दुर्ग के टप्पा तालाब के पास हुए सनसनी खेज हत्या कांड का खुलासा,मोहल्ले के युवकों ने ही मिलकर रची थी हत्या की सुनियोजित साजिश

 

▪️ मृतक नशे में होने के कारण अपना बचाव नही कर सका 

▪️ दोस्तो ने ही की गले में पहने चैन से  गला दबाकर तालाब में फेंक दिया

▪️ घटना कारित कर अपने अपने घर जाकर सो गये आरोपीगण

दुर्ग ।

असल बात न्यूज़।। 

दुर्ग शहर भी अपराध का गढ़ बनता जा रहा है। यहां जगह-जगह नशीली दवाइयों के बेचने का सिलसिला चलने लगा है तो वही मारपीट और चाकूबाजी की खतरनाक घटनाएं आम होती जा रही है। पिछले दिनों दोस्तों ने ही मिलकर एक युवक की जान लेवा हमला कर और गला दबाकर हत्या कर दी। मामले के आरोपी पकड़ लिये हैं लेकिन नशे की वजह से ऐसे अपराध लगातार बढ़ते जा रहे हैं। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार 2 दिन 20 अप्रैल को पहले शिव पारा दुर्ग निवासी 20 वर्षीय प्रकाश ठाकुर का स्थानीया टप्पा तालाब में शव पाया गया था। मामले में हत्या होने की आशंका थी। युवक रात में लगभग 11:00 बजे घूमने निकला था और दूसरे दिन उसका शव पाया गया।

                 मामला की गंभीरता को देखते हुये  पुलिस अधीक्षक  उमनि / वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक  बद्रीनारायण मीणा के मार्गदर्शन में एवं अति पुलिस अधीक्षक ( शहर ) संजय ध्रुव , तथा नगर पुलिस अधीक्षक दुर्ग  जितेन्द्र यादव भा . पु . से , एवं काईम डीएसपी  नसरउल्लहा सिद्दकी के निर्देशन में थाना प्रभारी दुर्ग निरीक्षक  भूषण एक्का के नेतृत्व में कुल 04 टीमों को अज्ञात आरोपीयों की पतासाजी हेतु रवाना किया गया । विशेष टीम द्वारा घटना स्थल जाकर बारीकी से निरीक्षण कर मृतक प्रकाश ठाकुर उर्फ समोसा की सम्पूर्ण जानकारी एकत्रित कि गई जिसमें पता साजी के दौरान मृतक का रात लगभग 11.00 बजे घर से बाहर घुमने निकलने का पता चला ।   प्रकाश ठाकुर उर्फ समोसा मोहल्ले युवकों को देखकर भाग गया । इस घटना से क्षुब्ध होकर  आरोपी बलदाउ उर्फ हर्ष सारथी ने अपने दोस्तों लल्लन सारथी और मीर सारथी को इसकी जानकारी दी और अपने दोस्तों के साथ बैठकर हत्या की सुनियोजित साजिश रची ।

पुलिस के अनुसार  हनुमान मंदिर के पास बैठे बलदाउ उर्फ हर्ष सारथी एंव उसके दोस्तों ने मृतक प्रकाश उर्फ समोसा को शौच चलने की बात कहकर तालाब के पास लेकर गयें।, तालाब पहुंचने के बाद बलदाउ उर्फ हर्ष सारथी ने मृतक को धक्का मारकर गिरा दिया और मीर सारथी ने मृतक का मुंह दबाकर रखा था । लल्लन सारथी नें उसका हाथ पकड़ा था , तभी बलदाउ उर्फ हर्ष सारथी ने पीछे से मृतक की गले में पहने चैन को खीचकर गला को दबाकर रखा था । जिससे की मृतक की मौत हो गयी । उसके बाद उसे टप्पा तालाब में धक्का देकर फेंक दिया । और उसके बाद सभी आरोपी अपने अपने घर जाकर सो गये । 

                 दूसरे दिन सुबह 06.00 बजे के लगभग घटना की जानकारी मिलने पर परिवार वालों ने जाकर तालाब में देखा तो प्रकाश ठाकुर उर्फ समोसा मृत हालात में मिला। 

 उक्त कार्यवाही में थाना प्रभारी दुर्ग निरीक्षक श्री भूषण एक्का , निरीक्षक गौरव तिवारी , उप निरीक्षक मुकेश सोरी , भुनेश्वर यादव , सउनि पूरन दास , प्र . आरक्षक योगेश चन्द्राकर , हरीशचंद्र चौधरी , कुलेश्वर साहू , चेतन साहू , आरक्षक जावेद खान , प्रदीप सिंह , चित्रसेन साहू , शौकत हयात खान , धीरेन्द्र यादव , तिलेश्वर राठौर , फारूख खान , जी . रवि , ललित साहू , सुरेश जायसवाल , विरेन्द्र महानंद , खुर्रम बख्श एंव सायबर सेल की सराहनीय भूमिका रही । 



असल बात न्यूज़

सबसे तेज, सबसे विश्वसनीय 

अपने आसपास की खबरों के लिए हम से जुड़े रहे , यहां एक क्लिक से हमसे जुड़ सकते हैं आप

https://chat.whatsapp.com/KeDmh31JN8oExuONg4QT8E

...............

................................

...............................

असल बात न्यूज़

खबरों की तह तक, सबसे सटीक , सबसे विश्वसनीय

सबसे तेज खबर, सबसे पहले आप तक

मानवीय मूल्यों के लिए समर्पित पत्रकारिता