बच्चों के समग्र विकास का कार्यक्रम आहन का सेंट थॉमस महाविद्यालय, भिलाई में उद्घाटन

 भिलाई।

असल बात न्यूज़।।

सेंट थॉमस महाविद्यालय, भिलाई ने बच्चों के समग्र विकास का कार्यक्रम आहन आरंभ किया| इस कार्य के लिए महाविद्यालय ने शासकीय प्राथमिक शाला रूआबांधा को गोद लिया| इस कार्यक्रम में छात्रों के लिए बहुत से कार्यक्रम तैयार किये गए| महाविद्यालय के कम्प्यूटर साइंस विभाग के प्राध्यापक बच्चों को कम्प्यूटर का आधारभूत ज्ञान देंगे|

अंग्रेजी विभाग द्वारा स्पोकन इंगलिश की जानकारी दी जाएगी जबकि मनोविज्ञान विभाग द्वारा बच्चों की रचनात्मक कलाओं का विकास किया जायेगा| पढ़ाई में सहायता करने के लिए इस कार्यक्रम में शिक्षा विभाग अपनी भूमिका अदा करेगा| आहन सेंट थॉमस मिशन द्वारा योजनाकृत विभिन्न परियोजनाओं में से एक है जो सेंट थॉमस महविद्यालय के स्वर्ण जयंती वर्ष के कार्यक्रमों का हिस्सा है| सेंट थॉमस मिशन की स्थापना सन 1972 में दूरदर्शी मेट्रोपोलिटन डॉ स्टेफानोस मार थियोडोशियस के सानिध्य में की गयी| उन्होंने अपने मार्गदर्शन में बहुत से संस्थान एवं परियोजनाओं का संचालन किया| 

आहन परियोजना का उद्घाटन ब्लॉक शिक्षा अधिकारी डॉ  के वी राव के द्वारा किया गया जिसकी अध्यक्षता हिस ग्रेस डॉ. जोसेफ मार डायनोशियस मेट्रोपोलिटन एवं मैनेजर बिशप सेंट थॉमस महाविद्यालय, भिलाई के द्वारा की गयी| इस अवसर पर सेंट थॉमस महाविद्यालय के प्रशासक रेवरेंट फादर डॉ जोशी वर्गीस, सेंट थॉमस महाविद्यालय, भिलाई  के प्राचार्य डॉ एम जी  रोईमोन एवं गणित विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ सुजा वर्गीस ने भी अपने विचार व्यक्त किये| सभी अतिथियों ने बच्चों को स्कूल बैग, नोट बुक्स, एवं अन्य स्टेशनरी सामान का वितरण भी किया| महाविद्यालय के भूतपूर्व छात्र श्री हिमांशु खंडेलवाल एवं श्री विकास त्रिपाठी ने इन सभी सामानों के लिए आर्थिक रूप से अपना योगदान दिया| प्राथमिक शाला की प्राचार्य श्रीमती सरिता मांडरे को एमओयू के दस्तावेज सौपें गए| स्वर्ण जयंती वर्ष में देखभाल करने वाले हाथों के रूप में आर्थिक रूप से कमजोर बच्चों के परिवारों को शुल्क में उपयुक्त छूट प्रदान करना इस प्रोजेक्ट का मुख्य उद्देश्य है| जिन बच्चों ने कोरोना के कारण अपने पालकों को खो दिया है एवं जो अपने व्ययों का भुगतान करने के लिए संघर्ष कर रहे हैं उन्हें सहायता देने के लिए महाविद्यालय ने सिस्टर एन स्मृति छात्रवृत्ति का आरंभ किया है| इसके अंतर्गत योग्य छात्रों को उनकी पूरी पढाई होने तक महाविद्यालय छात्रवृत्तिप्रदान करेगा|

 सिस्टर एन सेंट थॉमस मिशन की एक समर्पित सदस्य थी एवं उन्होंने लगभग 20 बालवाडियों एवं 15 टेलरिंग केंद्रों की देखरेख की जो महिलाओं को भिलाई में आर्थिक सहायता देने का कार्य करते थे| सिस्टर एन कैलाश नगर भिलाई स्थित एक अनौपचारिक शिक्षण संस्था जीवन ज्योति की भी मुख्य संरक्षक थी| उनका स्वर्गवास अप्रैल 2021 में कोरोना की दूसरी लहर के दौरान हुआ|  सेंट थॉमस महाविद्यालय के अलावा सिस्टर एन सेंट थॉमस मिशन की अन्य संस्थाओं से भी जुडी हुई थी|