होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों की होगी आकस्मिक जांच, नियमों के उल्लंघन पर कार्रवाई और जुर्माना लगेगा

 


कलेक्टर श्रीमती साहू ने जिले में कोविड नियंत्रण के प्रयासों की समीक्षा की, वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये अधिकारियों से ली जानकारी

कोरबा ।

असल बात न्यूज़।।

पिछले तीन-चार दिनों में जिले में अचानक बढ़े कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए जिला प्रशासन ने अब सख्त कार्रवाई के संकेत दिए हैं। होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों की अब प्रशासन की टीम द्वारा आकस्मिक जांच की जायेगी। होम आइसोलेशन के निर्धारित नियमों, कंटेनमेंट प्रोटोकॉल का पालन जैसे विषयों पर प्रशासन की टीम मौके पर जाकर तकसीद करेगी। नियमों का उल्लंघन पाये जाने पर संबंधित व्यक्ति और उसके परिजनों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई तथा जुर्माना किया जायेगा।

 जिले में बढ़ते कोरोना मरीजों को देखते हुए कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने आज वीडियो कांफेंसिंग के माध्यम से प्रशासनिक अधिकारियों और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों तथा डाक्टरों के साथ मीटिंग की। मीटिंग में उन्होंने कोविड संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए होम आइसोलेशन के नियमों को सख्ती से पालन कराने और आमजनों से कोविड प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन कराने पर विशेष जोर दिया। श्रीमती साहू ने इसके साथ ही गंभीर कोविड मरीजों के ईलाज के लिए सीपेट और ईएसआईसी कोविड अस्पतालों में सभी तैयारियां और इंतजाम अगले दो दिनों में पूरे करने के निर्देश मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को दिए। वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिये हुई इस बैठक में नगर निगम आयुक्त श्री कुलदीप शर्मा, प्रभारी एडीएम श्री सुनील नायक, सीएमएचओ डॉ.बी.बी.बोडे सहित चारों राजस्व अनुभागों के एसडीएम, जनपद पंचायतों के सीईओ, बीएमओ और अन्य अधिकारी भी शामिल हुए।
बैठक मंे कलेक्टर ने निर्देशित किया कि होम आइसोलेशन में रहने वाले लोगों और उनके परिजनों का कंटेनमेंट जोन से बाहर निकलना पूरी तरह सख्ती से प्रतिबंधित किया जाये। होम आइसोलेशन में रहने वाले कोविड मरीज या उनके परिजनों के घरों से बाहर निकलने या आइसोलेशन के नियमों का उलंघन करते पाये जाने पर कड़ी कार्रवाई करने और जुर्माना लगाने के भी निर्देश कलेक्टर ने अधिकारियों को दिए। कंटेनमेंट जोन में लोगों की जरूरत का सामान राशन, दूध, सब्जी आदि की नगरीय निकायों द्वारा घर पहुंच सेवा कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए सुनिश्चित की जायें। श्रीमती साहू ने यह भी निर्देशित किया कि गरीब परिवारों के होम आइसोलेशन में रहने वाले कोविड पाजिटिव व्यक्ति को पल्स आक्सीमीटर और थर्मामीटर भी उपलब्ध कराया जाये। कलेक्टर ने जोनवार-वार्डवार दल बनाकर होम आइसोलेशन में रह रहे कोविड मरीजों को जरूरी दवाईयों का वितरण करने के भी निर्देश अधिकारियों को दिए। उन्होंने शहर में बेवजह सड़कों और दुकानों के सामने भीड़ लगाने, मास्क नहीं लगाने, कोविड प्रोटोकॉल का पालन नहीं करने वाले लोगों पर भी सख्त कार्रवाई करने के निर्देश अधिकारियों को दिए।
श्रीमती साहू ने कांटेक्ट टेªसिंग तेज करने और सभी प्राईमरी कांटेक्ट्स की तत्काल जांच कराने एवं जांच रिपोर्ट आने तक उन्हे होमआइसोलेशन में रखने के निर्देश भी अधिकारियों को दिए। कलेक्टर ने तेजी से बढ़ते मरीजों के ईलाज के लिए इएसआईसी कोविड अस्पताल और सीपेट कोविड केयर सेंटर में ऑक्सीजन, बिस्तर, जरूरी दवाओं, जीवन रक्षक उपकरणों और डॉक्टर, नर्स तथा अन्य मानव संसाधन के लिए भी सभी तैयारियां आगामी दो दिनों में पूरी करने के निर्देश सीएमएचओ डॉ. बोडे को दिए। ग्रामीण क्षेत्रों में एक्टिव सर्वाइलेंस टीमों को सक्रिय करने और गांवों में होम आइसोलेशन में रहकर ईलाज करा रहे मरीजों की पूरी निगरानी करने के निर्देश भी कलेक्टर ने बैठक में दिए।
टीम भावना से करेंगे काम, तो हारेगा कोरोना- कलेक्टर श्रीमती साहू- बैठक में कलेक्टर ने तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए टीम भावना से काम करने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि अधिकारियों और कर्मचारियों के बीच आपसी समन्वय और समझ-बूझ से ही काम करके हम सब मिलकर कोरोना को हरा सकते हैं। उन्होंने कोविड से संक्रमित हुए अधिकारियों और कर्मचारियों को अपने स्वास्थ्य तथा परिजनों के स्वास्थ्य को भी ध्यान रखने को कहा है।