चाकू मारकर धमतरी फरार हो जाने वाला आरोपी पकड़ा गया,थाना रानीतराई पुलिस की त्वरित कार्यवाही

 

 *307 के फरार आरोपी को 24 घंटे के भीतर पकड़ा 

पाटन, दुर्ग।

असल बात न्यूज़।। 

पड़ोसी से वाद विवाद होने पर बीच-बचाव करने वाले व्यक्ति को चाकू मारकर गंभीर रूप से घायल कर देने वाले आरोपी को पकड़ लिया गया है। बताया जाता है कि आरोपी पाटन से धमतरी की तरफ फरार हो गया था जिसे साइबर सेल की मदद से उसका मोबाइल ट्रेस कर लोकेशन पता किया गया तथा पकड़ने में सफलता प्राप्त की गई।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार थाना रानीतराई के डायल 112 को सूचना मिली थी कि ग्राम असोगा मोड के आगे  चेतन साहू को संतोष देवांगन चाकू मार दिया गया है।  सूचना पर डायल 112 का बल वहां पहुंचा तथा  घायल चेतन साहू को ईलाज हेतु शासकीय अस्पताल पाटन ले जाया गया।

घटना की गंभीरता को देखते हुए घटना की विस्तृत जानकारी  पुलिस अधीक्षक  डॉ० अभिषेक पल्लव (भापुसे) एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक  ग्रामीण  अनंत साहू एव पुलिस अनुविभागीय अधिकारी  देवाश सिंह राठौर को भी दी गई जिनके निर्देशन में आरोपी की गिरफ्तारी हेतु त्वरित कार्यवाही करते हुए एक टीम का गठन किया गया।

साईबर सेल की मदद से आरोपी के मोबाईल नंबर को ट्रेस किया गया जिसका लोकेशन उडिसा बताने से टीम तैयार कर टीम को रवाना किया गया, तथा आरोपी का लोकेशन एवं गाड़ी के नंबर के आधार पर पता तलाश कर आरोपी को धमतरी से पकड़कर थाना लाया गया।

आरोपी से पूछताछ करने पर आरोपी ने बताया कि  उसका, पड़ोसियों से हमेशा वाद विवाद होता रहता था जिसमें घायल चेतन साहू बीच बचाव करता था। जिससे आरोपी की उससे रंजिश हो गई थीं एवं आरोपी की कुछ दिन पहले कार जल गयी थी जिसमें उसे घायल का हाथ होने का शक  था।    घटना के दिन चेतन साहू घर से निकला उसी समय उसके पीछे-पीछे आरोपी भी निकला और असोगा मोड़ के पास चेतन साहू किसी व्यक्ति से बात कर रहा था, उसी दौरान आरोपी द्वारा  उसके उपर वार कर दिया गया। जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया।  आरोपी के विरुद्ध अपराध के 35 / 2022 धारा 294.307 भादवि कायम कर किया गया है।

उपरोक्त कार्यवाही में पुलिस अनुविभागीय अधिकारी पाटन श्री देवांश राठौर के निर्देशन में थाना प्रभारी निरीक्षक मनोज प्रजापति, सहा उप निरीक्षक नकुल प्रसाद ठाकुर सउनि रेमन साहू, प्र. आर. लोकेश लहरी. आर० तालेंद्र चंद्राकर आर० धनंजय सिन्हा, आर०लक्ष्मी नारायण आर० डेकेश बंछोर की भूमिका सराहनीय रही।