स्वरूपानंद महाविद्यालय में कम्पोजिट सेफ्टी ट्रेनिंग प्रोग्राम का आयोजन

 

भिलाई।

असल बात न्यूज़।।

स्वरूपानंद महाविद्यालय के शिक्षा विभाग में अरविंद इंडस्ट्रीयल हाईजीन कन्सल्टेन्सी रायपुर  के संयुक्त तत्वावधान में  29 मार्च 2022 से 31 मार्च  तक समस्त विद्यार्थियों के लिए कम्पोजिट सेफ्टी ट्रेनिंगप्रोग्राम का आयोजन किया गया है। जिसमें प्रथम दिवस बी.एस.पी. के रिटायर अधिकारियों ने सुरक्षा प्रशिक्षण दिया। श्री बी.के.थापियाल, श्रीमती सलोनी प्रसाद, श्री शेखर भट्टाचार्य ने रोड सेफ्टी  एव व्यवहार सुरक्षा से संबंधित जानकारी प्रदान की गई।  अस्सी के दशक के ये ग्रेज्जुएट इन्जीनियर जिनका 40 साल से व्यवहार सुरक्षा एवं रोड सुरक्षा पर अनुभव है बी.एस.पी. एवं अन्य जगहों पर प्रशिक्षण देने का अनुभव रहा हेै। 

कार्यक्रम के उद्धेश्यों पर प्रकाश डालते हुए संयोजिका डॉ. मंजूषा नामदेव ने कहा कि विद्यार्थियों को सड़क सुरक्षा एवं व्यवहार सुरक्षा की जानकारी समय पर दिया जाए तो वे जागरूक एवं सचेत रहते है,  इस प्रकार सड़क दुर्घटनाएं कम होगी एवं लोगों की जान बचेगी। कार्यक्रम में प्रशिक्षकों द्वारा प्रेजेंटेशन के माध्यम से सड़क सुरक्षा एवं व्यवहार सुरक्षा के बारे विस्तृत जानकारी दी गई। 

प्रशिक्षक श्री शेखर भट्टाचार्य द्वारा विद्याथियों को शपथ ग्रहण करवाया गया एवं सड़क सुरक्षा के नियमों की जानकारी दी गई तथा उन्हे जीवन में अपनाने एवं अनुशासन में रहने का प्रण दिलाया गया। 

श्री बी.के. थापियाल ने कहा कि डेढ़ लाख लोगों की जान सकड़ दुर्घटना से हर साल जाती है। अतः हमें आज जागरूक रहने की आवश्यकता है सड़क सुरक्षा नियमों को यदि व्यवहार में लाया जाए, तो आप बहुत सी दुर्घटनाओं से बच सकते है। उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा कि हम हेलमेट अपनी सुरक्षा के लिए नहीं बल्कि टैªफिक पुलिस से बचने के लिए पहनते है। सुरक्षा की भावना अपने अंदर होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि क्रैश हेल्मेंट लगाये जिससे हेड इन्जुरी से बचा जा सकते है। उन्होंने बताया कि गोली से ज्यादा मृत्यु सड़क दुर्घटना में होती है । ंव्यवहार आधारित सुरक्षा  के अंतर्गत बहुत सी महत्वपूर्ण जानकारी दी गई सेफ्टी के कल्चर को लोगों में लाना हमारा उद्धेश्य है। व्यवहार आधारित कल्चर हम में इन बिल्ट होना चाहिए। हमें सोचना चाहिए कि आप हमारी चिंता करते हैं तो हम भी आपकी चिंता करते है  अतः रोको एवं टोकों एक प्रभावी उपकरण हैं। 

महाविद्यालय के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ.दीपक शर्मा ने कहा कि शिक्षा विभाग द्वारा सड़क सुरक्षा एंव व्यवहार सुरक्षा पर आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम विद्यार्थियों के लिए बहुत उपयोगी एवं महत्वपूर्ण रहा। 

महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने कहा कि आज का विद्यार्थी कल का नागरिक बनेगा। सड़क सुरक्षा के प्रति हमारी जागरूकता ही हमे दुर्घटना एवं अकस्मात मृत्यु से हमें बचाती है। 

महाविद्यालय की उपप्राचार्य डॉ. अज़रा हुसैन ने कहा कि सड़क सुरक्षा नियमों को अपना कर हम अपनी ही नहीं दूसरों के जीवन की भी सुरक्षा करते है। 

कार्यक्रम में मंच संचालन एवं आभार प्रदर्शन डॉ. मंजूषा नामदेव ने किया । कार्यक्रम में शिक्षा विभाग के समस्त प्राध्यापकगण एवं विद्यार्थी उपस्थित थे। .