ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर को सीधी आर्थिक मदद देने वाला छत्तीसगढ़ बना देश का पहला राज्य

 

*सांसद श्री राहुल गांधी ने छत्तीसगढ़ को दी चार ऐतिहासिक सौगातें

*‘राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना’ का किया शुभारंभ

*3.55 लाख भूमिहीन कृषि मजदूर परिवारों के खाते में पहली किश्त की राशि अंतरित की

*भूमिहीन कृषि मजदूर परिवारों को तीन किश्तों में मिलेगी सालाना 6 हजार रूपए की आर्थिक मदद: एक वर्ष में मिलेगी कुल 212 करोड़ रूपए की सहायता

*हितग्राहियों को सहायता राशि के चेक प्रदान किए

*गांधी ‘सेवाग्राम’ और ‘छत्तीसगढ़ अमर जवान ज्योति’ की रखी आधारशिला

*राजीव युवा मितान क्लब योजना किया शुभारंभ


रायपुर ।

असल बात न्यूज़।।

 लोकसभा सांसद श्री राहुल गांधी ने आज राजधानी रायपुर के साईंस कॉलेज मैदान में छत्तीसगढ़ शासन की महत्वाकांक्षी ‘राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना’ और ‘राजीव युवा मितान क्लब योजना’ का शुभारंभ किया साथ ही महात्मा गांधी की स्मृतियों को संजोने के लिए नवा रायपुर में स्थापित किए जाने वाले ‘सेवाग्राम’ तथा ‘छत्तीसगढ़ अमर जवान ज्योति’ की आधारशिला रखी। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल, मंत्रिमंडल के सभी सदस्यों सहित बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधिगण और गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। 


इस अवसर पर बोलते हुए सांसद  राहुल गान्धी ने कहा कि -वो सोचते हैं कि हिंदुस्तान का गरीब डरता है,  पर हिंदुस्तान का गरीब किसी से नहीं डरता है। उन्होंने कहा कि  लोकसभा में कल उन्होंने कहा था कि हिंदुस्तान के सामने 2 से 3 बड़ी चुनौतियां है ।सबसे पहला भयंकर खतरा आज एक देश को दो देशों में बांटा जा रहा है ।देश के भीतर दो नए देश बनाए जा रहे हैं ।एक देश कुछ सौ अरबपतियों का जिसमें धन और तकनीक है,  दूसरा देश जिसमें हमारे प्यारे देश वासियों का है, करोड़ो लोगों का, गरीबों का देश है । उन्होंने कहा कि जो ये बात कहते हैं 70 साल में क्या हुआ है ये हमारे किसानों का, मजदूरों का, कारीगरों का अपमान करते हैं ।हिंदुस्तान की तरक्की गरीब,  मजदूर,  किसानों की देन है। 

इस अवसर पर बोलते हुए मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने कहा- 2 लाख पशुपालकों से 61 लाख टन गोबर की खरीदी की, गोबर विक्रेताओं को 122 करोड़ रुपए की राशि का भुगतान किया गया है ।गोधन न्याय योजना से छत्तीसगढ़ जैविक खेती की ओर भी बढ़ रहा है ।

वनवासी भाई बहन वनोपज का संग्रहण कर रहे और उसका वैल्यू एडिशन भी कर रहे हैं ।बस्तर अब नक्सलगढ़ नहीं, डेनेक्स ब्रांड के लिए जाना जाता है ।स्व सहायता समूह के माध्यम से लगातार रोजगार दिया जा रहा है ।छग के उत्पाद देश के कोने कोने में पहुंच रहे हैं।दंतेवाड़ा का डेनेक्स ब्रांड देश विदेश में पसंद किया जा रहा ।13 हजार से अधिक राजीव युवा मितान क्लब,  हर क्लब को प्रति वर्ष 1 लाख रूपए मिलेंगे ।"25-25 हजार रुपए के चार किस्तों में उन्हें राशि दी जाएगी।