Live - उत्तर प्रदेश की तर्ज पर छत्तीसगढ़ में चलने लगा भूपेश कका का बुलडोजर, नगर निगम भिलाई प्रशासन की बड़े दिनों के बाद काबिलेतारीफ कार्रवाई,, अरबों की जमीन पर से भू माफियाओं का कब्जा हटाया गया, स्थानीय भीड़ ने निगम प्रशासन का किया पूरा सहयोग

 

भू माफियाओं और अराजक तत्वों को आने लगा है चक्कर 

मुख्यमंत्री भूपेश कका ने बता दिया कि छत्तीसगढ़ में भी है बुलडोजर और भू माफियाओं, अराजक तत्वों के नहीं बढ़ सकेंगे हौसले

भिलाई।

 असल बात न्यूज़।। 

00  विशेष प्रतिनिधि  

उत्तर प्रदेश में योगी बाबा का बुलडोजर पूरे देश में चर्चाओ में रहा है और कहा जा रहा है कि विधानसभा चुनाव में इसी बुलडोजर वाली कार्रवाई की बदौलत योगी बाबा की सरकार फिर से  सत्ता में लौटी है तो क्या अब इसी तर्ज पर छत्तीसगढ़ में भूपेश कका का भी बुलडोजर चलना शुरू हो रहा है। करोड़ों की जमीन पर कब्जा हथिया लेने वाले भू माफियाओं पर कार्रवाई शुरू हो गई है। भिलाई में सुपेला बाजार में जिस तरह से ताबड़तोड़ कड़ी कार्रवाई शुरू की है उससे भू माफियाओं के तो हौसले पस्त हो ही गए हैं और स्थानीय लोगों में काफी खुशी नजर आ रही है कि  उत्तर प्रदेश के बुलडोजर की तर्ज पर छत्तीसगढ़ में भी भूपेश कका का  बुलडोजर चलने लगा है ।भिलाई सुपेला बाजार में भू माफियाओं की गुंडागर्दी आज तोड़ फोड़ दी गई। और वहां करोड़ों रुपए की जमीन पर जबरदस्ती कब्जा कर लेने वाले इन भू माफियाओं का कब्जा नेस्तनाबूत कर दिया गया। वैसे बताया जा रहा है कि इस पूरी कार्रवाई को रोकने के लिए काफी ऊपर तक लगातार फोन खनखनाये जा रहे थे, मोबाइल पर बातें हो रही थी लेकिन कहीं कोई सुनवाई नहीं हुई।इससे लग रहा है कि राज्य में भूपेश सरकार अतिक्रमणकारियों और भू माफियाओं के खिलाफ अब आक्रामक कार्रवाई के मोड में आ गई है।

 स्थानीय  निवासियों ने बताया कि बाहर से आकर कब्जा करने वाले इन भू माफियाओं के द्वारा प्रतिदिन खाली जमीन पर कब्जा किया जा रहा था। सुपेला बाजार भिलाई के सबसे बड़े मार्केट में से एक है और यहां की छोटी-छोटी जमीन पर भू माफियाओं की वर्षों से गिद्ध  नजर लगी हुई थी।ये भू माफिया स्वयं को जमीन पर कब्जा कर ही रहे थे अपने रिश्तेदारों, पड़ोसियों को भी बुला कर जमीन पर कब्जा करा रहे थे। बताया जाता है कि ऐसी खाली पड़ी जमीन पर कब्जा कर उसे बेचा भी जा रहा था। शिकायत है कि यह भूमाफिया पूरी जमीन पर इस तरह से कब्जा लगातार कब्जा करते जा रहे  थे मानो इस पर उनका मालिकाना हक हो गया है। जो छोटे-छोटे स्थानीय व्यवसाई थे उन्हें भी ये भू माफिया डरा धमका कर भगा दे रहे थे और उस जमीन पर कब्जा कर ले रहे थे। स्थानीय रहवासियों के साथ असल बात न्यूज़ के द्वारा भी नगर निगम प्रशासन का  इस समस्या और भूमाफिया की गुंडागर्दी तथा अतिक्रमण को खाली कराने की ओर  लगातार ध्यान आकर्षित कराया जा रहा था। निगम प्रशासन के द्वारा भू माफियाओं का कब्जा हटाने और तोड़ने  की गई कार्रवाई से क्षेत्र के रहवासियों में खुशी व्याप्त है। दूसरी तरफ भूमाफियाओ का कहना है कि आज कब्जा टूटा है, कल फिर कब्जा कर लेंगे। 

भू माफियाओं के कब्जे की वजह से सुपेला बाजार में चलना मुश्किल हो गया था। वही भरी भीड़ भाड़ के चलते क्षेत्र में असामाजिक तत्व भी पूरी तरह से सक्रिय हो गए थे। 

असल बात न्यूज़ की टीम आज सुबह से इस क्षेत्र जोकि सुपेला बाजार और संडे बाजार के नाम से प्रसिद्ध है सुबह से पहुंच गई है। यहां ऐसा लग रहा है कि स्थानीय लोगों के द्वारा भू माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई का बड़ी बेसब्री से इंतजार किया जा रहा था और जब नगर निगम की टीम भू माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई करने पहुंची, तोड़फोड़ करने पहुंची, कब्जे हटाने पहुंची, तो वहां के लोगों में काफी उत्साह और जोश नजर आ रहा था। यहां की इस सुपेला बाजार क्षेत्र की जमीन काफी कीमती है बेशकीमती है करोड़ों रुपए की जमीन है जिस कर भू माफिया के द्वारा लगातार कब्जा कर लिया जा रहा था। छोटी-छोटी जमीन पर कब्जा कर लिया जा रहा था। दूसरी बात यह भी सामने आई है कि वहां भू माफिया तत्वों की गुंडागर्दी भी शुरू हो गई थी। जिस जमीन पर भी ये भू माफिया  कब्जा कर ले रहे थे उसके आसपास से स्थानीय व्यवसायियों को जो छोटे-छोटे चिल्हार दुकानदारी करते हैं उनको खदेड़ दिया जा रहा था। डरा धमका कर खदेड़ दिया जा रहा था। स्थानीय व्यवसायियों को व्यापार करने से मना किया जा रहा था।इन भूमाफियाओ के द्वारा कब्जा कर बनाई गई दुकानों में पता नहीं कैसे बिजली कनेक्शन भी प्राप्त कर लिया गया था। सुपेला बाजार भिलाई का सबसे बड़ा बाजार है और यहां की जमीन कितनी कीमती होगी इसका अंदाजा लगाया जा सकता है। इस सुपेला बाजार क्षेत्र में जमीन की कीमत तीन से ₹4000 वर्ग फुट तक हो गई है। जिस पर ये भूमाफिया तत्व, एक रुपए दिए बिना भी पूरी तरह से कब्जा कर ले रहे थे और उसका वर्षों से व्यवसायिक इस्तेमाल भी किया जा रहा था। सोचिए और समझिए इस तरह से क्षेत्रों पर देश को कितना नुकसान हो रहा था। किम की बेशकीमती जमीन पर कब्जा हो गया वह अलग बात और निगम प्रशासन को करोड़ों  रुपए के राजस्व का नुकसान हो रहा थ। भू माफियाओं के हौसले यहां इतनी अधिक बुलंद हो गए थे कि यह कबजा दिन प्रतिदिन लगातार बढ़ता जा रहा था। पूरी सड़क कब्जों से घिरती जा रही थी। और मजे की बात है कि ये भूमाफिया तत्व  सिर्फ अपना कब्जा ही नहीं कर रहे थे दूसरे लोगों को भी जमीन किराए पर देकर उससे भारी किराया वसूल रहे थे। हर दिन कब्जा बढ़ता जा रहा था और यह भू माफिया तत्व यहां की कीमती जमीन पर इस तरह से दूसरे लोगों को जमीन पर कब्जा देने लगे थे मान लो जमीन पूरी उनकी हो गई है। लंबे समय से कार्रवाई नहीं होने से इन भू माफियाओं के हौसले इतने बुलंद हो गए थे कि  जगह जगह बड़ी बड़ी बिल्डिंग तान ली गई है। 

आज सुबह से यहां सुरक्षा बलों और पुलिस प्रशासन का कड़ा पहरा लगा दिया गया था। भू माफियाओं के कब्जे के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी इसके लिए निगम प्रशासन के द्वारा  पहले ही नोटिस दी गई थी। नोटिस के चलते सड़क पर कब्जा कर दुकान लगाने वाले लोग आज दुकान लगाने नहीं पहुंचे और जो लोग पहुंचे थे उनमें से ढेर सारे पुलिस प्रशासन तथा निगम प्रशासन की गाड़ियों  और तोड़फोड़ की आशंका को देखते हुए वापस लौट गए। इसके चलते हैं मार्केट में आने जाने वाले लोगों को जो दिक्कतें होती थी आज नहीं हुई। निगम प्रशासन के द्वारा इस तरह की कार्रवाई 4 साल पहले शुरू की गई थी लेकिन बाद में उस पर रोक लगा दिया गया। उसके बाद से वह माफियाओं के हौसले और बुलंद होते गए। यहां आज सबसे बड़ी बात दिखी कि  स्थानीय लोगों ने निगम प्रशासन की कार्रवाई का पूरा सहयोग किया और भू माफियाओं के कब्जा को हटाने की जमकर वकालत की गई।










असल बात न्यूज़

सबसे तेज, सबसे विश्वसनीय 

खैरागढ़ विधानसभा उपचुनाव की पल-पल की खबरों के साथ अपने आसपास की खबरों के लिए हम से जुड़े रहे , यहां एक क्लिक से हमसे जुड़ सकते हैं आप

https://chat.whatsapp.com/KeDmh31JN8oExuONg4QT8E

...............

................................

...............................

असल बात न्यूज़

खबरों की तह तक, सबसे सटीक , सबसे विश्वसनीय

सबसे तेज खबर, सबसे पहले आप तक

मानवीय मूल्यों के लिए समर्पित पत्रकारिता