सेंट थॉमस कॉलेज भिलाई द्वारा कैरियर विकल्प के रूप में सिविल सेवा पर ई-टॉक आयोजित

 

भिलाई।

असल बात न्यूज़।।

सेंट थॉमस कॉलेज के सिविल सर्विसेज एस्यिरेन्ट क्लब ने कैरियर विकल्प के रूप में सिविल सेवा पर एक ई-टॉक का आयोजन किया। कार्यक्रम के मुख्य वक्ता और अतिथि वक्ता  विनय सिंह (निदेशक तेजस आईएएस अकादमी भिलाई) और नव चयनित डिप्टी कलेक्टर, छत्तीसगढ़ सुश्री प्राची ठाकुर थे। कार्यक्रम में  डॉक्टर जोसेफ मार डायनोशियस (कोलकाता महानगर के डायोसिज और प्रबंधक बिशप), सेंट थॉमस कॉलेज डायसेशन शिक्षा अधिकारी और प्रशासक वेरी रेवरेन्ट एंड फादर डॉ.जोशी वर्गीस एवं प्राचार्य डॉक्टर एम जी रोईमोन उपस्थित थे।

 प्रारंभ में डॉ शिजा वर्की अतिरिक्त प्रमुख स्नातकोत्तर वाणिज्य विभाग और प्रकोष्ठ के संयोजक द्वारा स्वागत भाषण दिया गया उन्होंने सिविल सेवा परीक्षा  के सबसे चुनौतीपूर्ण होने के बावजूद भी लोक सेवा में नियुक्ति के सपने को संजोने वाले लाखों उम्मीदवारों से संबंधित तथ्यों को साझा किया उन्होंने स्पष्ट किया कि छात्रों के लिए समय ही एकमात्र वास्तविक पूंजी है और इसका विवेकपूर्ण निवेश अंततः उनके सपनों को साकार कर सकता है कार्यक्रम के मुख्य वक्ता श्री विनय सिंह ने प्रतिभागियों को सिविल सेवा परीक्षा के बारे में जानकारी दी जिसका आयोजन प्रतिवर्ष लोक सेवा आयोग द्वारा किया जाता है एवं जिसके प्रीलिम्स, मेंस और साक्षात्कार के तीन अलग-अलग चरणों में उम्मीदवारों के ज्ञान और समग्र क्षमताओं का मूल्यांकन  होता है। इसके अलावा उन्होंने वर्णनात्मक परीक्षा के लिए रणनीति तैयार करने के बारे में चर्चा की जिसमें  सात सैद्धांतिक पेपर शामिल है और साक्षात्कार ओं में अच्छे प्रदर्शन हेतु मूल्यवान सुझाव दिए।

 अतिथि अध्यक्ष सुश्री प्राची ठाकुर ने अपना सफलता मंत्र साझा करते हुए छात्रों से दृढ़ संकल्प और परिश्रम के साथ अपने सपनों को पूरा करने का आग्रह किया। सत्र के अंत में वक्ताओं ने छात्रों की शंकाओं और दुविधा को दूर किया और परीक्षा की तैयारी वैकल्पिक विषयों का चयन प्रदर्शन के दबाव से निपटने और अपने लक्ष्यों की प्राप्ति पर एकाग्र चित्त होने से संबंधित प्रश्नों के व्यवहारिक उत्तर दिए । इस अवसर पर सिविल सर्विसेज   एस्यि रेंट क्लब के आयोजक समिति के सभी सदस्य उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन डॉक्टर सुजाता कोले सहायक प्राध्यापक स्नातकोत्तर अंग्रेजी विभाग ने किया और धन्यवाद ज्ञापन डॉ अपर्णा सहायक प्राध्यापक स्नातकोत्तर अर्थशास्त्र विभाग द्वारा किया गया।