पूर्व मंत्री व विधायक बृजमोहन अग्रवाल तथा अजय चंद्राकर सहित विधायक दल ने कबीर आश्रम से लगे विवादित भवन का किया निरीक्षण , कई अनियमितताएं सामने आने की जानकारी मिली


0 विवादित बिल्डिंग में कई स्तर पर अवैध निर्माण, कबीर आश्रम की नींव भी हो रही प्रभावित


रायपुर ।

असल बात न्यूज़।।

 भाजपा विधायक एवं पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल, विधायक अजय चंद्राकर व विधायक शिवरतन शर्मा ने आज कबीर पंथ के संत प्रकाशमुनि नाम साहेब के सिविल लाइन, कटोरा तालाब स्थित कबीर आश्रम और उससे लगे हुए विवादित भवन का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान कबीर आश्रम की छूटी हुई जमीन एवं स्वीकृत नक्शे के विरुद्ध निर्माण पाया। विवादित भवन में कई स्तरों पर अवैध अतिक्रमण पाया गया। विधायकों के निरीक्षण के दौरान निगम के अधिकारी भी उपस्थित थे। 

विधायकों ने अपने निरीक्षण के दौरान पाया कि विवादित भवन जिसका छज्जा आश्रम के ऊपर आ गया था, उसे एक तरफ से हटा दिया गया है लेकिन अभी भी विवादित भवन की नींव आश्रम से सटी हुई है, जिससे आश्रम को नुकसान हो सकता है। वैसे ही आश्रम व विवादित निर्माण के बीच में 8 फिट की सड़क थी, उस पर कब्जा कर लिया गया है। इसके अलावा भवन निर्माण के नक्शे के अनुरूप निर्माण न हो कर शतप्रतिशत जमीन में निर्माण कराया जा रहा है। जबकि कानूनन उपलब्ध जमीन पर 65 प्रतिशत में ही निर्माण किया जा सकता है। विधायकों ने पाया कि भवन के चारों तरफ 5-5 मीटर का अतिरिक्त निर्माण हुआ है साथ ही एफएआर में भी गंभीर त्रुटि की गई है। उक्त बिल्डिंग के निर्माण में कब-कब निरीक्षण हुआ, उसके अवैध निर्माण के लिए कब-कब क्या कार्रवाई हुई इसके बारे में कोई जानकारी नहीं मिली। जबकि आश्रम के संचालक प्रशांत शर्मा ने विधायकों को बताया कि आज ही नगर पालिक निगम के आयुक्त को अवैध निर्माण की शिकायत लिखित में की गई है।  

बृजमोहन अग्रवाल ने निरीक्षण स्थल पर मीडिया में कहा कि सरकार के संरक्षण में  अवैध निर्माण किए जा रहे हैं। सत्ता के संरक्षण में बड़े लोगों के इस अवैध निर्माण पर प्रशासन मौन है। अगर गरीब का यह कार्य होता तो प्रशासन बुलडोजर चला चुका होता। पहले ये आम आदमी की जमीने हड़पते थे, अब संतों की जमीन भी गुंडागर्दी से छीनने की कोशिश कर रहे हैं। यह अराजकता की स्थिति है लगता है सरकार ने अपने समर्थन में कांग्रेसी नेताओं को अवैध निर्माण की खुली छूट दे दी है। 

इस अवसर पर विधायक शिवरतन शर्मा ने कहा कि सैंय्या भय कोतवाल तो डर काहे का। स्थल में 8 फिट की सड़क ही कब्जा कर ली गई है। वहीं विधायक अजय चंद्राकर ने कहा कि नादिर शाह ने दिल्ली में इतिहास की सबसे बड़ी लूट की थी उससे भी बड़ी लूट छत्तीसगढ़ में और रायपुर शहर में चल रही है।

इसी मामले पर शाम को विधायक दल ने जिलाध्यक्ष से मिल कर वस्तुस्थिति से अवगत कराते हुए कहा कि 7 दिन के अंदर पूरे अतिक्रमण एवं अवैध निर्माण को ध्वास्त करें, जिससे लोगों में कानून के राज के प्रति विश्वास पैदा हो सके, रायपुर शहर एवं कबीर पंथ के अनुयायियों की नाराजगी दूर हो सके अन्यथा सड़क पर उतर कर सड़क की लडाई लड़ने हेतु हम बाध्य होंगे। जिलाध्यक्ष से मिलने के दौरान भाजपा नेता डॉ.सलीम राज तथ संजू नारायण सिंह उपस्थित थे। 

विधायकों के आज के निरीक्षण के दौरन उनके साथ भाजपा नेता ललित जैसिंघ, अनुराग अग्रवाल, मुकेश पंजवानी, नारायण कुर्रे, मनीष साहू, सिद्धांत शर्मा, गणेश गुप्ता, अजय रहेजा तथा राहुल चन्दनानी के साथ भाजपा सिविल लाइन के भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित थे।