बेमेतरा और कबीरधाम के प्रभारी मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव ने कोरोना से निपटने की तैयारियों की समीक्षा की

 

*दोनों जिलों के सामाजिक संगठनों, व्यापारियों, समाज सेवियों और जनप्रतिनिधियों से चर्चा कर कोरोना नियंत्रण में सहयोग का किया आग्रह

*प्रदेश में अभी लॉक-डाउन लगाने की नौबत नहीं – श्री टी.एस. सिंहदेव


रायपुर.।

असल बात न्यूज़।।

 पंचायत एवं ग्रामीण विकास, स्वास्थ्य तथा बेमेतरा एवं कबीरधाम जिले के प्रभारी मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव ने आज दोनों जिलों के अधिकारियों से वीडियो कॉन्फ्रेंस से बैठक कर कोरोना नियंत्रण और रोकथाम के लिए किए जा रहे उपायों की समीक्षा की। उन्होंने पंचायत एवं नगरीय निकाय के जनप्रतिनिधियों, व्यापारियों, सामाजिक संगठनों तथा समाज सेवियों से चर्चा कर उनसे कोरोना नियंत्रण एवं आवश्यक व्यवस्था बनाए रखने में सहयोग का आग्रह किया। उन्होंने लोगों को कोविड अनुरूप व्यवहार के प्रति जागरूक करने की अपील की और कहा कि नागरिक भीड़-भाड़ वाली जगहों में जाने से बचें। मास्क का उपयोग और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। अति आवश्यक होने पर ही घर से निकलें। बेमेतरा के विधायक श्री आशीष छाबड़ा भी बैठक में शामिल हुए।


श्री सिंहदेव ने दोनों जिलों के साथ अलग-अलग आयोजित ऑनलाइन बैठक में कहा कि प्रदेश में अभी लॉक-डाउन लगाने की नौबत नहीं है। आर्थिक, व्यावसायिक और व्यापारिक गतिविधियां सतर्कता, सावधानी और कोविड अनुकूल व्यवहारों के पालन के साथ जारी रहेंगी। उन्होंने दोनों जिलों के वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देशित किया कि कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए  जमाखोरी व मुनाफाखोरी को बढ़ावा न मिले। किसी भी वस्तु का कृत्रिम संकट पैदा न हो, इसका खाद्य विभाग विशेष ध्यान रखें। श्री सिंहदेव ने बैठक में जनप्रतिनिधियों, व्यापारियों, सामाजिक संगठनों तथा समाज सेवियों से अनुरोध किया कि वे कोरोना के नियंत्रण और इससे जुड़ी व्यवस्थाएं बनाने में जिला प्रशासन का सहयोग करें। कोरोना संक्रमण की पहली और दूसरी लहर के दौरान आप लोगों ने दिल खोलकर सहयोग प्रदान किया था जिससे इस पर नियंत्रण और रोकथाम में मदद मिली थी। 


स्वास्थ्य मंत्री श्री सिंहदेव ने कोरोना संक्रमण के प्रभावी रोकथाम के लिए मिशन मोड पर कार्ययोजना बनाकर त्वरित कार्यवाही के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कबीरधाम सरहदी जिला है। वहां देश के कई राज्यों से नागरिक पर्यटक के रूप में भी आते हैं। प्रदेश के अन्य जिलों के श्रमिकों का भी आना-जाना रहता है। इसके लिए जिला प्रशासन को बहुत सतर्क रहने की जरूरत है। उन्होंने जिले में प्रवेश करने वाले सभी अंतर्राज्यीय बसों के यात्रियों की कोरोना जांच अनिवार्य रूप से करने कहा। बैठक में कलेक्टर श्री रमेश कुमार शर्मा ने बताया कि कबीरधाम जिले के तीनों प्रवेश मार्गों में कोरोना की जांच अनिवार्य किया गया है। उन्होंने जिले में कोरोना नियंत्रण के लिए किए जा रहे उपायों की जानकारी दी।

श्री सिंहदेव ने बैठक में कहा कि संक्रमण से बचाने के लिए कोरोना वैक्सीन बहुत कारगर है। जिन लोगों ने अब तक टीका नहीं लगाया है, उनके टीकाकरण में तेजी लाएं। उन्होंने दोनों जिलों में आश्रमों, छात्रावासों और स्कूलों को क्वारेंटाइन सेन्टर या कोविड केयर सेंटर के रूप में चिन्हांकित करने कहा। श्री सिंहदेव ने सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों और उप स्वास्थ्य केन्द्रों को मिशन-मोड पर रखते हुए आवश्यक तैयारियां सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। बैठक में दोनों जिलों के कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक और मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी सहित जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।