अर्जुंदा महाविद्यालय का नाम शहीद दुर्वासा निषाद के नाम पर किए जाने की घोषणा, मुख्यमंत्री ने की घोषणा


*घोटिया में आयोजित निषाद समाज के वार्षिक अधिवेशन में शामिल हुए

*घोटिया में मंगल भवन का निर्माण और महाविद्यालय खोलने की घोषणा

रायपुर ।

असल बात न्यूज़।।

 प्रदेश के मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल आज बालोद जिले के डौण्डी विकासखण्ड के ग्राम घोटिया में आयोजित निषाद(केंवट) समाज के वार्षिक अधिवेशन में शामिल हुए। निषाद समाज द्वारा मुख्यमंत्री का फूलमालाओं से उत्साहपूर्वक स्वागत किया गया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि निषाद समाज मेहनतकश समाज है। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने डौण्डीलोहारा विधानसभा क्षेत्र की विधायक श्रीमती अनिला भेंडिया की मॉग पर घोटिया में मंगल भवन और महाविद्यालय खोलने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने संसदीय सचिव एवं गुण्डरदेही के विधायक श्री कुंवर सिंह निषाद की मॉग पर अर्जुन्दा महाविद्यालय का नामकरण शहीद दुर्वासा निषाद के नाम पर किए जाने की घोषणा की। 

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने अधिवेशन को संबोधित करते हुए कहा कि हमारी सरकार समाज के हर वर्ग की खुशहाली के लिए काम कर रही है। सभी समाज के लोगों को आगे बढ़ने का अवसर मिले इसके लिए हर संभव कदम उठाए जा रहे हैं। सरकार छत्तीसगढ़िया स्वाभिमान को बढ़ाने का कार्य कर रही है। यहॉ कि संस्कृति को पुर्नजीवित कर लोगों के स्वास्थ्य, शिक्षा और रोजगार के विशेष रूप से ध्यान दिया जा रहा है। 

कार्यक्रम का शुभारंभ निषाद समाज के इष्टदेव भक्तगुहा निषाद एवं श्री राम चन्द्र जी की पूजा अर्चना से हुआ। मुख्यमंत्री ने भक्तगुहा निषाद का जिक्र करते हुए कहा कि भक्तगुहा निषाद सौम्य और सरल स्वभाव के कारण भगवान के हृदय में वास करते थे। निषाद समाज को भगवान श्री राम ने अपने हृदय में स्थान दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ शासन निषाद समाज के उत्थान के लिए लगातार कार्य कर रही है। शिक्षा, रोजगार से लेकर समाज के परंपरागत मत्स्य व्यवसाय के लिए शून्य प्रतिशत ब्याज पर ऋण दिया जा रहा है। मत्स्य पालकों को किसानों की भांति बिजली की सुविधाएॅ भी मुहैया कराई जा रही है। 


महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अनिला भेंडिया ने निषाद समाज को शासन की योजनाओं से लाभान्वित होने आगे आने का आव्हान किया। संसदीय सचिव श्री कुंवर सिंह निषाद ने मत्स्य पालन को कृषि का दर्जा दिए जाने और समाज के लोगों के उत्थान के लिए किए जा रहे प्रयासों के लिए मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया। अधिवेशन को मछुआ कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष श्री एम.आर.निषाद ने भी संबोधित किया। मुख्यमंत्री ने शहीद दुर्वासा निषाद और शहीद नारद निषाद के परिजनों को स्मृति चिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया। इस अवसर पर जिले के प्रभारी मंत्री श्री उमेश पटेल, संजारी-बालोद विधायक श्रीमती संगीता सिन्हा, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती सोनादेवी देशलहरा सहित क्षेत्र के अन्य जनप्रतिनिधि, निषाद समाज के अनेक वरिष्ठ पदाधिकारी, गणमान्य नागरिकगण, कलेक्टर श्री जनमेजय महोबे, पुलिस अधीक्षक श्री गोवर्धन राम ठाकुर और बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे।