गांव को डूबान क्षेत्र में आने से बचाने ग्रामीण ने कलेक्टर जनदर्शन में उठाई आवाज

 

*लगातार हो रहे रेत खनन पर नियंत्रण के लिए जनदर्शन पहुंचा आवेदक

दुर्ग ।

असल बात न्यूज़।। 

रेत माफियाओं के हौसले कितने बुलंद हैं ?उनकी दादागिरी कितनी बढ़ गई है ? यह जगजाहिर है। जिन इलाकों में रेत माफिया के लोग दादागिरी करते हुए अवैध उत्खनन कर रहे हैं, वहां पूरा गांव का गांव उनके लोगों से परेशान हैं। ऐसे ही एक पीड़ित ग्रामीण ने कलेक्टर जनदर्शन में अपनी समस्या बताई है।

 जनदर्शन में जिले के नागरिक लगातार अपनी समस्याओं का निदान पाने के लिए आवेदन लगा रहे हैं। जिसका शीघ्र से शीघ्र निराकरण करने के लिए प्रशासनिक अमला भी सक्रिय रूप से लगा हुआ है। जिले के कुछ नागरिक जनदर्शन में महत्वपूर्ण मुद्दों को सामने ला रहे हैं। इसी कड़ी में आज एक आवेदन ग्राम पीपरछेड़ी से प्रस्तुत किया गया था। जिसमें आवेदक ने शिवनाथ नदी में होने वाले अवैध रेत खनन का मामला कलेक्टर के समक्ष् प्रस्तुत किया।  आवेदक ने बताया कि उसका गांव शिवनाथ नदी के किनारे बसा हुआ है। जिसमें रेत खनन माफिया के द्वारा चौबीसों घंटे मशीन से रेत खनन के काम को अंजाम दिया जा रहा है। इससे नदी का कटाव बढ़ता जा रहा है और जिससे भविष्य में गांव का डूबान निश्चित है। समय-समय पर खेत की फसलों पर भी इसका असर दिखाई पड़ता है और भविष्य में जन धन की हानि हो सकती है। आवेदक ने बताया कि इससे ग्राम पीपरछेड़ी के अलावा, कोटनी व नगपुरा भी प्रभावित होगा। आवेदक ने कलेक्टर से अपील की कि खनन माफिया पर लगाम कसी जाए और रेत खनन करने वाले लाइसेंसी ठेकेदार भी नियमानुसार ही रेत खनन करें ऐसी प्रक्रिया सुनिश्चित की जाए नहीं तो सैंकड़ो एकड़ कृषि भूमि बाढ़ की चपेट में आ सकती है, जिससे स्थिति भयावह होगी। कलेक्टर ने वस्तु स्थिति का संज्ञान लेते हुए संबंधित अधिकारी को आवेदन प्रेषित किया।

इसके अतिरिक्त कलेक्टर के समक्ष् अतिक्रमण से संबंधित भी कुछ मामले लगातार आ रहे हैं, इसी क्रम में जुनवानी वार्ड क्रमांक 01 से आवेदन किया गया था। जिसमें आवेदक ने बताया कि सुर्या माल के बाजू वाली रोड पर अतिक्रमण कर गैरेज का निर्माण किया गया है। उसने यह भी बताया कि इसके पूर्व भी कब्जा किया गया था जिसकी शिकायत जन चौपाल में की गई थी और निगम में इस पर कार्यवाही करते हुए अतिक्रमण को हटाया भी था परंतु कब्जा धारी द्वारा पुनः सड़क में कब्जा कर गैरेज निर्मित कर लिया है। आवेदक ने कलेक्टर से अपील की है कि अतिक्रमण को हटाया जाए। कलेक्टर ने आवेदन को संबंधित अधिकारी को प्रेषित किया।

 जन चौपाल में स्पीड ब्रेकर को लेकर भी एक आवेदक ने आवेदन दिया उसने बताया कि पोटिया कला के वार्ड क्रमांक 54 में कुछ रोड हमेशा यातायात की दृष्टि से सक्रिय रहते हैं। यहां रोड में बीच में ब्रेकर न होने की वजह से गाड़ी चालक तेज गति से गाड़ी चलाते हैं। जिससे निरंतर दुर्घटना होने की स्थिति निर्मित होती रहती है, क्योंकि बच्चे भी सड़क का उपयोग खेलने के लिए करते हैं, इसलिए कोई दुर्घटना न हो इसके लिए उचित व्यवस्था की जाए। कलेक्टर ने मामले का संज्ञान लेते हुए संबंधित अधिकारी को प्रेषित किया।

आज जनदर्शन में 33 आवेदन प्राप्त हुए।