नेपाल विमान हादसे 4 भारतीयों समेत 22 लोगों में से 16 शवों बरामद, 6 की तलाश जारी


00  नेशनल न्यूज़


 नई दिल्ली ।

असल बात न्यूज़।।


. नेपाल प्लेन क्रैश में मारे गए लोगों के शव बरामद हो गए हैं। तारा एयरलाइस प्लेश क्रैश में आज सुबह से चल रहे रेसक्यू ऑपरेशन में अब तक 16 शवों को प्राप्त किया जा चुका है। वहीं 6 शवों को अभी भी ढूंढ़ा जा रहा है। 'तारा एअर' का 'ट्विन ओट्टर 9एन-एईटी' विमान में 4 भारतीय, दो जर्मन और 13 नेपाली नागरिकों सहित कुल 22 लोग सवार थे। रविवार 29 मई की सुबह विमान लापता होने के कुछ घंटे बाद ही मस्टैंग जिले के कोवांग गांव में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। ये फ्लाइट नेपाल के पोखरा से जोमसोम जा रही थी। सुबह करीब 10 बजे अचानक फ्लाइट लापता हो गई थी।

खराब मौसम के कारण रेस्क्यू के काम में रूकावट आ रही है। हेलिकॉप्टर को बार-बार लौटना पड़ रहा है। नेपाल के नागरिक उड्डयन प्राधिकरण (CAAN) ने एक बयान में बताया कि कि मुस्तांग जिले में विमान के मलबे से सोमवार को 16 शव बरामद किए गए हैं। CAAN ने बताया कि मुस्तांग जिले के थसांग-2 में 14,500 फुट की ऊंचाई पर विमान दुर्घटनाग्रस्त हुआ था।
पहाड़ की चोटी से टकराने के बाद करीब 100 मीटर के इलाके में शव और विमान का मलबा फैला हुआ है। बरामद किए गए शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए काठमांडू लाया जा रहा है। नेपाल की सेना ने सोमवार को बताया कि रविवार सुबग दुर्घटनाग्रसत हुए यात्री विमान का मलबा उत्तर-पश्चिमिी नेपाल के मुस्तांग जिले के थसांग-2 स्थित सनोसवेयर में मिला है। यह विमार करीब 20 घंटे से लापता था।
एयरपोर्ट के अधिकारियों के मुताबिक, तारा एयर के डबल इंजन विमान ने सुबह पोखरा से जोमसोम के लिए 9 बजकर 55 मिनट पर उड़ान भरी थी। लेकिन करीब 12 मिनट बाद सुबह 10 बजकर सात मिनट पर उसका नियंत्रण टॉवर से संपर्क टूट गया। विमान के 5 घंटे के बाद भी कोई सुराग न मिलने पर क्रैश होने की आशंका जताई गई थी। दिनभर तलाश में ऑपरेशन चलाने के बाद शाम 4 बजे प्लेन के क्रैश होने की खबर आई थी।