय की गई है। मतदान 10 जून शुक्रवार को सबेरे 9 बजे से शाम 4.30 बजे तक निर्धारित की गई है। मतगणना 10 जून को ही शाम 5 बजे से होगी। 

राज्यसभा सदस्यों के निर्वाचन हेतु जारी अधिसूचना के अनुसार नाम-निर्देशन पत्र 31 मई तक सबेरे 11 बजे से दोपहर 3 बजे तक (लोक अवकाश के दिवसों को छोड़कर) छत्तीसगढ़ विधानसभा में रिटर्निंग ऑफिसर सचिव छत्तीसगढ़ विधानसभा को प्रस्तुत किए जा सकेंगे। गौरतलब है कि राज्यसभा द्विवार्षिक निर्वाचन के लिए राज्य में कुल 90 विधानसभा सदस्यों में से इंडियन नेशनल कांग्रेस के 71, भारतीय जनता पार्टी के 14, जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे.) के 3 तथा बहुजन समाज पार्टी के 2 सदस्यों के द्वारा अपने मताधिकार का प्रयोग किया जाएगा। मतदान मतपत्रों के जरिए होगा।

छत्तीसगढ़ के राजनीतिक वातावरण में पिछले वर्षों के दौरान काफी परिवर्तन नजर आए हैं। पार्टी ने राज्यसभा चुनाव के लिए यहां से उत्तर प्रदेश और बिहार से कैंडिडेट देकर संभवता राज्य के आम मतदाताओं को साधने की कोशिश की है। छत्तीसगढ़ राज्य में उत्तर प्रदेश और बिहार से जुड़े मतदाताओं की संख्या काफी अधिक है और कई विधानसभा क्षेत्रों में ये मतदाता जीत हार को काफी अधिक प्रभावित करने वाले साबित होते हैं। कांग्रेश के लिए उत्तर प्रदेश और बिहार जैसे राज्यों से  राज्यसभा  में सदस्य भेजना काफी कठिन हो गया है क्योंकि  इन राज्य में उसके विधायकों की संख्या काफी कम हो गई है।

राज्यसभा की कितनी सीटों पर चुनाव

यूपी11
बिहार5
झारखंड2
छत्तीसगढ़2
ओडिशा3
आंध्र प्रदेश4
तेलंगाना2
तमिलनाडु6
कर्नाटक4
महाराष्ट्र6
MP3
राजस्थान4
हरियाणा2
पंजाब2
उत्तराखंड1

1 या 2 सीटों वाले राज्यों में स्थिति स्पष्ट है। वहां कैंडिडेट निर्विरोध जीत सकते हैं। आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, तमिलनाडु, पंजाब, उत्तराखंड, बिहार, मध्य प्रदेश में चुनाव की नौबत आने की संभावना नहीं है। 3 जून को नामांकन वापस लेने के आखिरी दिन सबकुछ स्पष्ट हो जाएगा। 




असल बात न्यूज़

सबसे तेज, सबसे विश्वसनीय 

खैरागढ़ विधानसभा उपचुनाव की पल-पल की खबरों के साथ अपने आसपास की खबरों के लिए हम से जुड़े रहे , यहां एक क्लिक से हमसे जुड़ सकते हैं आप

https://chat.whatsapp.com/KeDmh31JN8oExuONg4QT8E

...............

................................

...............................

असल बात न्यूज़

खबरों की तह तक, सबसे सटीक , सबसे विश्वसनीय

सबसे तेज खबर, सबसे पहले आप तक

मानवीय मूल्यों के लिए समर्पित पत्रकारिता