स्वरूपानंद महाविद्यालय की महिला प्रकोष्ठ द्वारा अंर्तराष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष्य में महिलाओं को आत्म सुरक्षा व स्वरोजगार प्रशिक्षण|

 

भिलाई।

असल बात न्यूज़।।

स्वरूपानंद महाविद्यालय की महिला प्रकोष्ठ, शिक्षा विभाग एवं सफल बालिका समाज सेवी संस्था जंजगिरी के संयुक्त तत्वाधान में 8 मार्च 2022 को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर ग्राम जंजगिरी में आत्मसुरक्षा व महिला स्वरोजगार प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया| जिसमें नुक्कड़ नाटक व रेली के द्वारा बालिका शिक्षा, नारी सशक्तिकरण ,वेस्ट मटेरियल से सजावटी वस्तु बनाने का प्रशिक्षण, आत्म सुरक्षा से संबंधित कार्यक्रम का सफल आयोजन किया गया|  सफल बालिका समाज सेवी संस्था की अध्यक्ष कुमारी प्राची साहू व ग्राम जंजगिरी की सरपंच श्रीमती रेखा अजय चतुर्वेदी का कार्यक्रम में  सराहनीय योगदान रहा| 

कार्यक्रम के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुए कार्यक्रम की संयोजिका सहायक प्राध्यापक श्रीमती उषा साहू ने बताया महिलाओं के अधिकार, सम्मान  दिलाने के लिए समाज को जागरूक करना ,नागरिक जागरूकता दिवस, महिला और लड़कियों का दिवस| महिलाओं को उनके अधिकारों व कर्तव्यों के प्रति जागरूक करना| साथ ही महिलाओं को बहुत ही कम लागत में वेस्ट मटेरियल से सजावटी सामान बना के हम अपना व परिवार को किस तरह सशक्त करते हैं| इस विषय पर जानकारी दी| साथ ही अंर्तराष्ट्रीय महिला दिवस की शुभकामनाएं समस्त ग्रामवासियों एवं सफल बालिका समाज सेवी संस्था के सदस्यों को दी|


सफल बालिका समाज सेवी संस्था ग्राम जंजगिरी की अध्यक्ष कुमारी प्राची साहू ने बताया कि गांव की छोटी -छोटी बालिकाओं को साथ लेकर ग्राम सरपंच श्रीमती रेखा अजय चतुर्वेदी के सहयोग से इस संस्था का गठन तीन माह पूर्व किया गया| उन्होने बताया हमारी संस्था ग्राम सरपंच श्रीमती रेखा अजय चतुर्वेदी के सहयोग से महिलाओं के उत्थान के लिए कार्य करते हैं उन्हें अपने अधिकारों व कर्तव्यों की जानकारी प्रदान  की जाती है| 

ग्राम जंजगिरी की सरपंच श्रीमती रेखा अजय चतुर्वेदी ने कहा यह बहुत ही हर्ष का विषय है कि स्वरूपानंद महाविद्यालय की महिला प्रकोष्ठ व शिक्षा विभाग द्वारा आयोजित सामुदायिक शिविर के माध्यम से ग्राम जंजगिरी में बालिका शिक्षा, स्वच्छता ,मतदाता जागरूकता ,महिला सशक्तिकरण, आत्म सुरक्षा व अनुपयोगी वस्तुओं से कैसे हम सजावटी वस्तु बनाकर अपने घरों को सजा सकते हैं ,साथ ही आय का साधन भी  बना सकते हैं | महिलाओं को उनके अधिकारों व कर्तव्यों की जानकारी दी गई जो कि ग्राम वासियों के लिए बहुत ही लाभदायक रहा| इस प्रकार का सहयोग हमें भविष्य में भी स्वरूपानंद महाविद्यालय से प्राप्त होती रहेगी| इसी विश्वास के साथ आप सभी विद्यार्थियों व शिक्षकों को विविध आयोजनों के लिए धन्यवाद |


बीएड के विद्यार्थियों चुनिता व रोमिका मनकर द्वारा सफल बालिका समाजसेवी संस्था के सदस्यों एवं ग्रामीण महिलाओं के लिए आत्म सुरक्षा के लिए लघु नाटिका  "अपनी सुरक्षा अपने हाथ" विषय पर आधारित अपनी सुरक्षा कैसे करें के माध्यम से बताया गया कि यदि आप सड़क पर जा रहे हैं| कोई आपका हाथ पकड़ ले या आपका दुपट्टा पीछे से खींचे या अश्लील हरकत करें तब आप अपनी सुरक्षा कैसे ,अपने पास की वस्तुओं जैसे हेयर पिन, पेन, बोतल ,दुपट्टा ,छतरी का प्रयोग करके कर सकते हैं| साथ ही अपने हाथ ,पैर व सिर का प्रयोग कर गलत हरकत करने वालों से बच सकते हैं |


बीएड विद्यार्थी दीपशिखा ने घर में रखी हुई खाली बोतल को पेंट करने के अलग-अलग तरीके (जैसे  अलग अलग रंग के पेंट से आकृति बना कर, धान के पैरा डोरी को चिपका कर, रंग कर सुंदर बना सकते है) बताएं जिससे कि हम उस में छोटे-छोटे पौधे लगाकर अपने घर को सजा सकते हैं  इसी क्रम मे उन्हे पेपर से आकर्षक लैम्प बनाना सिखाया गया| इसमें बहुत ही कम खर्च आता है और एक बेकार पड़ी हुई वस्तु को सजावटी वस्तु के रूप में हम आसानी से परिवर्तित कर सकते हैं| साथ ही स्वरोजगार को अपनाकर अन्य व्यक्तियों को भी रोजगार प्रदान कर सकते हैं |


महाविद्यालय के कार्यकारी अधिकारी डॉ दीपक शर्मा ने सभी अध्यापकों व विद्यार्थियों को शुभकामनाएं दी और कहा इस तरह के कार्यक्रम द्वारा हम बहुत ही आसानी से जागरूकता का प्रचार-प्रसार कर सकते हैं|

महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने अंर्तराष्ट्रीय महिला दिवस की बधाई देते हुए कहा कि महिलाएं खेती किसानी से लेकर आसमान में हवाई जहाज उडाकर देश की सेवा कर रही है| महिलाएं सृजनकर्ता है किसी भी समान का बेहतर उपयोग कैसे किया जाये यह महिलाएं बखूबी जानती है। महाविद्यालय द्वारा आत्मसुरक्षा और उद्यमिता प्रशिक्षण से जंजगीरी की बेटिया सशक्त होंगी।  महाविद्यालय की उप प्राचार्य डॉ. अज़रा हुसैन ने समस्त ग्रामवासियों को महिला दिवस की बधाई देते हुए कहा आज हम सभी जानते हैं कि दुनिया महिलाओं के बिना नहीं चल सकती | यह उनके प्रयासों की सराहना करने का दिन है | बड़े और छोटे संगठन महिलाओं को यह दिखाने के लिए एक साथ आते हैं की वे आज के समाज में कितने मूल्यवान हैं |

कार्यक्रम की संयोजिका सहा.प्रा.श्रीमती उषा साहू ने  समस्त ग्रामवासी एवं सफल बालिका समाजसेवी संस्था के सभी सदस्यों का धन्यवाद दिया, जिनके सहयोग से कार्यक्रम सफलतापूर्वक संपन्न हुआ| साथ ही लघु नाटिका के मंचन में संस्था की छोटी-छोटी बालिकाओं का भी सहयोग मिला ,जो कि बहुत ही सराहनीय रहा| इस कार्यक्रम में शिक्षा विभाग के समस्त प्राध्यापक डॉ पूनम निकुंभ डॉ दुर्गावती मिश्रा ,डॉ मंजूषा नामदेव ,डॉ मंजू कनौजिया, डॉ पूनम शुक्ला, डॉ अभिलाषा शर्मा उपस्थित थे |