राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी आयोग का कार्यकाल को तीन साल के लिए बढ़ा

 नई दिल्ली।

असल बात न्यूज़।।

राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी आयोग (एनसीएसके) का कार्यकाल आगामी 3 वर्षों के लिए बढ़ा दिया गया है।प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने आज हुई बैठक में राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी आयोग (एनसीएसके) के कार्यकाल को 31.3.2022 से आगे तीन साल के लिए बढ़ाने को मंजूरी दे दी है।

इस आयोग के गठन से सफाई कर्मचारियों को फायदा मिल रहा है। हाथ से मैला ढोने वालों सफाई कर्मियों का उन्मूलन किया जा रहा है। योजना का आगामी 3 वर्षों तक विस्तार किए जाने पर इसके क्रियान्वयन में  लगभग 43.68 करोड़ रुपये खर्च होगा। देश में अभी भी कई स्थानों पर हाथ से मैला ढोने वाले लोग काम कर रहे हैं जिनका पुनर्वास किया जाना जरूरी है।


प्रमुख लाभार्थी सफाई कर्मचारी होंगे और देश में NCSK के बाद से 31.3.2022 के बाद 3 और वर्षों के लिए हाथ से मैला ढोने वालों की पहचान की जाएगी। 31.12.2021 को एमएस अधिनियम सर्वेक्षण के तहत पहचाने गए मैनुअल स्कैवेंजर्स की संख्या 58098 है।


          NCSK की स्थापना वर्ष 1993 में NCSK अधिनियम 1993 के प्रावधानों के अनुसार शुरू में 31.3.1997 तक की अवधि के लिए की गई थी। बाद में अधिनियम की वैधता को शुरू में 31.03.2002 तक और उसके बाद 29.2.2004 तक बढ़ा दिया गया था। एनसीएसके अधिनियम 29.2.2004 से प्रभावी नहीं रहा। उसके बाद एनसीएसके के कार्यकाल को समय-समय पर प्रस्तावों के माध्यम से एक गैर-सांविधिक निकाय के रूप में बढ़ाया गया है। वर्तमान आयोग का कार्यकाल 31.03.2022 तक है।