तीसरी लहर की आशंका के मद्देनजर एलर्ट रहने के निर्देश, बाजारों और सार्वजनिक स्थलों पर होगी रैंडम टेस्टिंग

 

*-पहले और दूसरे डोज  लगाने 15 दिसंबर को  टीकाकरण महाभियान, कलेक्टर ने दिये तैयारियों के निर्देश

*-नवंबर में कोरोना की दर 0.26, दिसंबर में अब तक 0.46


दुर्ग। ।

असल बात न्यूज़।।

 कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने आज स्वास्थ्य विभाग की तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण को कमजोर करने के लिए व्यापक टेस्टिंग के साथ ही वैक्सीनेशन भी अहम है। वैक्सीनेशन की ड्राइव को बूस्ट करने महाभियान भी आयोजित होगा। यह 15 दिसंबर को आयोजित होगा। इसके लिए विभिन्न केंद्र बनाये जाएंगे। डोर डू डोर कैंपेन होगा।

 सभी से अपील होगी कि जिनका टीकाकरण नहीं हो पाया है, वे कोविड के जोखिम से बचने के लिए टीकाकरण करा लें। इस मौके पर कलेक्टर ने कोरोना संक्रमण की स्थिति की समीक्षा भी की। अधिकारियों ने बताया कि नवंबर माह में कोरोना की दर 0.26 प्रतिशत( दशमलव 26 प्रतिशत) थी, जो दिसंबर माह में अब तक 0.46 प्रतिशत ( दशमलव 46 प्रतिशत) है। कलेक्टर ने कहा कि कोरोना संक्रमण को रोकने सार्वजनिक स्थलों जैसे बाजारों में मोबाइल टीम पहुंचे और वहां टेस्टिंग करें। इसके साथ ही उन्होंने वैक्सीनेशन ड्राइव को भी तेज करने के निर्देश दिये। इस मौके पर होम आइसोलेशन मेडिकल प्रभारी डॉ. रश्मि भुरे ने भी कहा कि ट्रेसिंग बेहद अहम है और इसके बाद आइसोलेशन में रह रहे लोगों तक दवा पहुंचाना भी जरूरी है। साथ में स्टिकर आदि लगाने के कार्य की मानिटरिंग भी करते रहें। इस मौके पर एडीएम श्रीमती नूपुर राशि पन्ना, श्रीमती पद्मिनी भोई, निगम आयुक्त श्री प्रकाश सर्वे सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

*अभी तक 252 लोग विदेशों से लौटे-* अधिकारियों ने बताया कि विदेशों से लौटे लोगों को ट्रेस किया जा रहा है। अब तक 252 लोग विदेशों से लौटे हैं। इनमें से 29 लोगों को ट्रेस नहीं किया जा सका है। कुछ ने एड्रेस गलत दिया है। कलेक्टर ने ट्रेसिंग टीम को इस संबंध में लगातार मानिटरिंग करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि विदेशों से आने वाले जिन लोगों को होम क्वारंटीन किया गया है। उनके घरों में भी होम आइसोलेशन वाले घरों की तरह स्टीकर लगायें।

*जिला अस्पताल में होगी कोविड इलाज की विशेष तैयारी-* कलेक्टर ने कहा कि तीसरी लहर आने की स्थिति में जिला अस्पताल में कोविड इलाज का विशेष इंफ्रास्ट्रक्चर होगा। इसकी पूरी समीक्षा उन्होंने मीटिंग में की। इसमें सर्जिकल यूनिट में 80 बेड्स के इस्तेमाल पर भी उन्होंने चर्चा की। उन्होंने मेडिकल स्टाफ की उपलब्धता, आक्सीजन की उपलब्धता एवं कोविड ट्रीटमेंट से संबंधित सभी विषयों पर बातचीत की। कलेक्टर ने कहा कि ब्लाक लेवल पर भी कोविड मैनेजमेंट की अच्छी व्यवस्था होगी। उन्होंने कहा कि किसी भी तरह की विशेष आवश्यकता की स्थिति में संपर्क किया जा सकता है। कोविड मैनेजमेंट के लिए राशि की किसी तरह से कमी नहीं होने दी जाएगी।