संभागायुक्त श्री कावरे को किसानों ने भीगा हुआ धान नहीं खरीदने की समस्या से अवगत कराया

 पाटन दुर्ग।

 असल बात न्यूज़।। 

संभागायुक्त महादेव कावरे से आज पाटन में बारिश से भीग कर लाल हो जाने के चलते उनका धान नहीं खरीदे जाने से प्रभावित परेशान किसानों ने  मुलाकात की तथा उन्हें अपनी समस्याओं से अवगत कराया और पूरा धान खरीदने का  निर्देश देने का आग्रह किया। संभागायुक्त श्री कावरे ने प्रभावित किसानों की पूरी बातें सुनी है और उन्हें आश्वासन दिया है।इस दौरान यहां पाटन के तहसीलदार भी उपस्थित थे। 

उल्लेखनीय है कि इस बार पूरे छत्तीसगढ़ में दिसंबर महीने से अभी तक तीन चार बार बारिश हुई है। इससे खेती किसानी भी काफी प्रभावित हुई है और किसानों का धान जो खलिहान में पड़ा था, घर के आंगन में पड़ा था भीग गया है। धान भीग जाने से किसानों को काफी नुकसान हुआ है और उनका धान खरीदा नहीं जा रहा है। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार पाटन सोसाइटी में भी बड़ी संख्या में किसान ऐसा ही भीगा हुआ धान भी  बेचने के लिए लेकर पहुंच रहे हैं। सोसाइटी में इस धान को खरीदने से मना किया जा रहा है। धान भीग कर लाल हो गया है तथा उससे लाल चावल निकलने की ही आशंका है जिसकी वजह से सोसाइटी के द्वारा इसे लेने से मना किया जा रहा है। सोसाइटी प्रबंधकों का कहना है कि लाल चावल, राइस मिलर्स उठाते नहीं है इससे सोसाइटी को नुकसान की आशंका है।

इस हालत से परेशान किसानों ने अपनी समस्या से संभागायुक्त श्री कावरे को अवगत कराया है। पाटन सोसाइटी में किसान प्रतिदिन बड़ी मात्रा में ऐसा भीगा हुआ धान बेचने के लिए पहुंच रहे हैं। आज भी करीब 9, 10 किसान, लगभग 200 क्विंटल ऐसा ही धान लेकर यहां बेचने के लिए पहुंचे हैं। श्री कावरे आज आकस्मिक निरीक्षण पर पाटन क्षेत्र में पहुंचे थे। उन्होंने यहां सोसाइटी में धान की खरीदी तथा धान के उठाव की स्थिति के बारे में भी जानकारी ली। श्री कावरे ने इस बारे में स्थानीय तहसीलदार को आवश्यक कार्रवाई के लिए निर्देशित किया है।