सेक्टर 27 नया रायपुर में पानी के लिए त्राहि-त्राहि, निवासी बेहाल, पिछले 10 दिनों से आ रहा है नाली के जैसा काला पानी, लोग यही पानी पीने को मजबूर

 नया रायपुर।

असल बात न्यूज़।।  

                   00  विशेष प्रतिनिधि


भीषण गर्मी पड़ रही है। ऐसे कठिन समय में सबसे अधिक जरूरत शुद्ध पानी की है। भूजल स्तर नीचे चला गया है इसलिए पानी की हर जगह समस्या नजर आ रही है। ऐसे में भी कई इलाके हैं जहां प्रशासनिक लापरवाही के चलते पानी के लिए त्राहि-त्राहि मच रही है। नया रायपुर के सेक्टर 27के निवासियों को भी प्रशासनिक लापरवाही के चलते पानी के गंभीर संकट से जूझना पड़ रहा है। यहां, नलों में पिछले 10 दिनों से नाली के जैसा गंदा पानी आ रहा है। लोग इसकी शिकायत करते करते थक गए हैं लेकिन शिकायत की कोई सुनवाई नहीं हुई है। नलों में वैसा ही काला गंदा बदबूदार पानी आ रहा है। 



ऊपर आप जो चित्र में पानी देख रहे हैं आपको भरोसा ही नहीं होगा कि यही पानी, सेक्टर 27 के निवासियों को पीना भी पड़ रहा है और नहाने धोने सहित दूसरे  कार्यों के लिए इसे इस्तेमाल करना पड़ रहा है। चित्र में पानी जिस तरह काला, मटमैला और कीचड़ युक्त दिख रहा है उससे आप उसे छूना भी नहीं चाहेंगे लेकिन क्षेत्र के लोग यही पानी पीने तक के लिए मजबूर हैं। ऐसा पानी उस क्षेत्र में आ रहा है जहां शासन प्रशासन ने लोगों को व्यवस्थित तरीके से बसाने का वादा किया है, उन्हें शुद्ध पानी, स्वच्छ वातावरण और सुरक्षा देने का वादा किया है। इस तरह का गंदा पानी आने से लोगों में कितनी नाराजगी हैै, कितना आक्रोश है, और कितना गुस्सा भड़क रहा है इसकी कल्पना की जा सकती है। यह पानी पी नहीं सकते इसलिए हालात ऐसे हैं कि यहां के निवासियों को  शुद्ध पेयजल खोजने कई किलोमीटर दूर तक भटकना पड़ रहा है। एक व्यवस्थित कॉलोनी में रहने का यहां के निवासियों का सपना चूर-चूर होता दिख रहा है।



प्राप्त जानकारी के अनुसार नया रायपुर में सेक्टर 27 के प्रत्येक घरों में इस तरह का गंदा बदबूदार काला पानी आ रहा है। इस भीषण गर्मी के समय में ऐसा बदबूदार काला पानी  आने से यहां के लोगों को किस तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है यह आसानी से समझा जा सकता है। अभी कोरोना महामारी के संक्रमण के फैलाव से क्षेत्र में भी भारी दहशत रही है और कोरोना ने यहां भारी क्षति भी पहुंचाई है रही है और अब इस तरह  घर घर में गंदा पानी आने से लोगों में फिर संक्रामक बीमारियों के  फैलने की आशंका बढ़ गई है। 

बताया जा रहा है कि स्थानीय निवासियों के द्वारा इस तरह का गंदा पानी आने के समस्या की जानकारी हाउसिंग बोर्ड के प्रबंधकों को दे दी गई है लेकिन समस्या का निराकरण के लिए अभी तक कोई कदम नहीं उठाया है। ऐसी जानकारी मिली है कि पिछले कई महीनों से टंकी की सफाई नहीं होने की वजह से या समस्या पैदा हुई है। स्थानीय निवासियों का कहना है कि यहां के सभी निवासी जल कर पटाते हैं इसलिए उन्हें शुद्ध पानी मिलना चाहिए। इस तरह का गंदा, बदबूदार पानी आने से संक्रामक बीमारियों का फैलाव के लिए तेजी से हो सकता है इससे सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है लेकिन चिंता की बात है कि किसी भी प्रबंधन ने इस समस्या के हल के लिए अभी तक कोई कदम नहीं उठाया है ना ही लोगों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गई है। 

हाउसिंग बोर्ड के कुछ अधिकारियों ने बताया है कि यहां अभी पानी आपूर्ति की व्यवस्था की जिम्मेदारी एनआरडीए ने अपने हाथों में ले ली है और जलकर उसी के द्वारा वसूला जाना शुरू कर दिया गया है जिसके बाद प्रशासनिक व्यवस्था में फेरबदल से यह समस्या पैदा हुई है। कारण कुछ भी हो लेकिन यहां के निवासियों को अभी इस भीषण गर्मी में गंभीर पानी की समस्या से जूझना पड़ रहा है। इसके साथ यहां संक्रामक बीमारियों के फैलने का खतरा बढ़ गया है। इससे यहां लोगों में काफी चिंता फैल रही है। छत्तीसगढ़ राज्य में प्रशासनिक व्यवस्था किस तरह से चरमराती  जा रही है, इसका अंदाजा सेक्टर 27 में मची पानी के लिए त्राहि-त्राहि की स्थिति से लगाया जा सकता है। सेक्टर 27, संचालनालय और मंत्रालय के बिल्कुल बगल में स्थित है और हाउसिंग बोर्ड के द्वारा बसाई गई कॉलोनी है। वहां पानी के लोगों को इस तरह से भीषण संकट से जूझना पड़ रहा है तो दूसरे इलाकों में कैसे हालात होंगे इस हालत से उसे भी समझा जा सकता है। 

असल बात न्यूज़

सबसे तेज, सबसे विश्वसनीय 

अपने आसपास की खबरों के लिए हम से जुड़े रहे , यहां एक क्लिक से हमसे जुड़ सकते हैं आप

https://chat.whatsapp.com/KeDmh31JN8oExuONg4QT8E

...............

................................

...............................

असल बात न्यूज़

खबरों की तह तक, सबसे सटीक , सबसे विश्वसनीय

सबसे तेज खबर, सबसे पहले आप तक

मानवीय मूल्यों के लिए समर्पित पत्रकारिता