तीन दिवसीय कमपोजिट सेफ्टी प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन

 

भिलाई।

असल बात न्यूज़।

स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में शिक्षा विभाग एवं अरविंद इंडस्ट्रियल हाइजीन के संयुक्त तत्वावधान में तीन दिवसीय  कमपोजिट सेफ्टी प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें तीसरे एवम अंतिम दिवस के कार्यक्रम के अंतर्गत श्रीमती सलोनी प्रसाद एवं श्री जेड ए पवार द्वारा प्रस्तुतीकरण दिया गया।

  कार्यक्रम की संयोजक  डॉक्टर मंजूषा नामदेव ने जानकारी दी है कि श्रीमती सलोनी प्रसाद द्वारा अग्नि सुरक्षा से संबंधित प्रशिक्षण दिया गया। जिसमें उन्होंने  गैस सिलेंडर का रखरखाव कैसे करना चाहिए गैस रिसाव के समय क्या सावधानी रखना चाहिए गैस सिलेंडर हमेशा आईएसआई वाला ही होना चाहिए गैस का रेगुलेटर पाइप लाइन आदि भी अच्छी कंपनी का उपयोग में लाना चाहिए उनका समय-समय पर निरीक्षण करना चाहिए तथा सिलिंडर पर लिखे गए A B C D अक्षरों की उपयोगिता के बारे में जानकारी दी ।इन सभी बातों से हम अपने घर में होने वाली दुर्घटनाओं को टाल सकते हैं क्योंकि जागरूकता ही हमें दुर्घटना से बचा सकती  है। इसके अलावा सभी घरों में फर्स्ट एड बॉक्स भी होना आवश्यक है  इसमें इसमें  कैंची  पट्टी चिपकाने वाला टेप एस्प्रिन  एंटीसेप्टिक एवं थर्मामीटर आदि होना चाहिए। इसके अलावा उन्होंने बताया कि यदि कोई कुत्ता काट ले तो कटे हुए भाग को नल के नीचे साबुन से धोएं जब तक कि खून निकलना बंद ना हो जाए। कीड़ा काटने पर  तुरंत नमक रगड़े जिससे घाव में जहर फैलने की संभावना कम हो जाती है। श्री जेड ए पवार ने अग्नि सुरक्षा प्रशिक्षण के अंतर्गत विद्यार्थियों  सुरक्षा गार्ड एवं चतुर्थ वर्ग कर्मचारियों को प्रशिक्षण दिया कि आग लगने पर क्या क्या सावधानियां रखना चाहिए। महाविद्यालय के विशेष कर्तव्य अधिकारी डॉ दीपक शर्मा ने शिक्षा विभाग द्वारा करवाए गए इस प्रशिक्षण कार्यक्रम की सराहना की और कहा कि विद्यार्थियों एवम सुरक्षा गार्डों के लिए इस प्रकार के प्रशिक्षण कार्यक्रम बहुत ही महत्वपूर्ण तथा जागरूकता फैलाने में  सहायक होते है। महाविद्यालय की प्राचार्य डॉक्टर हंसा शुक्ला ने कहा की अनुभवी प्रशिक्षकों द्वारा दिया गया प्रशिक्षण  प्राध्यापकों विद्यार्थियों एवं सुरक्षा गार्ड के लिए बहुत ही उपयोगी रहा। उप प्राचार्य डॉ अजरा हुसैन ने कहा कि फायर सुरक्षा से संबंधित जानकारी जागरूकता फैलाने में एवं व्यक्ति के जीवन की सुरक्षा करने में सहायक सिद्ध होगी । कार्यक्रम  के समापन में महाविद्यालय की ओर से अतिथियों को सर्टिफिकेट प्रदान किए गए कार्यक्रम की संयोजक डॉक्टर मंजूषा नामदेव ने कार्यक्रम में उपस्थित समस्त अतिथियों विद्यार्थियों  प्राध्यापकों एवं कर्मचारियों का धन्यवाद एवं आभार प्रदर्शित किया।