वृद्धावस्था पेंशन दिलाने लगेगा कैम्प, दुर्ग जिले में जिला प्रशासन की पहल, सांसद विजय बघेल का सुझाव


*- सांसद श्री विजय बघेल की अध्यक्षता में हुई जिला विकास समन्वय और निगरानी समिति की बैठक में लिया गया निर्णय


        दुर्ग।

असल बात न्यूज़।। 

वृद्धावस्था पेंशन की राशि हितग्राहियों के खाते में नहीं पहुंचने की शिकायत के मामले में जिला विकास समन्वय और निगरानी समिति दिशा की बैठक में महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया है। बैठक की अध्यक्षता कर रहे सांसद विजय बघेल के द्वारा इस समस्या को सुलझाने के लिए पीड़ित हितग्राहियों के क्षेत्र में कैंप लगाकर कार्रवाई करने का सुझाव दिया गया। इसके बाद यह निर्णय लिया गया कि वृद्धावस्था पेंशन दिलाने कैंप लगाए जाएंगे।

  जिला विकास समन्वय और निगरानी समिति की बैठक में  वृद्धावस्था पेंशन से संबंधित विषय पर चर्चा हुई। कुछ महीनों से कुछ ऐसे मामले आये हैं जिनमें डीबीटी( डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर) के माध्यम से वृद्धावस्था पेंशन लेने वाले कुछ हितग्राहियों के खाते में राशि नहीं पहुंच रही। बैठक में अधिकारियों ने बताया कि कुछ मामलों में बैंकों के विलय होने की वजह से खाताधारक द्वारा अपडेट नहीं कराये जाने से परेशानी हुई है जिनका समाधान किया जा रहा है। इस पर श्री बघेल ने ऐसी समस्याएं सुलझाने के लिए एक कैंप लगाने कहा ताकि सभी हितग्राहियों की समस्या का समाधान एक ही जगह पर किया जा सके। कलेक्टर डा. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने ऐसे मामलों के लिए दिन निर्धारित कर कैंप लगाने के निर्देश निगम अधिकारियों को दिया है। बैठक में जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती शालिनी रिवेंद्र यादव एवं अन्य सदस्यगण उपस्थित थे। जिला पंचायत सीईओ श्री अश्विनी देवांगन ने विस्तार से जिले में विभागीय योजनाओं के क्रियान्वयन की स्थिति की जानकारी दी।

जलजीवन मिशन के काम की मानिटरिंग सबसे जरूरी- 

 बैठक में सांसद श्री बघेल ने कहा कि जलजीवन मिशन सबसे महत्वपूर्ण कार्यक्रम हैं। पेयजल जीवन की बुनियादी आवश्यकता है। इसका क्रियान्वयन बहुत अच्छे से होना चाहिए। गुणवत्ता पूरी तरह से सुनिश्चित हो, साथ ही इसके प्रचार-प्रसार संबंधित गाइडलाइन का पालन भी होता रहे। सांसद ने कहा कि शहरी क्षेत्रों में भी पेयजल के संबंध में लोगों को किसी तरह से दिक्कत नहीं होनी चाहिए।

मुक्तिधाम और नाली आदि के काम मनरेगा के माध्यम से हों-

 उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में मुक्तिधाम के विकास की माँग आती है। मनरेगा के माध्यम से मुक्तिधामों के विकास के लिए कार्य करें। साथ ही कच्ची नाली निर्माण आदि कार्य भी मनरेगा के माध्यम से करें ताकि ग्रामीण क्षेत्रों में ड्रेनेज की समस्या न बने। जिला पंचायत सीईओ ने बताया कि मनरेगा योजना का प्रभावी क्रियान्वयन हो रहा है। कोशिश यह हो रही है कि जलसंग्रहण से संबंधित अधोसंरचनाएं तैयार हो पाएं ताकि पानी से संबंधित किसी तरह की दिक्कत न रहे। सांसद श्री बघेल ने मनरेगा के क्रियान्वयन पर लगातार मानिटरिंग रखने के निर्देश भी दिये। जिला पंचायत सीईओ ने बताया कि मनरेगा के कामों पर लगातार नजर रखी जा रही है। काम में गंभीर लापरवाही पाये जाने पर दो रोजगार सहायकों को सेवाच्युत करने की कार्रवाई की गई है।

प्रधानमंत्री आदर्श ग्रामों के कार्य तय समयावधि में पूरा करें- 

 सांसद ने प्रधानमंत्री आदर्श ग्रामों के कार्यों को भी तय समयावधि में पूरा करने के निर्देश दिये। सहायक आयुक्त आदिवासी विकास ने बताया कि खोला और ढाबा में कार्य समाप्त हो गया है। इस योजना में 21 गाँव सम्मिलित हैं जिनमें तेजी से काम हो रहा है।

*कोरोना के दौर में अच्छा कार्य करने प्रशंसा की-* सांसद ने कहा कि दुर्ग जिला हमेशा से नवाचार में और बेहतर कार्य करने में अग्रणी रहा है। कोरोना के दौर में जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बहुत अच्छा काम किया, इसके लिए वे टीम दुर्ग की प्रशंसा करते हैं ।