सांसद विजय बघेल के प्रयासों से दुर्ग लोकसभा क्षेत्र में जल जीवन मिशन के अरबों रुपए के कार्य स्वीकृत , बड़ी संख्या में कार्य पूर्ण, लोगों को घर में मिलने लगा है शुद्ध पेयजल

 

दुर्ग।

असल बात न्यूज़।।

दुर्ग लोकसभा क्षेत्र में जल जीवन मिशन के कार्य अब तेजी से पूरे हो रहे हैं। क्षेत्र के सांसद विजय बघेल के प्रयासों से इस योजना के अरबों रुपए के कार्य स्वीकृत हुए हैं। जल जीवन मिशन योजना के तहत हर घर में नल कनेक्शन देकर शुद्ध पेयजल पहुंचाने का काम किया जा रहा है। इससे पानी के संकट को दूर करने का काम हो रहा है। सांसद विजय बघेल ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में देश में अब उस समस्या को खत्म करने का प्रयास किया जा रहा है जिससे हम बरसों से जूझ रहे थे और जिस के निराकरण की ओर कभी किसी ने ध्यान नहीं दिया। 

सांसद विजय बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ के लगभग सभी इलाके आज तक गंभीर पेयजल समस्या से जूझते रहे हैं। यहां के गांव गांव में लोगों को पेयजल के लिए कई किलोमीटर दूर तक भटकना पड़ता है। शुद्ध पेयजल आम आदमी की मूलभूत जरूरत है। लेकिन इस समस्या का निराकरण के लिए कभी गंभीरतापूर्वक प्रयास नहीं हुआ। अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने आम लोगों की परेशानी को समझते हुए इस समस्या के निदान के लिए सकारात्मक कदम उठाया है और छत्तीसगढ़ के लिए भी अरबों रुपए के कार्य स्वीकृत किए गए हैं। 

सांसद विजय बघेल ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के निर्देशानुसार जल जीवन मिशन की योजना के तहत हर घर में शुद्ध पेयजल पहुंचाने नल कनेक्शन देने का काम शुरू हो गया है। इसमें कई कार्य पूर्ण कर लिए गए है और लोगों के घरों तक शुद्ध पेयजल पहुंचना शुरू हो गया है। उन्होंने कहा कि इस योजना को जिस विस्तार और गंभीरता के साथ शुरू किया गया है उसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की दूरदर्शी सोच की झलक दिखती है।

उन्होंने बताया कि जल जीवन मिशन की विभिन्न योजनाओं के तहत दुर्ग लोकसभा क्षेत्र में एक अरब से अधिक के काम के लिए कार्यादेश  जारी किया जा चुका है एवं इससे कई काम पूरे भी कर लिए गए हैं। योजना का काम पूरा हो जाने से गांव गांव में लोगों को शुद्ध पेयजल मिलने लगा है और शुद्ध पेयजल के लिए लोगों को अब भटकना नहीं पड़ता। 

दुर्ग जिले में प्रत्येक ब्लॉक में हुए हैं जल जीवन मिशन के करोड़ों रुपए के काम

 उन्होंने बताया कि वर्ष 2022 तक क्षेत्र में धमधा ब्लॉक में तुमकाखुर्द, नवागांव, घसरा, भिमोरी, एचडीपीई पाइप लाइन, कपसदा, पंचदेवरी , भटगांव, सिमरिया, अकोला, खपरी, बिरेभाट ,मुर्रा,ढाबा, मड़ियापार, भरनी, अछोटी, काडरका, गिरहोला, नरदहा, गोढ़ी,मे रिट्रोफिटिंग वर्क,    ब्लॉक दुर्ग में खपरी, डांडेसरा, बोरीगरगा,चिरपोटी,अरसनारा, बासिन, मचंदूर, निकम, अलबरस, कोनारी, ,विनायकपुर, झिंझरी, भरदा, उमरपोटी, बोराई, ढाबा, में रिट्रोफिटिंग वर्क,  पाटन ब्लॉक में, सांकरा, चुनकट्टा, ढोर, तर्रा, अचानकपुर, देवादा, करसा, धौरभाठा,मटिया,सिकोला, गाटापार, सानतरा, खोला, भैंसबो,  अरस नारा, दैमर, रवेली, चुलगहन,आगेेसरा,भरनी,सोनपुर, औंधी, भरर, बोरेंदा,रानीतराई, चांगोरी बठेना, पहंदा,सांकरा,, छोटा फेकारी मुड़ापार, नेपानी, मगरघटा, गोंडपेडरी, लोहारसी, सावनी, पंदर, घोरारी, तराईघाट, जामगांव झीट, उफरा ,मे रिट्रोफिटिंग वर्क किए गए हैं। इसमें कई गांव में सोलर एनर्जी से पंप चालू कर स्थल नल जल योजना पर भी काम शुरू किया गया है। योजनाओं पर सतत काम चालू है।