स्वरूपानंद महाविद्यालय में कला परिषद का गठन एवं अतिथि व्याख्यान

 भिलाई।

असल बात न्यूज़।।

 स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय हुडको भिलाई में कला परिषद का गठन किया गया । कार्यक्रम की मुख्य अतिथि जगतगुरु शंकराचार्य महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. वी सुजाता थी।कार्यक्रम की अध्यक्षता महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ हंसा शुक्ला ने की। इस अवसर पर विद्यार्थियो के व्यक्तिव विकास विषय पर अतिथि व्याख्यान का आयोजन किया गया। 

कार्यक्रम के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुए डॉ. सावित्री षर्मा ने कहा कि परिषद गठन का उद्देश्य विद्यार्थियों को शैक्षणिक एवं गैर शैक्षणिक गतिविधियों में अपनी प्रतिभा निखारने का अवसर प्रदान करना है। इसके माध्यम से विद्यार्थियों में संगठन की भावना को मजबूत बनाना, नेतृत्व क्षमता एवं उत्तर दायित्व निर्वहन का विकास करना है। परिषद में कार्य करते हुए विद्यार्थियों को रचनात्मक एवं सकारात्मक कार्य करने का प्रशिक्षण भी प्राप्त होता है।

कार्यक्रम की मुख्य अतिथि डॉ. वी सुजाता प्राचार्य, जगतगुरु शंकराचार्य कॉलेज, हुडको भिलाई ने व्याख्यान में कहा कि विद्यार्थी अपने व्यक्तित्व का विकास कैसे करें। उन्होंने  कहा वर्तमान समय में सफलता पाने का मूल मंत्र है व्यक्तित्व विकास, उन्होने इस संदर्भ में आत्मविश्वास, टाइम मैनेजमेंट, संप्रेषण, सकारात्मक अभिवृत्ति, स्व मूल्यांकन, बॉडी लैंग्वेज इन सभी बिंदुओं को उदाहरण सहित विस्तारपूर्वक समझाया। उन्होंने कहा कि हमें अपने चिंतन, चरित्र, व्यवहार एवं दृष्टिकोण को इस प्रकार विकसित करना चाहिए, जिससे स्वयं की सकारात्मक छवि का निर्माण हो। इस अवसर पर विद्यार्थीयों ने प्रश्न पुछ कर अपनी जिज्ञासाओं का समाधान किया।

महाविद्यालय के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ दीपक शर्मा ने कहा कि विद्यार्थी जीवन, जीवन का स्वर्णिम काल है। अध्ययन के साथ.साथ समाज एवं देश हित के कार्यों में भी सहभागिता देनी चाहिए, उन्होंने नवनिर्वाचित पदाधिकारियों को बधाई दी एवं कर्तव्य बोध के लिए प्रेरित किया,

महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ हंसा शुक्ला ने कला परिषद के गठन की औपचारिक घोषणा की एवं पदाधिकारियों को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। उन्होंने अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में कहा कि विद्यार्थियों को अपने दायित्व का निर्वाह पूरी निष्ठा के साथ करना चाहिए। परिषद के माध्यम से वर्ष भर संचालित होने वाली गतिविधियों में सहभागिता सुनिश्चित कर उन्हें सही मार्गदर्शन एवं उचित समायोजन क्षमता का विकास कर सकते हैं। उन्होने कहा कि जीवन के सभी क्षेत्रों में कला का महत्वपूर्ण स्थान है| अपने जीवन को खूबसूरत बनाना कला ही सिखाती है। अतः हमें अपने कलात्मक कार्यों के साथ-साथ इस बात पर भी गर्व होना चाहिए कि हम कला संकाय के विद्यार्थी हैं।

 नवनिर्वाचित पदाधिकारी इस प्रकार हैं. अध्यक्ष. प्रिया सोनी बीए तृतीय वर्ष, उपाध्यक्ष पृथ्वी सिंह राजपूत बीए द्वितीय वर्ष, सचिव शुभांगी सिंह बीए तृतीय वर्ष, सह सचिव अरिहंत गुप्ता बीए द्वितीय वर्ष, ट्रेजर ईशा गुप्ता बीए प्रथम वर्ष। सदस्य. काजल सिंह बीए तृतीय वर्ष, यशस्वी साहू बीए द्वितीय वर्ष, हर्ष वैष्णव बीए द्वितीय वर्ष, सुजीत कुमार बीए प्रथम वर्ष तान्या वाघमारे।

कार्यक्रम का सफल संचालन अंग्रेजी विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ संयुक्ता पाढ़ी द्वारा किया गया। कार्यक्रम को सफल बनाने में हिंदी विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ श्रीमती सुनीता वर्मा एवं ग्रंथपाल नीलिमा साहू का विशेष योगदान रहा। धन्यवाद ज्ञापन बीए तृतीय वर्ष की छात्रा प्रिया सोनी द्वारा किया गया। इस अवसर पर  सहायक प्राध्यापक डॉ मंजू कनौजिया, डॉ अभिलाशा शर्मा एवं कला संकाय की समस्त प्राध्यापिका उपस्थित थे।